फॉलो
वैलनेस
स्टोर

करवा चौथ पर फ्रेश और ग्‍लोइंग स्किन के लिए ट्राय करें ये 4 DIY बॉडी स्‍क्रब

Updated on: 10 December 2020, 10:55am IST
एक्सफोलिएशन त्वचा की देखभाल का एक महत्वपूर्ण भाग है, लेकिन यह सिर्फ आपके चेहरे तक ही सीमित नहीं रहना चाहिए, है ना!
विदुषी शुक्‍ला
  • 70 Likes
चेहरा ही नहीं, पूरे शरीर को आपकी देखभाल की जरूरत है। बॉडी केअर की टिप्स हम दे रहे हैं। चित्र: शटरस्टॉक

क्या आप भी स्किन केयर को गंभीरता से लेती हैं? हर रात सोने से पहले क्‍लींजिंग, टोनिंग और मॉइस्चराइजिंग के साथ हर सप्‍ताह स्क्रबिंग और मास्क भी लगाती हैं! लेकिन अगर आपकी केयर सिर्फ चेहरे तक सीमित रह गयी है तो आपको अपने ब्यूटी रूटीन में बदलाव की जरूरत है। यहां हैं चार ऐसे DIY बॉडी स्‍क्रब, जिनसे आपके पूरे शरीर में निखार आ जाएगा।

दरअसल हम अक्सर ब्यूटी के नाम पर चेहरे की त्वचा पर ही केंद्रित रह जाते हैं। इसमें कोई शक नहीं कि चेहरे की त्वचा बाकी शरीर से ज्यादा नाजुक होती है और इसे सही देख-रेख की जरूरत होती है। लेकिन आपके शरीर की त्वचा को भी देखभाल की उतनी ही जरूरत होती है।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

क्यों जरूरी है एक्सफोलिएशन?

एक्सफोलिएशन यानी स्क्रबिंग का अर्थ है त्वचा को हल्का रगड़ कर ऊपरी सतह से गन्दगी हटाना। यह गन्दगी डेड स्किन सेल्स, तेल और धूल मिट्टी हो सकते हैं। हमारी त्वचा में रोम छिद्र होते हैं, जिनसे हमेशा ही ऑयल निकलता रहता है। यह ऑयल शरीर के कुछ हिस्सों में बाकी हिस्सों से अधिक निकलता है, जैसे अंडर आर्म, गर्दन इत्यादि।

बॉडी स्क्रब न सिर्फ आपको रिलैक्स करती है, बल्कि यह आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है।चित्र: शटरस्टॉक

अमेरिकन एकैडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी के अनुसार स्क्रब हमारी त्वचा में और ज्‍यादा निखार लाता है। जब ऊपर से डेड स्किन सेल्स और गन्दगी हट जाती है, तो नीचे से फ्रेश सतह निकलती है। यह सतह ज्यादा सॉफ्ट और चमकदार होती है।

यही नहीं, एक्सफोलिएशन से कोलेजन भी अधिक बनता है जो स्किन को स्वस्थ बनाता है। साथ ही साथ यह त्वचा की सोखने की क्षमता को बढ़ाता है। यदि आप स्क्रब करने के बाद कोई क्रीम लगाती हैं तो उसका असर अधिक होता है।

कितनी बार स्क्रब करना चाहिए?

माना कि स्क्रबिंग आपकी त्वचा के लिए फायदेमंद है, लेकिन बहुत अधिक एक्सफोलिएशन भी नहीं किया जाना चाहिए। आपको हर दिन एक्सफोलिएट नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे त्वचा सेंसिटिव और रूखी हो जाती है। हफ्ते में दो से तीन बार स्क्रब करना पर्याप्त है।

घर पर आप ये 4 बॉडी स्क्रब बना सकती हैं-

1. कॉफी और ऑलिव ऑयल

कॉफी आपकी त्वचा के लिए एक बेहतरीन एक्सफोलिएटर का काम करती है। यह न ज्यादा कठोर है ना ज्यादा कोमल। इसके कण स्क्रब के लिए परफेक्ट होते हैं। कई स्टडीज का दावा है कि कॉफी के इस्तेमाल से सेल्युलाईट नजर आना कम हो जाता है, हालांकि इससे जुड़े पुख्ता प्रमाण नहीं मिले हैं।

अपने पैरों का ख्‍याल रखना भी जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक
सुंदर त्वचा के लिए घरेलू नुस्खे। चित्र: शटरस्‍टॉक

फिर भी, एक थकान भरे दिन के बाद कॉफी की खुशबू और स्क्रब का आनन्द एक अच्छा आईडिया है। आपको सिर्फ दो चम्मच गुनगुने ऑलिव ऑयल यानी जैतून के तेल में चार चम्मच कॉफी डालनी है। इसे अच्छी तरह मिक्स कर लें। आपको इसे शरीर पर हाथ गोल गोल घुमाते हुए लगाना है और गुनगुने पानी से नहा लेना है।

2. ग्रीन टी और चीनी

चीनी एक अच्छी एक्सफोलिएटर होती है, जो डेड स्किन सेल्स आसानी से हटा देती है। लेकिन यह थोड़ी कठोर होती है। इसलिए चीनी बेस्ड स्क्रब को पहले से बना के स्टोर किया जाता है ताकि चीनी हल्की घुल जाए।
इस स्क्रब के लिए आपको बराबर मात्रा में ग्रीन टी और चीनी लेनी है। ग्रीन टी को गर्म पानी में भिगोकर हल्का गीला ही रखें। आप इसमें एसेंशियल ऑयल भी मिला सकती हैं। ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।

करवा चौथ के लिए बॉडी स्क्रब. चित्र : शटरस्टॉक

3. नमक और नारियल तेल

नमक के लिए आप सी साल्ट या एप्सम साल्ट में से कोई भी इस्तेमाल कर सकती हैं। नमक के साथ आपको बस यह ध्यान रखना है कि आपकी त्वचा पर कोई कट या चोट ना हो।
इस स्क्रब को बनाने के लिए आपको दो चम्मच नारियल तेल में दो चम्मच नमक डालना है। आप इसमें अपनी पसंद का एसेंशियल ऑयल मिला सकती हैं।

4. शहद, चीनी और नारियल तेल

शहद त्वचा को मॉइस्चराइज करने के लिए बहुत अच्छा होता है। चीनी के रूप में आप ब्राउन शुगर का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। नारियल तेल भी त्वचा को नमी देता है।
आपको इसे बनाने के लिए तीनो चीजों को बराबर मात्रा में मिलाना है और शॉवर लेने से पहले इस्तेमाल करें।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।