लॉग इन

जानिए उन 5 संकेतों के बारे में, जो बताते हैं कि आपको है डिटॉक्स की जरूरत

डिटॉक्स डिर्कंस के बारे में हम आमतौर पर सुनते रहते है पर ये डिटॉक्सीफिकेसन क्या होता है और हमारे शरीर को इसकी जरूरत क्यों पड़ती है और कब आपके शरीर को डिटॉक्सीफिकेसन की जरूरत पड़ती है ये सब हम आज आपको बताएंगे।
फुल बॉडी डिटॉक्स स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद, यह ज्यादातर लोगों के लिए जरूरी हैं। चित्र : अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 5 Feb 2023, 02:00 pm IST
ऐप खोलें

डिटॉक्स का क्या अर्थ है शरीर से टॉक्सिन पदार्थों को प्राकृतिक रूप बहार निकालना। लिवर, किडनी, आंतें हर दिन लगातार हमारे शरीर से वेस्ट प्रोडक्ट को बाहर निकालने क काम करती हैं। फिर शरीर को अलग से डिटॉक्स करने की आवश्यकता क्यों पड़ती है।

आजकल हर चीज में काफी रसायन मौजूद होता है जिससे हम काफी ज्यादा ऐसी चीजों के संपर्क में हैं – चाहे वो भोजन हो, हवा में सांस लेना हो, ब्यूटी प्रोडक्ट का उपयोग करते हुए या कोई अन्य रासायनिक चीजें। इनमें से कुछ रसायन बहुत हानिकारक हैं और ज्यादा नुकसान पहुंचा सकते हैं। लिवर और किडनी की मदद करने के लिए और उसे स्वस्थ्य बनाने के लिए डिटॉक्स किया जा सकता है जो टॉक्सिन पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करती हैं।

लोगों का मानना है कि फुल बॉडी डिटॉक्स स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद, यह ज्यादातर लोगों के लिए जरूरी नहीं हैं। शरीर से टॉक्सीन पदार्थों को बाहर करने के लिए शरीर में पहले से ही डिटॉक्सीफिकेसन प्रणाली है।

ये भी पढ़ें- पुरुषों में पेनाइल कैंसर का भी कारण बन सकती है स्मोकिंग, जानिए इस दुर्लभ प्रकार के कैंसर के बारे में

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसन के अनुसार कभी-कभी, लोगों की किसी मेडिकल कंडीसन की वजह से डिटॉक्सीफिकेसन (detoxification). की मदद की आवश्यकता होती है। उदाहरण के लिए, हेवी मेटल पॉइजनिंग वाले लोग केलेशन थेरेपी की जरूरत होती हैं। यह एक ऐसी प्रक्रिया है जो शरीर से भारी मेटल को शरीर से बाहर निकालती है।

हालांकि, जो लोग स्वस्थ हैं उन्हें आमतौर पर डिटॉक्सीफिकेसन के लिए ज्यादा मदद की आवश्यकता नहीं होती है।

आपकी बॉडी को डिटॉक्स की जरूरत कब है ये जानने के लिए हमने बात की न्यूट्रिशनिस्ट और वेलनेस एक्सपर्ट करिश्मा शाह से उन्होने 5 ऐसे संकेत बताएं है जिससे आपको पता चल सकता है कि आपकी बॉडी को डिटॉक्स की जरूरत है।

5 ऐसे संकेत जिससे आपको पता चल सकता है कि आपकी बॉडी को डिटॉक्स की जरूरत है।
चित्र: शटरस्टॉक

5 संकेत जो बताएंगे बॉडी को डीटॉक्स की जरूरत

वजन कम करने में परेशानी

करिश्मा शाह को अनुसार अगर आपको अपने बढ़े हुए वजन को घटाने में दिक्कत हो रही है तो आपको ये समझ जाना चाहिए कि आपकी बॉडी टॉक्सीन से भर चुकी है। सबसे पहले आपको अपनी बॉडी से टॉक्सीन पदार्थों को बाहर करने की जरूरत है और फिर वजन घटाने की जर्नी का शुरूआत करें। सबसे जरूरी बॉडी को क्लीन करने के लिए हेल्दी खाना बहुत जरूरी है। ये चीजें आपको वजन कम करने में मदद करेंगी।

थकान होना

अगर आप पूरा दिन थका हुआ महसुस करते है और आपको अपने आप को तरोताजा रखने के लिए कैफिन या फिर एनर्जी ड्रिंक की जरूरत पड़ रही है तो हो सकता है कि आपकी बॉडी को डिटॉक्स की जरूरत हो। एनर्जी ड्रिंक पीना आपकी हालत और ज्यादा खराब कर सकता है। एक अच्छा डिटॉक्सीफिकेसन आपको हल्का और एनर्जेटिक महसूस करवा सकता है।

ये भी पढ़ें- जानिए क्या होता है बायोटिन जो आपके बालों को घना और मजबूत बना सकता है

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

कब्ज का होना

बार-बार कब्ज होना इस बात का संकेत है कि आपके पाचन तंत्र में कुछ गड़बड़ है और कभी-कभी फाइबर युक्त आहार और ढेर सारा पानी लेने के बाद भी यह ठीक नहीं होता है। आपको अपने कोलन को डिटॉक्स करने और कच्ची सब्जियों और फलों का सेवन करने की आवश्यकता है। प्रोसेस्ड फूड से बचें और हेल्दी खाना खाएं।

सूजन

सूजन तब होती है जब आपका पाचन तंत्र प्रोसेस्ड भोजन या उच्च चीनी और वसा वाले भोजन को पचाने में असमर्थ होता है। यह आपके पाचन तंत्र के स्वास्थ्य और आपकी इम्यूनिटी को प्रभावित करेगा। एक डिटॉक्स प्रोग्राम आपको विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने और आपके आंत को फिर से स्वस्थ्य करने में मदद करेगा

नींद न आना

टॉक्सिक बिल्डअप मेलाटोनिन के स्तर को कम करके आपके प्राकृतिक चक्र में बाधा डालता है, जिससे शरीर को नींद आती है। आप देर तक जागेंगे और दिन में नींद में रहेंगे। डिटॉक्सिंग आपको शरीर की प्राकृतिक दिनचर्या को बहाल करने और बेहतर नींद लेने में
मदद करेगा

ये भी पढ़ें- सबसे ज्यादा जरूरी है खुद से प्यार करना : एक्ट्रेस, सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर अचिंत कौर

संध्या सिंह

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख