वर्कआउट के बाद बढ़ने लगती है मांसपेशियों में ऐंठन, तो इन 4 टिप्स को करें फॉलो

बार बार शरीर में होने वाली ऐंठन की समस्या कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण भी बन सकती हैं। जानते हैं किन कारणों से व्यायाम के बाद बढ़ने लगती हैं मांसपेशियों में थकान की समस्या (muscle fatigue)।
Kyu badh jaata hai muscle fatigue
जानते हैं किन कारणों से व्यायाम के बाद बढ़ने लगती हैं मसल फटीग की समस्या (muscle fatigue)। चित्र : अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Published: 8 Feb 2024, 07:00 pm IST
  • 140

वर्कआउट चैलेंज को पूरा करने की जिद्द के चलते लोग जिम में खूब पसीना बहाते हैं। देर तक जिम में वर्कआउट करना कई बार मांसपेशियों में बढ़ने वाली थकान का कारण साबित होने लगता हैं। हांलाकि व्यायाम के बाद मसल्स में कॉन्ट्रैक्शन होना सामान्य है। मगर बार बार शरीर में होने वाली ऐंठन की समस्या कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण भी बन सकती हैं। इसके अलावा वर्कआउट मिस्टेक्स की ओर भी इशारा करती है। जानते हैं किन कारणों से व्यायाम के बाद बढ़ने लगती हैं मसल फटीग की समस्या (muscle fatigue)।

इस बारे में हेल्थ एंड फिटनेस एक्सपर्ट वनीता रंधाना का कहना है कि मसल्स फटीग की समस्या शरीर के किसी भी अंग को प्रभावित कर सकती है। इससे शरीर में कमज़ोरी, थकान और क्रैम्प्स का सामना करना पड़ता है। हेल्दी डाइट और नियमित तौर पर पानी पीने से शरीर रिकवर होने लगता है। इसके अलावा कुछ देर रेस्ट करने से भी इस समस्या को दूर किया जा सकता है। व्यायाम के बाद कुछ देर रेस्ट करने से शरीर पर उसका नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता है।

व्यायाम के बाद क्यों बढ़ने लगती है मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या

शरीर में लेक्टिक एसिड की उच्च मात्रा पाए जाने से मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या बढ़ने लगती है। दरअसल, वर्कआउट के दौरान शरीर में ऊर्जा की आवश्यकता होती है और उसके लिए शरीर में ऑक्सीजन की उचित मात्रा का होना ज़रूरी है। इसके अलावा शरीर में सोडियम, पोटेशियम और मैग्नीशियम की कमी इस समस्या को बढ़ा देता है। एक्सपर्ट के अनुसार वर्कआउट से पहले अगर आप स्ट्रेचिंग का अवॉइड कर रहे हैं, तो उससे भी मांसपेशियों में ऐंठन बढ़ने लगती है। इससे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन में बाधा आने लगती है। नर्वस के संकुचित होने से दर्द और कमज़ोरी का एहसास होने लगता है।

muscles soreness ko kaise thik karein
मसल क्रैम्प्स होने के कई कारण हो सकते है। चित्र- अडोबी स्टॉक

कैसे करें अपना बचाव

1. शरीर को हाइड्रेट रखें

जिम में खूब पसीना बहने से शरीर में पानी की मात्रा कम होने लगती है। वॉटर लेवल कम होना क्रैंप्स की समस्या को बढ़ा सकता है। शरीर को डिहाइड्रेशन से बचाने के लिए शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स की मात्रा को बनाए रखें। इससे शरीर में बार बार होने वाली थकान से बचा जा सकता है। इसके लिए तरल पदार्थों को अपनी डाइट में अवश्य शामिल करें, जिससे ब्लड सर्कुलेशन नियमित बना रहता है।

2. हेल्दी डाइट लें

अपने आहार में पोषक तत्वों की मात्रा को नियमित रखने से शरीर में बढ़ने वाली ऐंठन की समस्या दूर हो जाती है। इससे शरीर जल्दी से किसी बीमारी का शिकार नहीं होता है और एक्टिव बना रहता है। मसल क्रैंप्स से बचने के लिए मील स्किप करने से भी बचें। इससे शरीर को कमज़ोरी से बचाया जा सकता है।

3. स्ट्रेचिंग है ज़रूरी

वर्कआउट से पहले कुछ देर स्ट्रेचिंग करना व्यायाम को आसान बना देता है। हार्वर्ड हेल्थ के अनुसार व्यायाम से पहले शरीर को वॉर्मअप करने के लिए स्ट्रेचिंग अवश्य करें। इससे मसल्स को मज़बूती मिलती है और लचीलापन भी बढ़ने लगता है। मसल्स को हेल्दी बनाए रखने और ऐंठन दूर करने के लिए शरीर को स्ट्रेच करने से शरीर को कई फायदे मिलते हैं।

ye apko workout ke liye taiyar karti hain
ये आपको वर्कआउट के लिए तैयार करती हैं। चित्र : शटरस्टाॅक

4. बॉडी क्लॉक को सुनें

वर्कआउट चैलेंज को पूरा करने ही होड़ में अधिकतर लोग अपने शरीर में होने वाले परिवर्तनों को अवॉइड करने लगते हैं। हर व्यक्ति के शरीर का अपना अलग स्टेमिना और एनर्जी लेवल होता है। अगर आप देर तक बिना अपने शरीर को समझे व्यायाम करते रहेंगे, तो शरीर के सभी अंग धीरे धीरे थकान महसूस करने लगेंगे। ऐसे में अपनी शरीर के स्टेमिना को पहचानें और हल्की थकान महसूस होने पर कुछ देर रिलैक्स करें। इससे शरीर में बढ़ने वाली ऐंठन से बचा जा सकता है।

ये भी पढ़ें- यूके पीएम ऋषि सुनक करते हैं 36 घंटे की मोंक फास्टिंग, जानिए क्या है यह और कैसे की जाती है

  • 140
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख