दवाइयों के साथ आज़माएं ये 5 घरेलू उपाय और टाइफाइड से पाएं छुटकारा

कुछ बीमारियां दवाइयों के साथ - साथ एक्सट्रा केयर मांगती हैं। ऐसे में इन 5 घरेलू उपायों की मदद से पाएं टाइफाइड से निजात।

worms
बच्चों के कीड़ा बन सकता है बीमारी का कारण। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 12 September 2022, 18:31 pm IST
  • 141

बरसात यानी बीमारियों का मौसम। ऐसे में वायरल फीवर, डेंगू, मलेरिया होने की काफी संभावना रहती है। टाइफाइड भी इन्ही में से एक है। यह एक तरह का जीवाणु संक्रमण है जो दूषित पानी या भोजन के कारण होता है। यह आंतों के मार्ग को प्रभावित करता है और फिर रक्तप्रवाह में फैल जाता है। इसे “इंटेसटाइनल फीवर” (Intestinal Fever) भी कहा जाता है क्योंकि यह मुख्य रूप से हमारी आंतों को प्रभावित करता है।

यह साल्मोनेला टाइफी नामक बैक्टीरिया के कारण होता है। खराब हाईजीन, पेने का साफ पानी न मिलना, और दूषित भोजन टाइफाइड के सामान्य कारण हैं। यदि आपको या आपके बच्चे को टाइफाइड है तो मेडिकल ट्रीटमेंट के साथ – साथ ये घरेलू उपाय (Home remedies for typhoid) भी आपको जल्दी ठीक होने में मदद कर सकते हैं (How to cure Typhoid)

1. लिक्विड चीजों का सेवन बढ़ाएं

टाइफाइड बुखार से उल्टी और दस्त हो सकते हैं जिससे गंभीर डिहाइड्रेशन हो सकता है। डिहाइड्रेशन (Dehydration) से बचने के लिए तरल पदार्थों का सेवन करते रहें। हाइड्रेटेड रहने से शरीर से वेस्ट पदार्थों और विषाक्त पदार्थों को समय पर खत्म करने में भी मदद मिलती है। पानी के अलावा फलों के रस, नारियल पानी और सूप का सेवन करें।

ऐसे में डिहाइड्रेशन से निपटने के लिए ओआरएस सबसे अच्छा उपाय है। सुनिश्चित करें कि आपके पास डब्ल्यूएचओ (WHO) द्वारा अनुशंसित ओआरएस है। किसी भी केमिस्ट से पाउच खरीदें। आप इसे एक लीटर उबले पानी में चीनी और नमक मिलाकर घर पर भी बना सकती हैं।

2. तुलसी की चाय या काढ़ा पिएं

एनसीबीआई के अनुसार तुलसी (Holy Basil) एंटीबायोटिक और रोगाणुरोधी है। उबले हुए पानी में तुलसी मिलाएं और रोजाना तीन से चार कप पिएं। तुलसी प्रतिरक्षा को बढ़ाती है और पेट को शांत करती है। इसकी चाय पीने से भी आपको इन्फेक्शन से छुटकारा पाने में मदद मिलेगी।

sehat ke liye acchi hai tulsi
सेहत के लिए अच्छी है तुलसी की चाय। चित्र : शटरस्टॉक

3. कोल्ड कंप्रेस का इस्तेमाल करें

तेज बुखार से निपटने के लिए और शरीर के तापमान को कम करने के लिए कोल्ड कंप्रेस (Cold Compress) का इस्तेमाल करें। आप बच्चे की बगल, पैर, कमर और हाथों को स्पंज कर सकती हैं। हाथ-पांव पर कोल्ड कंप्रेस लगाने से बुखार सबसे प्रभावी रूप से कम होता है। आप बर्फीले पानी में एक वॉशक्लॉथ भी भिगो सकती हैं और अच्छे से निचोड़कर अपने माथे पर रख सकती हैं।

4. लहसुन का सेवन करें

लहसुन में मौजूद एंटीमाइक्रोबियल गुण टाइफाइड के बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं। यह अपने एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण टाइफाइड से ठीक होने में तेजी लाता है। यह इम्युनिटी को बढ़ाता है और शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है। दो लौंग खाली पेट खाएं। यह गर्भवती महिलाओं और बच्चों के लिए अनुकूल नहीं है।

5. केला खाएं

केले बुखार को कम कर सकता है और टाइफाइड वाले लोगों में दस्त का कारण बन सकता है। इसमें में पेक्टिन होता है, यह एक घुलनशील फाइबर है जो आंतों को तरल पदार्थ को अवशोषित करने में मदद करता है, यूआर इस प्रकार दस्त का इलाज करता है। केले में मौजूद पोटेशियम दस्त के कारण खोए हुए इलेक्ट्रोलाइट्स को बढ़ाने में मदद करता है।

यह भी पढ़ें : माइग्रेन से राहत दिलाने में मददगार हो सकते हैं ये 5 एसेंशियल ऑयल, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

 

  • 141
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory