अर्ली एजिंग और इम्युनिटी के नुकसान से बचना है, तो हर रोज़ अपनी नींद करें पूरी, ये 3 क्विक टिप्स हो सकते हैं मददगार

अच्ची नींद लेना आपके स्वास्थ्य के लिए तो जरूरी है ही साथ ही ये आपकी स्किन को भी समय से पहले बूढ़ा होने से बचा सकती है। चलिए जानते है कि आप कैसे एक बेहतर नींद ले सकते है।
सभी चित्र देखे Exercise se neend na aane si samasya hogi hal
जब आप पूरी नींद नही लेते है, तो आपकी त्वचा इस महत्वपूर्ण प्रक्रिया को नहीं कर पाती है। चित्र : अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 1 Feb 2024, 07:15 pm IST
  • 126

हम अक्सर स्किन केयर के लिए कई उत्पादों का इस्तेमाल करते हैं और स्किन को भी एक चीज की तरह ही देखते हैं। लेकिन स्किन उससे कहीं ज्यादा है। आप सुबह क्रीम्स , रेटिनोल, सीरम या एंटी एजिंग उत्पादों से भरी हुई बाल्टी से नहा ही क्यों न लें, आपकी त्वचा इससे युवा नहीं दिखेगी। सच तो यह है कि उम्र बढ़ने के लिए जिम्मेदार सबसे महत्वपूर्ण कारणों में से एक है अधूरी या खराब नींद।
मे से एक चीज जो सबसे महत्वपूर्ण है वो बिल्कुल मुफ्त है जिसे हम दरकिनार करते है और बिल्कुल ध्यान नहीं देते है वो है अच्छी नींद लेना।

स्वस्थ त्वचा के लिए नींद क्यों जरूरी है?

जब हम सोते हैं, तो आपकी त्वचा मेलाटोनिन नामक एक हार्मोन (जिसे अक्सर स्लीप टाइम हार्मोन के रूप में जाना जाता है) के जरिए खुद को हील सकती है ये हॉर्मोन आपके सोने के समय ही काम करता है।

मेलाटोनिन आपकी त्वचा के लिए बेहद महत्वपूर्ण है और पर्यावरणीय खतरों, यूवी रे, तनाव, प्रदूषण आदि से त्वचा की मरम्मत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यदि आप आराम नहीं कर रहे हैं, तो आप मेलाटोनिन उत्पन्न नहीं कर रहे हैं, और आपकी त्वचा खुद मरम्मत नहीं कर पाती है। मेलाटोनिन जो की त्वचा को ठीक करता है उसके उत्पादन के लिए बहुत जरूरी है कि आप सोएं।

anti aging hai good sleep
नींद नहीं लेने से कोर्टिसोल जिसे तनाव हार्मोन भी कहा जाता है वो बढ़ जाता है। चित्र- अडोबी स्टॉक

जब आप आंखे बंद करते है तो आपकी त्वचा एचजीएच में वृद्धि का अनुभव करती है, जिसे आपका विकास करने वाला हार्मोन भी माना जाता है । एचजीएच के रिलीज दोने से शरीर के ऊतकों को पुनर्निर्माण करने में मदद मिलती है और त्वचा को मजबूत और फिर से जीवंत करने के लिए कोशिका उत्पादन में वृद्धि होती है। जब आप पूरी नींद नही लेते है, तो आपकी त्वचा इस महत्वपूर्ण प्रक्रिया को नहीं कर पाती है, यही कारण है कि रात भर आराम के बाद आपका रंग फीका और सुस्त दिखाई दे सकता है।

क्लिनिक डर्माटेक की डर्मेटोलॉजिस्ट कल्पना सौलंकी बताती है कि नींद नहीं लेने से कोर्टिसोल जिसे तनाव हार्मोन भी कहा जाता है वो बढ़ जाता है, जो समय के साथ कोलेजन को कम कर सकता है। आंख बंद करना और कोलेजन उत्पादन के बीच एक संबंध है, यही कारण है कि कई विशेषज्ञ नींद को किसी भी एंटीं एजिंग रूटीन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा मानते है।

बेहतर नींद के लिए क्या करें

कैफीन के सेवन को कम करने पर ध्यान दें

कैफिन या कॉफी के सेवन हम लोग इसलिए करते है ताकि नींद, सुस्ती और थकान को दूर किया जा सके। कुछ लोग दोपहर में कॉफी पी सकते हैं और आठ घंटे की अच्छी नींद ले सकते हैं, लेकिन ज्यादातर लोगों सोने से कुछ घंटे पहले इसे पीना बंद करना चाहिए। यह देखने के लिए कि क्या यह आपकी नींद की गुणवत्ता को सुधारने में मदद करता है, अपने शेड्यूल को मैनेज करने और दिन की शुरुआत में कैफीन को बंद करने का प्रयास करें। ताकि आपकी नींद में कुछ सुधार हो सके।

Slow ageing ke liye inn skin care tips ko follow karein
कैफिन या कॉफी के सेवन हम लोग इसलिए करते है ताकि नींद, सुस्ती और थकान को दूर किया जा सके। चित्र : एडॉबीस्टॉक

मैग्नीशियम सप्लीमेंट पर विचार करें

एक रिसर्च में मैग्नीशियम सप्लीमेंट का नींद की गुणवत्ता और नींद के समय दोनों पर सकारात्मक प्रभाव दिखाया गया है। मैग्नीशियम कुछ न्यूरोट्रांसमीटरों के साथ संपर्क करके, कोर्टिसोल के स्तर को कम करके और मेलाटोनिन को बढ़ाकर आराम देने में मदद कर सकता है। आप मैग्नीशियम से भरपूर डाइट का सेवन भी कर सकते है।

अपने तनाव को कम करें

काम बढ़ता जा रहा है और साथ ही आपकी चिताएं भी। दिन की चिंताएं रात में आपके सामने आ सकती हैं। तनाव फाइट और फ्लाइट हार्मोन को सक्रिय करता है जो नींद में बाधा डालती है। सोने से पहले खुद को आराम करने का समय दें। आराम करने के लिए कुछ एक्टिविटी करें। आराम करने के लिए, गहरी साँस लेने के व्यायाम शुरू करें। धीरे-धीरे और गहरी सांस लें और फिर सांस छोड़ें।

ये भी पढ़े- Blue light skincare : जानिए क्या है ब्लू लाइट स्किनकेयर, जिसे एंटी एजिंग कहा जा रहा है

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
  • 126
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख