थायरॉइड असंतुलन बढ़ा देता है कई स्वास्थ्य समस्याएं, जानिए इसे बिना दवाओं के घर पर कैसे कंट्रोल करना है

महिलाओं की एक बड़ी आबादी थायरॉइड असंतुलन की शिकार है। इसलिए यह जरूरी है कि आप भी इसे घर पर कंट्रोल करने के उपायों (How to control thyroid at home) के बारे में जानें।
सभी चित्र देखे Thyroid ke lakshnon ko manage karna jaroori hai.
हाइपोथायरायडिज्म के कारण पीरियड में अनियमितता बढ़ने लगती है। चित्र : अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Published: 13 Sep 2023, 04:11 pm IST
  • 142
इनपुट फ्राॅम

जीवनशैली में आने वाले बदलाव थायराइड असंतुलन का कारण साबित होते हैं। इसके चलते हमारे शरीर में कई स्वास्थ्य समस्याओं के पनपने का खतरा बढ़ जाता है। दरअसल, थायराइड गले में मौजूद एक ऐसी ग्रंथि है, जो हार्मोन प्रोड्यूस करती हैं। इससे बॉडी में ब्लड प्रेशर नियमित रहता है और मेटाबॉलिज्म भी बूस्ट होता है। जब थायरॉइड गलैंड हार्मोंन नहीं बना पाती तब शरीर में कई संकेत नज़र आने लगते हैं। जिससे ज्यादातर महिलाएं हेयर फॉल, बढ़ते वजन और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से घिरने लगती हैं। इन दिनों महिलाओं की एक बड़ी आबादी थायरॉइड असंतुलन की शिकार है। इसलिए यह जरूरी है कि आप भी इसे कंट्रोल करने के उपायों (How to control thyroid at home) के बारे में जानें।

जानते हैं थायराइड की जांच घर पर कैसे करें

फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीटयूट, गुरूग्राम, इनफेक्शियस डिजीज़, कंसलटेंट, डॉ नेहा रस्तोगी पांडा से हमने थायराइड असंतुलन और उससे होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में जाना। उन्होंने बताया कि घर पर थायराइड कैसे चेक करें। वे बताती हैं, “थायराइड हार्मोन शरीर का एक महत्वपूर्ण हार्मोन माना जाता है। ये हमारे मूड, हमारे वेट और यहां तक की एनर्जी लेवल को भी नियंत्रित करने में सहायक होता है।”

डाॅ नेहा आगे कहती हैं, “थायराइड की समस्या की दो प्रकार से जानकारी मिलती है। एक वो जिनमें थायराइड का लेवल कम होता हैं और दूसरा वो जिसमें इसका स्तर ज्यादा होता है। बॉडी में थायरॉइड लेवल को करना है नियंत्रित तो रखें इन बातों का ख्याल ऐसे में खान पान में उच्च बदलाव लाने की आवश्यकता होती है, जो इस समस्या को रेगुलेट करने में मदद करते हैं। अगर ग्रंथी में सूजन महसूस हो, तो किसी अच्छे लैब से थायराइड की जांच करवाएं।”

hypothyroidism
बढ़ता हाइपोथायरायडिज्म चिंता का विषय हो सकता है। चित्र शटरस्टॉक।

यहां हैं वे उपाय जिन्हें अपनाकर आप थायरॉइड असंतुलन को कंट्रोल कर सकती हैं (How to control thyroid at home)

1 गोइट्रोजेन वाले आहार से बचें

डेली डाइट में समान्य बदलाव लाकर थायरॉइड की समस्या से बचा जा सकता है। खुद को हेल्दी रखने के लिए अपनी मील में हरी सब्जियां, साबुत अनाज और मौसमी फलों को शामिल करना ज़रूरी है। इसके अलावा वे खाद्य पदार्थ जिनमें गोइट्रोजेन की मात्रा अधिक होती है। उन्हें अपनी मील का हिस्सा न बनाएं। खासतौर से ब्रोकली, गोभी और टोफू को अवॉइड करें। इसके अलावा स्ट्राबेरी व पीनट्स को भी खाने से बचें। हाइपोथाइरॉएडिज्म से बचाव के लिए अपनी मील में ब्राउन राज़, सूरजमुखी के बीज और दही को एड करें।

2 विटामिन ए को डाइट में शामिल करें

विटामिन ए की भरपूर मात्रा लेने से शरीर में थायरॉइड मेटाबॉलिज्म को रेगुलेट करने में मदद मिलती है। स्वीट पोटेटो, गाजर, एप्रीकॉट और पत्तेदार सब्जियों में पाया जाने वाला ये पोषक तत्व शरीर को एक्टिव रखता है। इसके अलावा काजू किशमिशि बादाम और दालों को में पाया जाने वाला विटामिन ए शरीर को मसल क्रैंपस की समस्या से भी बचाता है।

Vitamin A ko diet mei add hkarein
विटामिन ए की भरपूर मात्रा लेने से शरीर में थायरॉइड मेटाबॉलिज्म को रेगुलेट करने में मदद मिलती है। चित्र : एडोबी स्टॉक

3 विटामिन ई का भी रखें ध्यान

स्किन और बालों के अलावा विटामिन ई हमारी ओवरऑल बॉडी के लिए भी बहुत ज़रूरी है। देसी घी और सूखे मेवों जैसे अखरोट से मिलने वाला ये पोषक तत्व शरीर में थायरॉइड को नियंत्रित करने में सहायता प्रदान करता है। दरअसल, विटामिन ई से शरीर में फैट साल्यूएबल एंटीऑक्सीडेंटस की प्राप्ति होती है। जो हमारे शरीर को कई प्रकार की समस्याओं से बचाने का काम करता है।

4 स्मोकिंग करती हैं तो छोड़ दें

सिगरेट के धुएं में मौजूद टॉक्सिक पदार्थ आपके थायराइड हार्मोंस को प्रभावित करते हैं। थायोसाइनेट नाम का कंपाउड आयोडीन अपटेक को ब्लाक करता है, जो थायराइड हार्मोन के प्रोडक्शन को धीमा कर देता है। इसके अलावा शरीर को कैफीन और अल्कोहल के इनटेक से भी बचाकर रखें।

Smoking hai aapke liye nuksaandayak
सिगरेट के धुएं में मौजूद टॉक्सिक पदार्थ आपके थायराइड हार्मोंस को प्रभावित करते हैं। चित्र : एडॉबीस्टॉक

5 रेगुलर एक्सरसाइज़ करें

योग और गले की एक्सरसाइज करने से थायराइट नियंत्रित किया जा सकता है। इसके अलावा इंटेस एक्सरसाइज़ की मदद से शरीर में थायराइड हार्मोन को सर्कुलेट करने में मदद मिलती है। अगर आप सुबह उठकर 30 मिनट का व्यायाम करती हैं, तो इससे आपका हार्ट रेट बढ़ने लगता है। इसके अलावा रनिंग, जॉगिंग और डांस व योग को भी अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं। इसे रोज़ाना करने से आपका शरीर फिट व तंदरूस्त बना रहेगा।

ये भी पढ़ें- Childhood Obesity : मोबाइल की बढ़ती लत भारतीय बच्चों में बढ़ा रही है मोटापा, जानें चाइल्डहुड ओबेसिटी को कंट्रोल करने के उपाय

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
  • 142
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख