चिपकू टाइप बाल हैं, तो ये 5 प्राकृतिक उपाय ऑयली हेयर की समस्या दूर कर सकते हैं

क्या आपके बाल बहुत ऑयली और चिपचिपे-से रहते हैं? क्या आपने कई सारे उपाय आज़मा लिए, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ? यहां हम आपको बता रहे हैं 5 प्राकृतिक उपाय, जो बालों के चिपचिपेपन को ठीक कर बालों को हेल्दी और शायनी बनाता है।
weight loss ke liye apple cider faydemand hai.
सेब के सिरके में मौजूद एसिटिक एसिड पीएच स्तर को संतुलित करने में मदद करता है जो अंततः आपके सिर में तेल के उत्पादन को कम करता है। चित्र : शटर स्टॉक
स्मिता सिंह Published: 2 Mar 2024, 11:00 am IST
  • 125
मेडिकली रिव्यूड

स्कैल्प और बालों के पोषण के लिए हम नियमित रूप से तेल लगाते हैं। कभी-कभी ऑयल साफ़ कर लेने के बावजूद बाल ऑयली बने रहते हैं। किसी भी तरह की हेयरस्टाइल बालों पर सूट नहीं करती है, क्योंकि बाल बहुत अधिक चिपके लगते हैं। कभी-कभी ऑयली स्कैल्प बालों की समस्याओं के लिए जिम्मेदार बन जाती है। बाल धोने के बावजूद यह गंदगी और धूल को आकर्षित करता है। यह स्कैल्प हेल्थ को भी नुकसान पहुंचाता है! रूसी, बालों का झड़ना और बालों की अन्य सभी समस्याएं इसके कारण हो सकती हैं। जानते हैं इसे कैसे दूर किया (natural remedies for oily hair) जाए।

सबसे पहले जानते हैं ऑयली हेयर के कारण (Cause of Oily Hair)

हेवी कंडीशनर और स्टाइलिंग प्रोडक्ट बालों और स्कैल्प पर धीरे-धीरे जमा होते रहते हैं। ये बालों को चिपचिपा बनाते हैं। साथ ही, उमस भरे मौसम के कारण बाल तेल सहित नमी से चिपक सकते हैं। पिज्जा और तेल से छने-तले खाद्य पदार्थ आपकी क्रेविंग को तो संतुष्ट कर सकते हैं, लेकिन हाई फैट खाद्य पदार्थ बालों को चिकना बना सकते हैं।

बालों के तेल को खत्म करने के लिए यहां हैं 5 घरेलू उपाय (5 natural remedies to get rid of oily hair

1 हेयर आयल प्रोडक्शन कम करता है एप्पल साइडर विनेगर (Apple cider vinegar for oily hair)

एप्पल साइडर विनेगर बालों के लिए सबसे अधिक पोषण युक्त है। सेब के सिरके में मौजूद एसिटिक एसिड पीएच स्तर को संतुलित करने में मदद करता है जो अंततः आपके सिर में तेल के उत्पादन को कम करता (natural remedies for oily hair) है। सेब के सिरके में सूजन-रोधी गुण होते हैं, जो इरिटेशन को शांत करते हैं। इसमें मॉइस्चराइजिंग गुण भी होते हैं। इसे लगाने के बाद बाल मजबूत हो जाते हैं। उनके टूटने और झड़ने की संभावना भी कम हो जाती है।

इसका उपयोग बालों, त्वचा और नाखूनों के स्वास्थ्य के लिए किया जा सकता है। एक कटोरी पानी में कुछ चम्मच एप्पल साइडर विनेगर डालें और अच्छी तरह मिला लें। इस मिश्रण को स्कैल्प और बालों पर अच्छी तरह से लगाएं।

2 दही का प्रोबायोटिक बैक्टीरिया फायदेमंद (Dahi probiotics for oily hair)

बालों की अधिकांश समस्याओं के लिए दही काम करता है। दही के हेयर मास्क से बालों की सभी समस्याएं दूर हो सकती हैं। दही में मौजूद प्रोबायोटिक बैक्टीरिया बालों को पोषण देने में मदद करता है। यह स्कैल्प के प्राकृतिक पीएच को बहाल करता है। दही में मौजूद एसिड स्कैल्प में फंगल और बैक्टीरिया के विकास को कम करने में प्रभावी होता है, जो रूसी को कम करता है।

दही हाइड्रेटिंग होता है और तेल कम करने वाले के रूप में कार्य करता है। इससे स्कैल्प को कम चिपचिपा और चिकना बनाता है। बालों को साफ़ करने से पहले दो टेबलस्पून दही से बालों और जड़ की अच्छी तरह मालिश करें।

Baalo ke liye dahi hai faydemand
दही हाइड्रेटिंग होता है और तेल कम करने वाले के रूप में कार्य करता है। चित्र:शटरस्टॉक

3 सीबम प्रोडक्शन को बैलेंस करती है अंडे की जर्दी (Egg yolk for oily hair)

अंडे की जर्दी पोषक तत्वों से भरपूर होती है, जो स्कैल्प के प्राकृतिक सीबम उत्पादन को हटाने और बहाल करने में मदद करती है। यह तैलीय और सूखे दोनों तरह के बालों के लिए अच्छा काम करता है। यह तैलीय बालों में तेल उत्पादन को कम करता (natural remedies for oily hair) है और सूखे बालों में तेल उत्पादन को बढ़ाता है। यह अतिरिक्त सीबम उत्पादन को रोकता है और स्कैल्प को पोषण देता है। अंडे की जर्दी में हाई सल्फर बालों में तेल को कम करती है।

बालों को चिकना बनाती है। इसमें लेसिथिन, बायोटिन और प्रोटीन भी होता है, जो बालों को मजबूत बनाने और उन्हें नरम और चमकदार दिखने में मदद कर सकता है। 1 या 2 अंडे की जर्दी लगाने के बाद बालों से बदबू आ सकती है, लेकिन एक सुगंधित शैम्पू आपको इस बदबू से राहत दिला सकता है।

4 शिकाकाई का क्लींजर गुण तेल सोख लेता है (Shikakai for oily hair)

बालों की देखभाल के लिए शिकाकाई का पारंपरिक रूप से उपयोग किया जाता रहा है। इसके औषधीय गुण सिर से सारा तेल निकालने में मदद करते (natural remedies for oily hair) हैं। यह सूखे पाउडर और पेस्ट के रूप में उपलब्ध होता है, जिसे बालों पर लगाया जा सकता है। इसे शैम्पू के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह पारंपरिक शैम्पू अन्य सल्फेट शैंपू की तुलना में अधिक मात्रा में झाग पैदा नहीं करता है, लेकिन यह काफी अच्छा क्लींजर है। यह स्कैल्प पर हल्के क्लींजर के रूप में काम करता है। इसमें प्राकृतिक रूप से पीएच कम होता है। यह बालों से प्राकृतिक तेल नहीं छीनता है। यह एक प्राकृतिक हेयर डिटेंगलर भी है, जो कंडीशनर की तरह बालों को मुलायम और चमकदार बनाने में मदद करता है। शिकाकाई को रात भर पानी में भिगोने के बाद सुबह उसके पानी से बालों को धोया जाता है।

shikakai baalon se tel nikalta hai.
शिकाकाई के औषधीय गुण सिर से सारा तेल निकालने में मदद करते हैं। चित्र: शटर स्टॉक

5 टी ट्री ऑयल के एंटी-फंगल और एंटीसेप्टिक गुण (tea tree oil for oily hair)

ऑयल होने के बावजूद यह बालों से तेल हटाने में मदद कर सकता है। टी ट्री ऑयल में एंटी-फंगल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जो स्कैल्प को आराम पहुंचाते हैं। यह स्कैल्प में अतिरिक्त सीबम और तेल उत्पादन को कम करता (natural remedies for oily hair) है। टी ट्री ऑयल के एक्सट्रैक्ट और पानी का उपयोग एंटी-डैंड्रफ के रूप में किया जा सकता है। यह सिर पर फंगल डेवलपमेंट को कम करने में मदद करता है। बालों के टूटने-झड़ने और बालों के विकास के लिए टी ट्री ऑयल सबसे बढ़िया है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़ें :- Hair Fall Treatment : आयुर्वेद की नस्य क्रिया कम कर सकती है बालों का झड़ना, जानिए क्या है यह

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

अगला लेख