त्योहार की थकान में बढ़ गया है कमर दर्द, तो ये सरल योगासन देंगे आपको राहत

आप चाहें कितनी भी बिजी हों, पर अपनी सेहत के लिए सुबह थोड़ा सा समय जरूर निकालें। खासतौर से योगासन थकान और कमर दर्द से राहत दिलाने में मददगार हैं।
पीठ दर्द में राहत देता है योग। चित्र शटरस्टॉक
निशा कपूर Published on: 24 October 2022, 11:00 am IST
ऐप खोलें

वर्क फ्रॉम, घर की साफ-सफाई, त्योहार की खरीदारी और दिवाली पार्टी, यकीनन इन सबने आपको बहुत थका दिया है। पर आप हैं कि जब तक शरीर पूरी तरह थककर चूर न हो, थकान महसूस ही नहीं करती। खुद पर ओवरबर्डन करने या गलत पोश्चर में लगातार खड़े रहने से जो सबसे पहले उफ्फ करती है, वो है आपकी कमर। क्यों, पीठ दर्द से कराहने लगी है न? तो जरूरी है कि अपनी बैक बोन को अब आराम दिया जाए। नहीं आराम का मतलब सिर्फ बिस्तर पर लेट जाना ही नहीं है, बल्कि कुछ रिलैक्सिंग योगासन भी हैं। ये सभी योगासन आपकी बैक बोन (yoga for back pain) को आराम देते हैं। जिससे आपको कमर दर्द से छुटकारा मिलता है।

यदि आपकी रीढ़ की हड्डी बिलकुल दुरुस्त रहती है तो आपको लम्बे समय तक इसका लाभ मिलता है। आप सरलता से कोई भी भारी काम कर सकते हैं, एक्सरसाइज कर सकते हैं और खुद को स्वस्थ रख सकते हैं। कुछ दशक पहले तक लोग हेल्दी रहते थे और लम्बी उम्र भी जीते थे। लेकिन आजके समय में प्रत्येक दूसरे व्यक्ति को रीढ़ की हड्डी और कमर में दर्द की शिकायत है। इसकी एक बड़ी वजह है खराब लाइफस्टाइल, शारीरिक रूप से सक्रिय न होना। इसलिए यह जरूरी है कि दर्द से राहत पाने के लिए रीढ़ की हड्डी को मजबूत बनाया जाए। तो चलिए इसके लिए आज हम आपको कुछ ऐसे एक्सरसाइज बताएंगे जिसके करने से आप दर्द से निजात पा सकते हैं।

रीढ़ की हड्डी का दिमाग से है गहरा नाता। चित्र : शटरस्टॉक

दर्द से राहत दिलाने में व्यायाम कैसे मदद करता है

पीठ के निचले हिस्से में दर्द के लिए एक्सरसाइज से पीठ, पेट और पैर की मांसपेशियों को मजबूत किया जा सकता है। व्यायाम आपकी रीढ़ की हड्डी को सहारा देने में सहायता करते हैं और पीठ में होने वाले दर्द से राहत दिलाते हैं। पीठ दर्द के लिए कोई भी एक्सरसाइज करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी (एलबीएसएनएए) में योगा टीचर वंदना योग से होने वाले फायदों के बारे में बताती हैं। उन्होंने अपने इंस्टा पेज पर कमर दर्द से राहत पाने के लिए भी कुछ सरल योग बताए हैं।

यहां हैं आपकी बैक बाेन और पीठ को आराम देने वाले 3 योगासन

1 बालासन

यह आसन आपकी कमर में होने वाले दर्द से राहत दिला सकता है। इसका नियमित अभ्यास करने से आपको दर्द से निजात मिल सकती है।

बालासन करने का तरीका

  • इसके लिए किसी समतल जगह पर घुटनों के बल बैठ जाएं।
  • अपने दोनों हाथों को ऊपर की ओर ले जाएं और गहरी लम्बी सांस लें।
  • अब सांस को धीरे-धीरे छोड़ते हुए अपनी जगह पर बैठे हुए ही आगे की तरफ झुकें और अपने सिर को जमीन से टिकाएं। इस मुद्रा में आपका पेट आपकी जांघों पर रहेगा।

यह भी पढ़े- हड्डियों में कट कट की आवाज बताती है लुब्रिकेंशन की कमी, ये 5 सुपरफूड्स कर सकते हैं आपकी मदद

2 भुजंगासन

अंग्रेजी में भुजंगासन को कोबरा पोज भी कहा जाता है। असल में, यह आसान आपके हृदय को मजबूत करता है। इसके साथ ही रीढ़ को लचीला व मजबूत बनाता है और कमर में होने वाले दर्द से भी छुटकारा दिलाता है।

भुजंगासन आपकी पीठ और कंधे को स्वस्थ रखने के लिए बहुत उपयोगी है। चित्र- शटरस्टॉक।

भुजंगासन करने का तरीका

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं।
  • पैरों को सीधा रखें और पैरों के बीच की दूरी को कम करें।
  • अब अपने हाथों की हथेलियों को कंधे के बराबर में लाएं।
  • अब धीरे-धीरे सांस अंदर की ओर लेते हुए छाती से लेकर नाभि तक बॉडी को ऊपर की तरफ उठाएं।
  • धीरे-धीरे सांस लेते व छोड़ते हुए इस अवस्था में कुछ सेकंड बने रहें।
  • फिर गहरी सांस छोड़ते हुए प्रारंभिक अवस्था में वापस आ जाएं।
  • इस तरह से आपका एक चक्र पूरा होगा।
  • शुरुआत में आप इस योगासन को चार से पांच बार कर सकते हैं। नियमित अभ्यास करें और चक्र की संख्या बढ़ाएं।

3 अर्ध मत्स्येन्द्रासन

असल में अर्ध मत्स्येन्द्रासन आसन संस्कृत भाषा के चार शब्द अर्ध, मत्स्य, इंद्र और आसन से मिलकर बना हैं। इस आसान को करने से शरीर में लचीलापन आता है और कमर दर्द से राहत मिलती है।

अर्ध मत्स्येन्द्रासन करने का तरीका

  • इस आसान को करने के लिए दंडासन योग मुद्रा में बैठ जाएं।
  • अब बाएं पैर को मोड़े और दाएं पैर के घुटने से उपर ले जाकर जमीन पर रखें।
  • इसके बाद दाएं हाथ से बाएं पैर के अंगूठे को पकड़े।
  • अब सांस लेते हुए जितना आपसे संभव हो अपनी गर्दन को बाएं तरफ थोड़ा सा मोड़े।
  • ऐसा करने के दौरान अपने बाएं हाथ को जमीन पर जमा कर रखें।
  • इस आसन में आप 3 से 5 गहरी सांसों तक रहें और फिर धीरे-धीरे वापस अपनी मुद्रा में आ जाएं।

यह भी पढ़े- पीरियड्स में हैं, तो करें लो इंटेंसिटी एक्सरसाइज, एक्सपर्ट बता रहीं हैं ऐसी 5 एक्सरसाइज

लेखक के बारे में
निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
Next Story