माइग्रेन के दर्द का उपचार भी है आपकी रसोई में, जानिए मेरी मम्मी इसके लिए क्या करती हैं

जिन लोगों को माइग्रेन होता है, वे जानते हैं कि यह सिर में किसी हथौड़े की तरह पड़ता है। लेकिन परेशान न हों, क्योंकि रसोई में इससे इंस्टेंट रिलीफ का भी उपाय है।
माइग्रेन के दर्द की समस्या को दूर करने के लिए भी हैं कई घरेलू उपाए। चित्र : शटरस्टॉक
अक्षांश कुलश्रेष्ठ Published on: 29 December 2021, 21:30 pm IST
ऐप खोलें

काम का प्रेशर, लंबे समय तक घर के अंदर बंद रहना और कोरोनावायरस से डराने वाली खबरों का रेला। किसी का भी सिर दर्द बढ़ा सकता है। यह देखने में आया है कि कोरोनावायरस महामारी के दौरान लोगों की माइग्रेन की समस्या भी बढ़ी है। मेरी मम्मी इसका जीता जागता उदाहरण हैं। पिछले लॉकडाउन के दौरान उनके सिर दर्द की समस्या में लगातार इजाफा हुआ। पर इससे पहले कि ये दर्द उनके जीवन के बाकी हिस्सों को प्रभावित करता, उन्होंने रसोई की जादुई हर्ब्स की शरण ली। आइए जानते हैं कैसे रसोई में मौजूद कुछ खास सामग्रिया आपके माइग्रेन के दर्द में भी राहत दे सकती हैं। 

इग्नोर न करें करें सिर दर्द 

सिर दर्द जैसी समस्या को महिलाएं अक्सर छोटी दिक्कत समझ कर इग्नोर कर देती हैं। लेकिन एक समय बाद ये छोटी सी समस्या कब बड़ी बन जाती हैं, पता नही चलता। ऐसी ही एक बड़ी समस्या है माइग्रेन। हर बीमारी के लिए हम पहले एलोपैथी और होम्योपैथी की ओर जाते हैं, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के दौरान आयुर्वेदिक चिकित्सा को भी लोगों ने महत्व देना शुरू कर दिया है। इन आयुर्वेदिक उपचारों (Ayurvedic remedies) में घरेलू नुस्खे भी शामिल हैं, जिनको अपनाकर अकसर मेरी मम्मी अपनी माइग्रेन की समस्या से इंस्टेंट रिलीफ पाती है। 

सर के आधे हिस्से में होता है माइग्रेन का दर्द। चित्र : शटरस्टॉक

चलिए आज उन्हीं घरेलू नुस्खों के बारे में जानते हैं। लेकिन उससे पहले पहले माइग्रेन को ढंग से समझ लेते हैं।

क्या होता है माइग्रेन ? 

माइग्रेन सिरदर्द की समस्या का ही एक प्रकार है। जो सर के आधे हिस्से में होता है। यह मस्तिष्क में तंत्रिका तंत्र के विकास कारण उत्पन्न होता है। कई बार यह दर्द इतना तेज होता है कि सहनशक्ति से बाहर हो जाता है। माइग्रेन की समस्या होने पर जी मचलाना, उल्टियां होना, ध्वनि के प्रति संवेदनशीलता बढ़ जाना जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं।

क्यों उठता है माइग्रेन का दर्द? 

आयुर्वेद के अनुसार हमारे खान-पान और जीवनशैली में बदलाव के कारण जब वात,पित्त और कफ दोषों में बदलाव होता है, तो अलग-अलग तरह के कारणों के साथ बीमारियां होने लगती हैं। वात के कारण सिरदर्द होने पर न्यूरोलॉजी से संबंधित समस्याएं बढ़ती हैं। जिसमें तेज दर्द शामिल है।

दो प्रकार के होते हैं माइग्रेन के दर्द 

माइग्रेन की स्थिति दो प्रकार की होती हैं, जिसमें से एक है क्लासिक माइग्रेन (Classic Migraine)  और दूसरा है नॉन क्लासिकल माइग्रेन ( Non Classic Migraine) । क्लासिक माइग्रेन की स्थिति में तेज दर्द उठने से पहले ही कई लक्षण देखने को मिलते हैं। जिसमें धुंधला दिखाई देना और सिर्फ दर्द की हल्की शुरुआत शामिल हैं। नॉन क्लासिक माइग्रेन में समय-समय पर सिर में तेज दर्द होता है, इसके अलावा कोई भी लक्षण देखने को नहीं मिलता।

क्या होते हैं माइग्रेन के लक्षण ? 

  1. सिरदर्द
  2. गैस्टिक होना
  3. मितली
  4. उल्टी सामान्य लक्षण है
  5. आँखो में दर्द होना

चलिए कुछ घरेलू उपाय के बारे में जानते हैं : 

 1 लौंग का पाउडर 

अगर आपको अचानक बहुत तेज दर्द उठ जाता है, तो लौंग का पाउडर आपके लिए बहुत फायदेमंद है। आपको बस लौंग के पाउडर में नमक शामिल कर, दूध के साथ उसका सेवन करना है। यह आपको इंस्टेंट राहत देने में मदद करेगा।

माइग्रेन के दर्द से राहत दिला सकती है लौंग। चित्र: शटरस्टॉक

2 अदरक

अदरक एक आयुर्वेदिक औषधि है। माइग्रेन के दर्द में आपको तुरंत राहत देने में काम आती है। आपको अदरक के रस का सेवन करना है। आप चाहें तो अदरक के रस में शहद मिला कर भी इसका इस्तेमाल कर सकती हैं। अदरक का किसी भी रूप में सेवन करने से फायदा मिलता है। 

3 दालचीनी 

माइग्रेन के दर्द में इसका सेवन फायदेमंद है। लेकिन कई लोग दालचीनी को दर्द के दौरान खाने की गलती करते हैं। असल में दालचीनी को पानी के साथ पीसकर आधे घंटे तक माथे पर लगाकर रखने से दर्द में आराम मिलता है।

4 गर्म तेल की मालिश 

सरसों के तेल से करें सर की ,मालिश। चित्र: शटरस्टॉक

सरसों या नारियल के तेल को गर्म कर सर की मसाज करना माइग्रेन के दर्द में बहुत फायदेमंद है। सर के आलावा आप अपने पैरों-हाथों और कंधे पर भी मालिश करवाएं। यह तनाव कम करने और माइग्रेन की समस्या को जल्द से जल्द ठीक करने में फायदेमंद घरेलू उपचार है।

5 बर्फ की सिकाई

माइग्रेन होने के पीछे असल में क्या बचा है इस बारे में आज तक पता नहीं चल पाया है। हालांकि कई बार यह तनाव के कारण होता है। यदि आपको काफी तेज दर्द है तो आप बर्फ की सिकाई कर सकती हैं। ऐसे में हीटिंग पैड के इस्तेमाल से काफी हद तक राहत मिलती है।

ध्यान रहें किसी भी दर्द की समस्या में डॉक्टर से ही संपर्क करें। यदि बताए गए उपाय आपको सूट नहीं कर रहें, तो इन्हें अपनाने से बचें। 

यह भी पढ़े :आपकी डायबिटीज को कंट्रोल करने में भी मददगार है रसोई में मौजूद यह मसाला

लेखक के बारे में
अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
Next Story