लॉग इन

Insomnia : कई रात से लगातार नहीं सो पायी हैं, तो इन उपायों को आजमाकर अच्छी नींद ले सकती हैं

लगातार कई दिनों तक नींद नहीं आने की समस्या इनसोम्निया या अनिद्रा है। इससे छुटकारा पाने के लिए यहां हैं एक्सपर्ट के बताये उपाय। उपायों को अच्छी तरह जानने के बाद ही आजमायें। जल्दबाजी में अपनाने से स्वास्थ्य समस्या हो सकती है।
रोजमर्रा के जीवन की आदतों में साधारण बदलाव लाकर अनिद्रा से मुक्ति पाई जा सकती है। चित्र:शटर स्टॉक
स्मिता सिंह Published: 29 Sep 2023, 08:00 pm IST
ऐप खोलें

क्या आपको नींद नहीं आती है? क्या आपके लिए सोना मुश्किल है? ठीक से नहीं सोने के कारण आप सुबह बहुत जल्दी जाग जाती होंगी और फिर सो नहीं पाती होंगी। इससे आपको थकान भी महसूस हो सकती है। अनिद्रा यानी इनसोम्निया न केवल एनर्जी लेवल और मूड को प्रभावित कर देती है, बल्कि स्वास्थ्य, वर्क परफ़ॉर्मेंस और जीवन की गुणवत्ता (quality of life) को भी खराब कर सकती है। विशेषज्ञ बताती हैं कि अनिद्रा को कुछ उपाय अपनाकर दूर किया (how to beat insomnia) जा सकता है।

क्यों होती है अनिद्रा की समस्या (Insomnia Causes) 

कितनी नींद पर्याप्त है यह हर व्यक्ति में अलग-अलग होता है। औसतन हर वयस्क को रात में सात से आठ घंटे की नींद जरूरी है। कई बार कुछ लोगों को कुछ कारणवश अनिद्रा का अनुभव होता है, जो कई दिनों या हफ्तों तक रहता है। यह आमतौर पर तनाव या किसी दर्दनाक घटना के कारण होता है। कुछ लोगों को क्रोनिक इनसोम्निया होती है, जो एक महीने या उससे अधिक समय तक रहती है। अनिद्रा प्राथमिक समस्या है। इसके कारण शरीर में अन्य स्वास्थ्य समस्याएं पैदा हो सकती हैं। यह अन्य चिकित्सीय स्थितियों या दवाओं से भी जुड़ी हो सकती है।

यहां हैं अनिद्रा को दूर करने के 6 उपाय (6 Ways to beat Insomnia) 

थेरेपिस्ट भूमिका अपने इन्स्टाग्राम पोस्ट में बताती हैं, ‘किसी को भी रातों की नींद हराम करने की ज़रूरत नहीं है। वे रोजमर्रा के जीवन की आदतों में साधारण बदलाव लाकर अनिद्रा से मुक्ति पा सकते हैं। कुछ उपायों को अपनी रूटीन में शामिल (how to beat insomnia) करना होगा।

1 एसेंशियल आयल का प्रयोग (Using Essential Oil)

भूमिका के अनुसार, एसेंशियल आयल का प्रभाव सूदिंग होता है। यह दिमाग और शरीर को शांत करने में मदद करता है। वे एयरवेज को क्लियर करने और स्लीप एपनिया को रोकने ((Essential Oil prevent sleep apnea) में मदद करते हैं।

2 सुंगध युक्त मोमबत्ती जलाना (Burning Scented Candles)

मोमबत्तियां मन में शांति की भावना पैदा करती हैं। यह वातावरण को अधिक आरामदायक बनाकर दिमाग को शांत करने और बेहतर नींद लेने में मदद करती हैं। यदि किसी प्रकार की श्वास की बीमारी है, तो इससे बचें। साथ ही यह ध्यान रखें कि जहां आप कैंडल जलाने जा रही हैं, वहां पर्याप्त रूप से वेंटिलेशन की व्यवस्था हो।

3 माइंडफुलनेस (Do Mindfulness)

माइंडफुलनेस पूरी तरह से मौजूद रहने की बेसिक मानवीय क्षमता है। हमें इस बात से अवगत होना है कि हम कहां हैं और क्या कर रहे हैं। हमारे आसपास जो चल रहा है, उसके प्रति बहुत रिएक्टिव या भावुक नहीं होना है।
इसके दौरान ध्यान (Meditation), गहरी सांस लेने और विजुअलाइजेशन (visualization) से अपने दिमाग को आराम देने का प्रयास करना चाहिए। यह दिमाग को शांत करने में मदद करता है और नींद की समस्याओं को कम करता है।

माइंडफुलनेस दिमाग को शांत करने में मदद करता है और नींद की समस्याओं को कम करता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

4 एक कप हर्बल चाय पीयें (Drink a cup of Herbal Tea)

हर्बल चाय में ऐसे तत्व हैं, जो एंग्जाइटी और स्ट्रेस को दूर करने में मदद करते हैं। पोटेशियम, कैल्शियम, कैरोटीन और फोलेट जैसे मिनरल्स और विटामिन भी हर्बल टी में मौजूद होते हैं। जिंजर टी, केमोमोइल टी, हिबिस्कस टी जैसे हर्बल टी एंटी डिप्रेशेंट का काम करते हैं। ये बेहतर नींद को बढ़ावा देने में भी मदद करते हैं

5 सकारात्मक सेल्फ टॉक या आत्म चर्चा (positive self-talk)

खुद से बात करते समय पॉजिटिव रहना बहुत (how to beat insomnia) जरूरी है। अच्छी बातें और सकारात्मक विचार दिमाग को शांत करते हैं। सकारात्मक आत्म-चर्चा वास्तव में दिमाग से बुरे और नकारात्मक विचारों को साफ़ कर देता है। यह मन-मस्तिष्क को शांति प्रदान करने में मदद कर सकती है

अच्छी बातें और सकारात्मक विचार दिमाग को शांत करते हैं। चित्र : अडोबी स्टॉक

6 सोने से पहले स्क्रीन को एवोइड करें (Avoid screen before sleeping)

स्क्रीन से निकलने वाली नीली रोशनी पूरी रात आपको जगाए रख सकती है। यह मेलाटोनिन उत्पादन को रोकने के कारण हानिकारक (how to beat insomnia) हो सकती है। इसलिए, सोने से कम से कम 20 मिनट पहले अपनी सारे गैजेट्स को खुद से दूर रख दें।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़ें :- उम्र के साथ दिमाग को बूढ़ा होने से बचाना है, तो इन 5 उपायों को आज ही से आजमाएं

स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है। ...और पढ़ें

अगला लेख