Wild thing asana: जानिए क्या है चमत्कारासन और आपको इसे क्यों करना चाहिए

वाइल्ड थिंग योग मुद्रा आपके संपूर्ण शरीर को शामिल कर इसके लचीलेपन और ताकत में सुधार करता है।
चमत्कारासन आपकी कंधों, कमर और लोअर बैक के लिए काम करता है। चित्र : शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated on: 25 April 2022, 20:44 pm IST
ऐप खोलें

योग एक आध्यात्मिक और शारीरिक अभ्यास है, जो शरीर और मन को हमारे आसपास के वातावरण के साथ जोड़ता है। यह अभ्यास किसी की उम्र या वजन की परवाह किए बिना किया जा सकता है। यदि आपकी पहले से कोई मेडिकल कंडीशन है, तो यह उसमें भी कोई बाधा उत्पन्न नहीं करता।

योग मांसपेशियों को मजबूत करने, शरीर को डिटॉक्सीफाई करने और तनाव मुक्त करने में मदद करता है। ऐसी कई योग मुद्राएं हैं, जिन्हें आप आजमा सकती हैं, यदि आप अपने संपूर्ण शरीर की शक्ति को बढ़ाना चाहती हैं और रक्त परिसंचरण में सुधार करना चाहती हैं, तो आपको वाइल्ड थिंग योग मुद्रा पर विचार करना चाहिए ।

जानिए क्या है वाइल्ड थिंग योग मुद्रा

वाइल्ड थिंग योगा पोज़, योग मुद्राओं का बैक-बेंड वैरिएंट है। यह लचीलेपन और ताकत में सुधार के लिए बहुत अच्छा है। यह छाती, फेफड़े, जांघों और कंधे की मांसपेशियों को खोलता है और ऊपरी पीठ की ताकत बढ़ाता है।

यहां बताया गया है कि वाइल्ड थिंग योग मुद्रा कैसे करें

1: सबसे पहले बैठ जाएं और एक पैर सीधे और दूसरा पैर फर्श पर रख के झुकना शुरू करें। अब सीधे पैर वाले हाथ को अपने पीछे जमीन पर रखें।

चमत्कारासन आपके शरीर के निचले हिस्से पर काम करता हे।

2: हाथ को बाहर की ओर ज़मीन पर घुमाएं, जो आपकी भुजा को बाहर की ओर घुमाएगा।

3: कोहनी को हल्का सा मोड़ें और अपने कंधे को अपने कान की तरफ उठाएं और फिर वापस लाएं। फिर, अपने ऊपरी हिस्से को बाहर की ओर घुमाएं और सीधा करें।

4: अपने कूल्हों को उठाएं और अपने सीधे पैर के अंदरूनी किनारे को जमीन में धकेलें। ताकि आप अपने कूल्हे को और भी ऊपर उठा सकें।

5: अपनी छाती को ऊपर उठाएं और अपना संतुलन बनाए रखें। मुड़े हुए पैर के हाथ को अपने सिर के पीछे ले आएं और कोहनी को अपने करीब लाएं ताकि वह ऊपर की ओर हो।

6: अपने सिर के पिछले हिस्से को हाथ से दबाएं। यह आपकी पीठ की मांसपेशियों को जोड़ने में आपकी सहायता करेगा।

7: हाथ को सीधा करें और दोनों कंधों को अपने कान की ओर ले आएं। अब जमीन को छूते हुए इस हाथ को बाहर की ओर घुमाएं।

8: 5-10 सांसों तक मुद्रा को होल्ड करें और फिर प्रारंभिक स्थिति में लौट आएं और दूसरी तरफ के लिए मुद्रा दोहराएं।

वाइल्ड थिंग योग मुद्रा के लाभ

यह मुद्रा मांसपेशियों, जोड़ों और अंगों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने में मदद करेगी। यह लचीलेपन, ताकत, सहनशक्ति और गतिशीलता के लिए बहुत अच्छा है और मन को शांत और केंद्रित रखता है।

योग आपको कई समस्याओं से बचा कर रखता है। चित्र: शटरस्टॉक

अन्य बैकबेंड की तरह, वाइल्ड थिंग योग पूरे शरीर को फैलाता है। छाती और कंधे के क्षेत्र को खोलता है और इस प्रकार आपके फेफड़ों के प्रदर्शन को बेहतर बनाता है।

यह कंधों और पीठ के ऊपरी हिस्से को मजबूत बनाने में मदद करता है और रीढ़ के लचीलेपन में सुधार करता है। यह मुद्रा आपकी बाहों और कलाई की ताकत को भी बढ़ा सकती है।

वाइल्ड थिंग योग मुद्रा पैरों के सामने और कूल्हे के फ्लेक्सर्स को खोलती है, जिससे शरीर को ऊर्जा मिलती है और रक्त परिसंचरण को बढ़ावा मिलता है।

इस मुद्रा को धीरे-धीरे और सावधानी से करना याद रखें, क्योंकि चोट से बचने के लिए आपको इसे सही तरीके से करना चाहिए।

तो लेडीज, योग मैट को रोल करें और इस शक्तिशाली मुद्रा को आजमाएं!

यह भी पढ़ें – योग और आहार के ये 4 संयोजन आपको बचा सकते हैं कई गंभीर बीमारियों से, एक्सपर्ट बता रहीं हैं कैसे

लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story