परेशान कर सकता है नाक, गले और छाती में बढ़ता कफ़, यहां हैं इससे निजात पाने के 5 उपाय

धूल, गंदगी, मिट्टी और खांसी कफ का कारण बन सकते हैं। जिससे आप एक असहज स्थिति का सामना करने पर मजबूर हो जाती हैं। इससे निजात पाने के लिए आप इन उपायों पर भरोसा कर सकती हैं।

How to get rid of mucus
परेशान कर सकता है नाक, गले और छाती में बढ़ता कफ़. चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 14 September 2022, 08:00 am IST
  • 149

आमतौर पर कफ़ की समस्या किसी को भी अपनी चपेट में ले सकती है। कफ़ होना बिल्कुल सामान्य है, वहीं यह शरीर के लिए जरूरी होता है। हालांकि, यह बात तो आप सभी जानती होंगी कि सीमित मात्रा सभी चीजें अच्छी होती है। ठीक उसी प्रकार कफ़ भी रेस्पिरेटरी सिस्टम के लिए जरूरी है। परंतु कभी-कभी कुछ कारण जैसे की धूल, मिट्टी, गंदगी और खांसी इत्यादि से शरीर अधिक मात्रा में कफ़ प्रोड्यूस करने लगता है और यह आपको किसी भी वक़्त परेशानी में डाल सकती है।

ऐसे में सालों से इन समस्याओं को नियंत्रित रखने के लिए एक्सपर्ट कुछ प्रभवि उपाय सुझाते चले आ रहे हैं। इसके साथ ही मेरी मम्मी भी कफ़ होने पर हमेशा गर्म पानी और नमक मिलाकर गलगला करने की सलाह देती हैं। वहीं कई ऐसी दवाइयां उपलब्ध है, जो कफ़ को नियंत्रित रखने में मदद करती हैं। परंतु आज हम बताएंगे आपको की बिना दवाइयों के इस समस्या को किस तरह संतुलित रखा जा सकता है।

cough ke lakshan.
कफ कर सकता है आपको परेशान। चित्र शटरस्टॉक।

जाने आखिर क्या है कफ़ (mucus)

म्यूकस लुब्रिकेंट और फिल्ट्रेशन के तौर पर काम करते हुए रेस्पिरेट्री सिस्टम को प्रोटेक्ट करता है। कफ़ म्यूकस मेंब्रेन से प्रोड्यूस होता है और नाक से लेकर लंग्स तक ट्रैवल करता रहता है। आप जब सांस लेती हैं, तो कई प्रकार के वायरस, डस्ट, एलर्जी और अन्य चीजें म्यूकस से होकर बॉडी को मिलती हैं। परंतु कुछ स्थिति में शरीर काफी ज्यादा मात्रा में कफ़ प्रोड्यूस करना शुरू कर देता हैं। जिसके कारण इसे नियंत्रित करना और गले को साफ रखना बहुत जरूरी हो जाता है।

आखिर किन कारणों से होता है कफ़

खांसी होने पर
साइनस की समस्या में
एलर्जी होने पर
स्मोक और पॉल्यूशन के कारण
अस्थमा
लंग्स डिजीज, जैसे क्रोनिक ब्रोंकाइटिस, निमोनिया, सिस्टिक फाइब्रोसिस और सीओपीडी

pollution cough
धूल, गंदगी, मिट्टी और खांसी कफ का कारण बन सकते हैं। चित्र शटरस्टॉक।

अब जानें आप कफ से कैसे निजात पा सकती हैं

1. हाइड्रेटेड रहें

पर्याप्त मात्रा में पानी पीने और शरीर को जितना हो सके उतना हाइड्रेटेड रखने की कोशिश करें। यह म्यूकस के फ्लो को बरकरार रखने में मदद करता है। इसके साथ ही गर्म बेवरेज लेना भी फायदेमंद रहेगा, परंतु कैफीन युक्त ड्रिंक्स से परहेज रखें।

वहीं डिहाइड्रेटिंग ड्रिंक्स जैसे कि बहुत ज्यादा कॉफी, अल्कोहल और कुछ प्रकार की चाय को जितना हो सके, उतना नजरअंदाज करने की कोशिश करें।

2. गुनगुने सॉल्ट वॉटर से गार्गल करें

इसे सालों से गले की समस्या से निजात पाने के लिए एक प्रभावी घरेलू उपचार के रूप में जाना जाता रहा है। गर्म पानी और नमक से गलगला करने से जमा हुए कफ़ को कम करने में मदद मिलती है। इसके साथ ही यह कफ़ और थ्रोट इनफेक्शन पैदा करने वाले जर्म्स और बैक्टीरिया को भी खत्म करता है।

3. धूल, गंदगी, स्मोक और केमिकल्स से दूरी बनाए रखें

धूल, गंदगी, स्मोक और केमिकल्स म्यूकस मेंब्रेन को इरिटेट करते हैं, जो शरीर को ज्यादा से ज्यादा कफ़ प्रोड्यूस करने के लिए उत्तेजित करता है। ऐसे में धूल और गंदगी में निकलने से पहले अपने मुंह को मास्क से कवर करना न भूलें।

Smoking health problem ka kaaran hai
आज ही स्मोकिंग छोड़े। चित्र:शटरस्टॉक

4. स्मोकिंग न करें

अस्थमा और खांसी जैसे कारणों से कफ की समस्या बढ़ जाती है। वहीं स्मोकिंग अस्थमा और खांसी को तेजी से उत्तेजित करता है। इतना ही नहीं, नियमित स्मोकिंग गले और फेफड़ों में कफ जमने का कारण होती हैं। यदि आप अपने गले को साफ रखना चाहती हैं, तो फौरन स्मोकिंग को कम कर दें।

5. युकलिप्टस का इस्तेमाल करें

यदि कफ़ की समस्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, तो ऐसे में युकलिप्टस बाम और एसेंशियल ऑयल फायदेमंद हो सकते हैं। वहीं युकलिप्टस की खुशबू चेस्ट में जमे कफ को कम करने में मदद करती हैं। उचित परिणाम के लिए युकलिप्टस ऑयल की बूंदों से चेस्ट और गले की मालिश करें।

यह भी पढ़ें :  दूसरों से पहले आपको खुद को माफ करना आना चाहिए, ये 5 टिप्स होंगे इसमें आपके लिए मददगार 

  • 149
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory