लॉग इन

Mobile Phone Radiation Effect : मोबाइल फोन के ज्यादा इस्तेमाल से हो सकता है इम्यून सिस्टम कमजोर, जानिए कैसे

सारी दुनिया मोबाइल फोन पर सिमट गई है। इससे जिंदगी आसान तो बहुत हो गई है, लेकिन इसके साइड इफेक्ट की भी अनदेखी नहीं की जा सकती है। एक्सपर्ट से जानते हैं मोबाइल रेडिएशन से शरीर को होने वाले नुकसान और इससे बचाव के उपाय।
पर्याप्त नींद नहीं मिलती है, तो ग्लूकोज चयापचय और भूख हार्मोन को रेगुलेट करने की शारीरिक क्षमता में बाधा उत्पन्न होने लगती है। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Published: 20 Oct 2023, 06:32 pm IST
मेडिकली रिव्यूड
ऐप खोलें

मोबाइल डेटा की शुरुआत के साथ डिजिटल दुनिया में मोबाइल रेडिएशन भी चर्चा का एक आम विषय बन गया है। जितना अधिक हम मोबाइल फोन का उपयोग करते हैं, उतना ही अधिक हम मोबाइल फोन, लैपटॉप, राउटर, स्मार्ट टीवी आदि सहित सभी प्रकार के वायरलेस उपकरणों से हानिकारक वाईफाई रेडिएशन के संपर्क में आते हैं। दुनिया में लगभग 6 अरब लोग स्मार्टफोन का उपयोग करते हैं। अगले कुछ वर्षों में यह संख्या कई सौ लाख और बढ़ने की आशंका है। विशेषज्ञ बताते हैं कि मोबाइल रेडिएशन के लगातार संपर्क में रहने से हमारा इम्यून सिस्टम कमजोर (mobile phone radiation effect on immunity) हो सकता है।

क्यों है मोबाइल फोन का रेडिएशन हमारे लिए हानिकारक?

मोबाइल फोन वायरलेस सैटेलाइट सिग्नल जैसे वाईफाई के साथ-साथ ब्लूटूथ तकनीक के माध्यम से कनेक्टिविटी पर काम करते हैं। स्मार्टफ़ोन में ये सभी कनेक्टिविटी सुविधाएं डिफ़ॉल्ट रूप से होती हैं। यही कारण है कि सभी सेल फ़ोन विद्युत चुम्बकीय तरंगें, कम फ्रीक्वेंसी वाले नॉन-आयोनाइजिंग रेडिएशन उत्सर्जित करते हैं। मोबाइल के अत्यधिक उपयोग के कारण सिरदर्द, नींद में खलल, याददाश्त में गड़बड़ी, चिड़चिड़ापन, हाथ में दर्द, गर्दन में दर्द, खराब विजन और विजन लॉस भी हो सकता है। मोबाइल रेडिएशन के लगातार संपर्क में रहने से गंभीर बीमारियां होने की भी संभावना बढ़ (mobile phone radiation effect on immunity) जाती है।

मोबाइल रेडिएशन के कारण ये 6 समस्याएं हो सकती हैं (Side Effect of Phone Radiation)

1. नींद में बाधा ( Disrupted Sleep) 

लंबे समय तक मोबाइल रेडिएशन के संपर्क में रहने से नींद के पैटर्न (sleep patterns) में बाधा आ सकती है। रात में देर से नींद आने और बार-बार नींद खुलते रहने की समस्या आम है।

2. मेटाबोलिक परिवर्तन (Metabolic Changes)

कुछ अध्ययन इस बात पर जोर देते हैं कि मोबाइल रेडिएशन चयापचय प्रक्रियाओं यानी मेटाबोलिक चेंज के कारण बन सकते हैं। मेटाबोलिक चेंज से कई गंभीर रोग का जोखिम बढ़ जाता है।

3 प्रजनन संबंधी समस्याएं (Fertility Issues)

मोबाइल से निकलने वाले अलग-अलग रे स्पर्म क्वालिटी पर सीधे प्रभाव डाल सकते हैं। इसके कारण प्रजनन क्षमता में भी कमी दर्ज की जा सकती है।

4. सिरदर्द और चक्कर आना (Headache and Dizziness)

अगर आप लगातार मोबाइल पर बात करती हैं, तो सिरदर्द होना आम बात है। कई यूजर्स चक्कर आने की भी शिकायत करते हैं।

5 कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली (Weak Immune System Function)

लगातार रेडिएशन से घिरे रहने के कारण प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है। इसके कारण हमेशा सर्दी-जुकाम होने का खतरा (mobile phone radiation effect on immunity) बनने लगता है। रेडिएशन के कारण लूज मोशन होता रह सकता है। घाव भरने में देरी हो सकती है। हर समय थकान भी महसूस हो सकती है।

लगातार  मोबाइल रेडिएशन से घिरे रहने के कारण प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है। चित्र : शटरस्टॉक

6. त्वचा पर चकत्ते (Skin Rashes)

कुछ मामलों में लंबे समय तक मोबाइल रेडिएशन के संपर्क में रहने पर स्किन में जलन (skin irritation from mobile radiation) और स्किन रैशेज भी देखे जाते हैं।

जोखिम को कम करने और फ़ोन रेडिएशन से बचाव के लिए यहां हैं एक्सपर्ट के बताये उपाय (To minimize exposure and protect yourself from phone radiation)

1 स्पीकर फ़ोन या हेडफ़ोन का उपयोग (Use Speakerphone or Headphones)

कॉल के दौरान डिवाइस को अपने सिर से दूर रखने की कोशिश करनी चाहिए। इस दौरान स्पीकर फ़ोन या हेडफ़ोन का उपयोग किया जा सकता है

2 कॉल की बजाय टेक्स्ट (Text Instead of Call)

मोबाइल के निकट संपर्क को कम करने के लिए जहां तक संभव हो, टेक्स्टिंग का विकल्प चुनें। बात को लंबा खींचने की बजाय कम समय में करने की कोशिश करें

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
मोबाइल के निकट संपर्क को कम करने के लिए जहां तक संभव हो, टेक्स्टिंग का विकल्प चुनें। चित्र : शटरस्टॉक

3 रात में एयरप्लेन मोड (Airplane Mode at Night)

रात भर के जोखिम (mobile phone radiation effect on immunity) को सीमित करने के लिए सोते समय एयरप्लेन मोड सक्रिय करें

4 सोते समय फोन दूर रखें (Keep Phone Away at Bedtime)

अक्सर हम सोशल मीडिया अपडेट चेक करने, टाइम देखने के लिए फोन को अपने पास रखकर सोते हैं। सिर के पास रखने पर रेडिएशन से प्रभावित होने का खतरा बना (mobile phone radiation effect on immunity) रहता है। फोन को बगल में रखकर सोने से बचें। इसे कुछ दूरी पर रखें।

यह भी पढ़ें :- Prayer Benefits : शांति से की गई पूजा-आराधना भी देती है मेडिटेशन जैसा फायदा, एक्सपर्ट बता रहे हैं कैसे

स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है। ...और पढ़ें

अगला लेख