आपकी रसोई में मौजूद ये 4 DIY हैक्स कर सकते हैं फटी एड़ियों का उपचार, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

आपके सारे शरीर का बोझ आपकी एड़ियों पर ही पड़ता है। इसके बावजूद आप अपनी डेली केयर में इन्हें इग्नोर कर देती हैं। जिससे वे ड्राई और फटी हुई दिखने लगती हैं।

Crack heels
जानिए क्रैक हील्स के लिए टिप्स। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 1 September 2022, 11:00 am IST
  • 121

फटी हुई एड़ियां न सिर्फ दिखने में भद्दी लगती हैं, बल्कि समस्या बढ़ने पर ये बहुत ज्यादा दर्दनाक भी हो सकती हैं। लगातार चलने के कारण जब फटी हुई एड़ियों पर दबाव पड़ता है, तो उनमें से ब्लीडिंग भी हो सकती है। हालांकि ये समस्या रूखापन बढ़ने के कारण सर्दियों में ज्यादा होती है। पर कभी-कभी खराब फुट हाइजीन या स्किन के डिहाइड्रेट होने के कारण ये मानसून या गर्मियों के मौसम में भी आपको परेशान कर सकती है। यह जरूरी है कि इस पर गंभीरता से ध्यान दिया जाए। किसी भी तरह के दर्द या परेशानी से बचने के लिए हम आपके लिए कुछ DIY हैक्स लेकर आए हैं, जो फटी हुई एड़ियों की समस्या से निजात दिला सकते हैं। आइए जानते हैं फटी एड़ियों को ठीक करने (How to cure crack heels) के कुछ घरेलू उपाय।

इग्नोर न करें एड़ियों की देखभाल

फटी एड़ियों के कारण सार्वजनिक स्थानों पर अपने जूते उतारने में शर्मिंदगी महसूस हो रही है? हम में से ज्यादातर लोग अपने चेहरे की देखभाल करने में बहुत समय लगाते हैं, लेकिन सबसे कम ध्यान अपने पैरों पर देते हैं। मगर यह भी शरीर का एक ज़रूरी हिस्सा है और इसे भी केयर की ज़रूरत है, खासकर पैरों की एड़ियों को।

क्या हो सकते हैं एड़ी फटने के कारण (Crack heel causes)

फटी एड़ी का कारण बनने वाले कुछ सामान्य कारकों में मोटापा, अनुचित तरीके से फिट होने वाले जूते, लंबे समय तक खड़े रहना, शुष्क त्वचा और उचित देखभाल और स्वच्छता की कमी है।
ऐसे में फटी एड़ियों को ठीक करने में हमारी रसोई मदद कर सकती है। यहां औषधीय गुणों के साथ अद्भुत समग्रियों का भंडार है जो फटी एड़ी सहित कई दैनिक समस्याओं का इलाज कर है है।

तो चलिये जानते हैं कुछ घरेलू उपायों के बारे में जो फटी एड़ियों से राहत दिला सकते हैं

1. केला

केले में प्रचुर मात्रा में पोषक तत्व होते हैं जिनमें विटामिन ए, बी 6 और सी शामिल होते हैं जो त्वचा की लोच को बनाए रखने में मदद करते हैं और त्वचा को अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रखते हैं। केला एक प्राकृतिक मॉइस्चराइजर है जो पैरों को नम रखता है और त्वचा को रूखा होने से बचाता है।

कैसे करें इसका इस्तेमाल?

दो पके केले को मैश करके मुलायम पेस्ट बना लें। कच्चे केले से बचें क्योंकि इसमें एसिड होता है जो त्वचा के लिए अच्छा नहीं होता है। पेस्ट को नाखूनों और पैर के अंगूठे के किनारों सहित पूरे पैरों पर लगाएं। इसे 20 मिनट तक लगा रहने दें और फिर अपने पैरों को पानी से धो लें। सर्वोत्तम परिणाम प्राप्त करने के लिए बिस्तर पर जाने से कम से कम 2 सप्ताह पहले इसे दोहराएं।

Crack heels ke liye foot scrub
फटी एड़ियों के लिए फुट स्क्रब। चित्र:शटरस्टॉक

2 वैसलीन और नींबू का रस

नींबू के अम्लीय गुण, जब वैसलीन के मॉइस्चराइजिंग प्रभाव के साथ मिलते हैं, तो शुष्क त्वचा और फटे पैरों को साफ करने में आसानी होती है।

कैसे करें इसका इस्तेमाल?

अपने पैरों को लगभग 15 मिनट तक गुनगुने पानी में डुबोकर रखें। धोकर सुखा लें। 1 चम्मच वैसलीन और नींबू के रस की कुछ बूंदों को मिलाएं। इस मिश्रण को अपनी एड़ियों और पैरों के अन्य हिस्सों पर अच्छी तरह से लगाएं। रात भर ऊनी जुराबें पहनें और सुबह धो लें। नियमित रूप से सोने से पहले इस सरल प्रक्रिया को करें।

3 शहद

शहद को एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक माना जाता है जो फटे पैरों को ठीक करने में मदद करता है। यह एक अच्छा humectant भी है जो त्वचा को नमी देता है और त्वचा को सूखने से रोकता है। इसके अलावा, शहद के सुखदायक गुण त्वचा को फिर से जीवंत करने में भी मदद करते हैं।

कैसे करें इसका इस्तेमाल?

एक टब गर्म पानी में 1 कप शहद मिलाएं। पैरों को साफ करें और इस मिश्रण में डुबोकर 20 मिनट तक आराम से मालिश करें। अपने पैरों को सुखाएं और मॉइस्चराइजर लगाएं। कुछ हफ्तों तक सोने से पहले नियमित रूप से ऐसा करें।

जानिए कैसे करना है फटी एड़ियों का उपचार। चित्र : शटरस्टॉक

4 चावल का आटा, शहद और सिरका

चावल का आटा एक अद्भुत प्राकृतिक एक्सफोलिएटर के रूप में काम करता है, जो मृत कोशिकाओं को हटाने में मदद करता है और त्वचा को पोषण देता है। शहद के साथ जोड़ा गया एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक जो फटे पैरों को ठीक करता है और सिरका हल्का एसिड होता है जो शुष्क और मृत त्वचा को मॉइस्चराइज़ करता है, जिससे इसे एक्सफोलिएट करना बहुत आसान हो जाता है।

कैसे करें इसका इस्तेमाल?

एक गाढ़ा पेस्ट बनाने के लिए सभी सामग्री को मिलाकर स्क्रब बनाएं। अपने पैरों को 10 मिनट के लिए गुनगुने पानी में भिगोएँ, सुखाएँ और फिर इस मिश्रण से धीरे-धीरे स्क्रब करके मृत त्वचा को हटा दें। इस प्रक्रिया को हफ्ते में 2-3 बार दोहराएं।

थोड़ा और ध्यान और देखभाल देकर अपने पैरों का इलाज करें, दिन में कम से कम दो बार उन्हें मॉइस्चराइज़ करके शुरू करें। यूरिया, सैलिसिलिक एसिड या अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड जैसे त्वचा-नरम करने वाले एजेंटों वाले मॉइस्चराइज़र देखें जो मृत त्वचा कोशिकाओं को साफ़ करने में मदद कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : ये 5 लक्षण बताते हैं कि आपके बालों में है पोषण की कमी, जानिए इसके लिए क्या करना है 

  • 121
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी,
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें
nextstory