लॉग इन

क्या रस्सी कूदना आपके स्तनों को नुकसान पहुंचा रहा है? तो ब्रेस्ट हेल्थ के लिए फॉलो करें ये 4 चीजें

फिट रहने में मदद करता है स्किपिंग या रस्सी कूदना। यह हार्ट हेल्थ को भी मजबूती देता है। पर यह ब्रैस्ट हेल्थ को प्रभावित कर सकता है। यह सैगिंग के लिए जिम्मेदार हो सकता है। इस आलेख में जानते हैं स्किपिंग के दौरान ब्रेस्ट हेल्थ केयर के 4 टिप्स।
स्किपिंग या रस्सी कूदने से ब्रेस्ट पर प्रभाव पड़ सकता है।चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Updated: 8 Apr 2024, 01:40 pm IST
मेडिकली रिव्यूड
ऐप खोलें

स्किपिंग या रस्सी कूदना फिजिकल और मेंटल दोनों तरह के हेल्थ के लिए बढ़िया है। यह सबसे अच्छे कार्डियो एक्सरसाइज में से एक है। यह शेप में बने रहने, शरीर को फुर्तीला बनाने, बैलेंस बनाने और लचीला बनाने में मदद करने का एक प्रभावी तरीका है। एक्सपर्ट बताते हैं कि यह ब्रेस्ट हेल्थ के लिए नुकसानदायी भी हो सकती है। यह इसके शेप पर असर डाल देती है। यदि ऐसा है, तो स्किपिंग के फायदों को देखते हुए ब्रेस्ट हेल्थ केयर के उपाय (breast health care 4 tips during skipping) जानना जरूरी है।

सबसे पहले जानते हैं स्किपिंग का ब्रेस्ट पर असर (effect of skipping on breast)

स्किपिंग या रस्सी कूदने से ब्रेस्ट पर प्रभाव पड़ सकता है। ब्रेस्ट केवल 2 फ़्रेज़ाइल संरचनाओं से बने होते हैं। कूपर लिगामेंट और स्किन। इसलिए जब रस्सी से कूदा जाता है या अन्य जोरदार वर्कआउट किया जाता है, तो लिगामेंट और स्किन बार-बार खिंचती है। इससे ब्रेस्ट ढीले हो जाते हैं। यदि स्तनों को सही स्पोर्ट दिया जाए, तो ब्रेस्ट सैगिंग नहीं हो सकती है। एक अच्छी गुणवत्ता वाली और अच्छी तरह से फिट आने वाली स्पोर्ट्स ब्रा स्तनों को जरूरी सहारा दे सकती है। यह स्किपिंग के कारण समय से पहले होने वाले ढीलेपन को रोक सकती है। ये व्यायाम करते समय गर्दन और पीठ के दर्द से बचने में भी मदद कर सकते हैं। स्ट्रेचिंग के प्रभाव को दूर रख सकते हैं।

यहां हैं स्किपिंग के दौरान ब्रेस्ट हेल्थ केयर के 4 टिप्स (breast health care 4 tips during skipping)

1 चुनें सही फिटिंग (Choose Proper Fitting)

हमेशा ऐसी स्पोर्ट्स ब्रा पहनें, जो स्तनों पर असुविधाजनक दबाव या कंधों पर बहुत अधिक तनाव नहीं दे। यह सही ढंग से फिट हो। स्किपिंग, जंप करने, मार्शल आर्ट और बहुत अधिक इंटेंसिटी वाले खेलों के लिए मोल्डेड प्लास्टिक कप और हल्के चेस्ट शील्ड सबसे अधिक सुरक्षा प्रदान करते हैं। आइडियल अंडर गारमेंट को कूदते और जॉगिंग करते समय वर्टिकल और पैरेलल दोनों तरह से ब्रेस्ट मूवमेंट को रोकना चाहिए। कपों को स्तनों को पूरी तरह से ढकना चाहिए।

हमेशा ऐसी स्पोर्ट्स ब्रा पहनें, जो स्तनों पर असुविधाजनक दबाव या कंधों पर बहुत अधिक तनाव नहीं दे। चित्र:शटरस्टॉक

2 एक्स्ट्रा सपोर्ट (extra support)

एक्स्ट्रा सपोर्ट और आराम के लिए पट्टियां चौड़ी और पैड वाली होनी चाहिए। सुनिश्चित करें कि वायर के कारण होने वाली फ्रिक्शन को रोकने के लिए अंडरवायर ब्रा सही ढंग से फिट हों। पसीना सोखने वाली सामग्री रैशेज और त्वचा की जलन को रोकने में मदद कर सकती है। स्पोर्ट्स ब्रा को बार-बार बदलना चाहिए। महीनों तक पहनने से इलास्टिक खिंच जाती है। वे स्तनों को प्रभावी ढंग से सहारा देने में सक्षम नहीं रह जाती हैं।

3 निपल्स की केयर (Nipples care)

स्किपिंग के समय जंप करने या जॉगिंग करते समय निपल्स में फ्रिक्शन होते हैं। इसके कारण निपल्स में दर्द हो सकता है। इसमें दरार या खून भी आ सकता है। अपनी स्पोर्ट्स ब्रा पहनने से पहले निपल्स को जिंक ऑक्साइड टेप या पेट्रोलियम जेली की एक पतली परत से ढक लें। इस प्रकार आप चोट को रोक सकती हैं।

स्पोर्ट्स ब्रा पहनने से पहले निपल्स को जिंक ऑक्साइड टेप या पेट्रोलियम जेली की एक पतली परत से ढक लें। चित्र : शटरस्टॉक

4 सही पोश्चर (Practice good posture)

आपका पोश्चर स्तनों को सीधे तौर पर प्रभावित तो नहीं करता है। लेकिन सही मुद्रा चेस्ट को ऊपर उठाए रखता है। यदि आप सीधी खड़ी नहीं होती हैं या स्किपिंग के समय झुककर कूदती हैं, तो ब्रेस्ट के साथ-साथ पूरे शरीर पर प्रभाव पड़ता है। पीठ और गर्दन की मांसपेशियों के साथ-साथ रीढ़ की हड्डी पर भी तनाव पड़ता है। जब आप शारीरिक गतिविधि में लगी रहती हैं और जब आराम से बैठती या खड़ी रहती हैं, तब अपनी मुद्रा की जांच करें। कंधे पीछे होने चाहिए। रीढ़ सीधी होनी चाहिए और सिर ऊंचा होना चाहिए।

यह भी पढ़ें :-Skipping Rope Exercise: इन 5 समस्याओं का कारण बन सकता है बिना सोचे समझें रस्सी कूदना

स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है। ...और पढ़ें

अगला लेख