लॉग इन

अच्छी दोस्ती एक नेमत है, क्या आप वाकई अच्छे दोस्त हैं? इन 5 संकेतों से चेक करें

आप हर दिन सोशल मीडिया पर सैकड़ों दोस्तों के साथ अपनी छुट्टियों की तस्वीरें शेयर करते हैं। हर दिन कॉलेज या ऑफिस में भी कुछ दोस्तों से मिलते होंगे। मगर वास्तविकता यह है कि जिन लोगों के आप अकसर संपर्क में रहते हैं, उनमें से बहुत कम ही आपके सच्चे दोस्त होंगे।
कुछ लोग जब किसी व्यक्ति की तरह बनना चाहते हैं, तो खुद को उससे सर्वश्रेष्ठ साबित करने के अलावा उसे काफपी करने लगते हैं। चित्र : शटर स्टॉक
संध्या सिंह Published: 22 Apr 2024, 19:00 pm IST
ऐप खोलें

अच्छी दोस्ती ईमानदारी, साथ और आपसी सम्मान पर आधारित होती है। यह आपके आत्मविश्वास और मेंटल हेल्थ में सुधार करती है। अच्छे दोस्त आपके हर दिन के तनाव को कम कर सकते हैं। दोस्ती केवल उन्हीं व्यक्तियों में अच्छी निभ सकती है , जो एक-दूसरे की कद्र करते हैं और एक-दूसरे पर भरोसा करते हैं। मगर कुछ लोगों से आप परिस्थितिवश जुड़ जाते हैं। एक साथ ज्यादा समय बिताने का अर्थ यह नहीं है कि वे आपके या आप उनके दोस्त हैं। यहां कुछ संकेत हैं जो अच्छी दाेस्ती में नहीं होने चाहिए। अगर हैं, तो समझिए कि आप दोनों अच्छे दोस्त नहीं हैं।

अगर दोस्ती में दिखें ये संकेत तो मानिए कि आप अच्छे दोस्त नहीं हैं

1 योजनाओं को अचानक कैंसल करना

एक रिश्ते में चाहें वह दोस्ती ही क्यों न हो, साथ समय बिताने और मिलने की अपनी अहमियत होती है। अगर आप अकसर मिलने की योजनाएं बनाते हैं और उसे कैंसल कर देते हैं, तो यह संकेत है आप वास्तव में मिलना ही नहीं चाहते।

हम अक्सर स्वस्थ कम्युनिकेशन या समझ के बिना अपने मित्र के दृष्टिकोण को मान लेते हैं। चित्र : शटरस्टॉक

किसी दोस्त के साथ योजनाओं को लगातार कैंसल करने से उन्हें यह विश्वास हो सकता है कि आप जानबूझकर उनसे बच रहे हैं। इससे विश्वास ख़त्म हो जाता है और रिश्ते में तनाव आ जाता है। किसी चीज को कैंसल करने के कारणों और पुनर्निर्धारण के प्रयासों के बारे में स्पष्ट बातचीत, गलतफहमी को कम कर सकता है।

2 एक-दूसरे को बेमन से सुनते नहीं हैं

हम अक्सर स्वस्थ कम्युनिकेशन या समझ के बिना अपने मित्र के दृष्टिकोण को मान लेते हैं। खुद से कुछ भी समझ लेना ग़लतफ़हमियां और तनावपूर्ण रिश्तों को जन्म दे सकता है। सक्रिय रूप से सुनना, सहानुभूति रखना और बात करना आपसी समझ और सम्मान को बढ़ावा देकर दूरियों को कम करता है। यह एक अच्छी दोस्ती का भी संकेत है।

3 जरूरत पड़ने पर ही दोस्तों के पास जाते हैं

किसी चीज की जरूरत होने पर ही दोस्तों के पास पहुंचने से उन्हें शोषण महसूस हो सकता है। यह दोस्ती में विश्वास और आपसी सहयोग को कमजोर करता है। लगातार बातचीत और बिना किसी गलत मतलब के साथ देने के लिए आगे रहने से रिश्ते के मूल्य की पुष्टि कर सकती है और आपसी सम्मान के आधार पर सच्चे संबंधों को बढ़ावा दे सकती है।

जब हम गलतियां करते हैं या दोस्तों को ठेस पहुंचाते हैं तो अपने कार्यों की जवाबदेही लेना आवश्यक है। चित्र अडोबी स्टॉक

4 इमोशनल ओवरबर्डन महसूस होना

दोस्तों की भावनाओं को जाने बिना उन पर अपनी भावनाओं को थोपने से उन्हें अनसुना महसूस हो सकता है। यह रिश्ते में असंतुलन और तनाव पैदा करता है। सक्रिय रूप से उनकी बाते सुनना, सहानुभूति, और भावनाओं को साझा करने आपके रिश्ते में एक मजबूती लाने का काम करता है। ये आपकी दोस्ती को एक अच्छी दिशा दे सकता है।

5 अपनी गलतियों की जवाबदेही न लेना

जब हम गलतियां करते हैं या दोस्तों को ठेस पहुंचाते हैं तो अपने कार्यों की जवाबदेही लेना आवश्यक है। यह रिश्ते के प्रति परिपक्वता, सम्मान और कमिटमेंट को दिखाता है। गलतियों को स्वीकार करना, ईमानदारी से माफी मांगना, और सुधार करना विश्वास का पुनर्निर्माण करता है, बंधन को मजबूत करता है, और ईमानदारी और सत्यनिष्ठा के आधार पर गहरे दोस्ती के रिश्ते को आगे बढ़ाने में मदद मिलती है।

ये भी पढ़े- Muskmelon ke fayde : हाइड्रेशन के साथ वेट लॉस भी करता है खरबूज़ा, जानिए इसके फायदे

संध्या सिंह

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख