लॉग इन

त्वचा पर एक्स्ट्रा ऑयल की समस्या से हैं परेशान, तो ये समर स्किन केयर टिप्स हैं आपके लिए

गर्मी में चेहरे पर चिपचिपाहट का सामना करना पड़ता है। इसके लिए लोग कई प्रकार के उपचार करते हैं, मगर समस्या हल नहीं हो पाती है। जानते हैं वो टिप्स जो ऑयली स्किन के बैलेंस का मेंटेन करने में है मददगार
सभी चित्र देखे
ऑयली स्किन की समस्या बढ़ने से पोर्स में ब्लॉकेज बढ़ जाती है। इससे एक्ने ब्रेकआउट यानि मुहांसों की समस्या का सामना करना पड़ता है। चित्र : अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Published: 25 Jun 2024, 08:00 am IST
ऐप खोलें

गर्मी के मौसम में चिपचिपी त्वचा की समस्या बढ़ने लगती है। दरअसल, स्वैटिंग के कारण चेहरे पर सीबम प्रोडक्शन बढ़ जाता है। ऐसे में ओपन पोर्स में धून मिट्टी जमा होने से ब्लैकहेड्स का सामना करना पड़ता है, जो मुहांसों का रूप ले लेते हैं। ऐसे में एक्ने से छेड़छाड़ दाग धब्बों का कारण बन जाते हैं। हांलाकि ऑयली स्किन के लिए लोग कई प्रकार के उपचार करते हैं, मगर समस्या हल नहीं हो पाती है। जानते हैं वो टिप्स जो ऑयली स्किन के बैलेंस का मेंटेन करने में है मददगार।

अमेरिकन अकेडमी ऑफ डर्माटोलॉजी एसोसिएशन के अनुसार ऑयली स्किन की समस्या बढ़ने से पोर्स में ब्लॉकेज बढ़ जाती है। इससे एक्ने ब्रेकआउट यानि मुहांसों की समस्या का सामना करना पड़ता है। हांलाकि ऑयली स्किन वाले लोगों की स्किन मोटी होती है, जिससे उन्हें चेहरे पर कम उम्र में झुर्रियों का खतरा नहीं रहता है। मगर साथ ही ज्यादा मात्रा में ऑयल स्किन के नेचुरल मॉइश्चर को इंबैलेस कर देता है। इससे त्वचा चिपचिपाहट महसूस होने लगती है।

ज्यादा मात्रा में ऑयल स्किन के नेचुरल मॉइश्चर को इंबैलेस कर देता है। इससे त्वचा चिपचिपाहट महसूस होने लगती है। चित्र : एडॉबीस्टॉक

जानें ऑयली स्किन से बचने के लिए किन टिप्स को फॉलो करें।

1. दिन में 2 से 3 बार फेसवॉश करें

नहाने के बाद अक्सर लोग शाम को घर लौटने पर ही चेहरे को वॉश करते है। इससे पोर्स में ऑयल और डस्ट जमा होने लगती है। इस समस्या से बचने के लिए चेहरे को सुबह, एक्सरसाइज़ के बाद, ऑफिस से लौटकर और सोने से पहले धोना न भूलें। चेहरे पर बार बार स्क्रबिंग को अवॉइड करना चाहिए। इससे स्किन इरिटेशन से बचा जा सकता है।

2. नॉन कॉमेडोजेनिक प्रोडक्ट्स का प्रयोग करें

वे लोग जिनकी स्किन ऑयली, कॉम्बीनेशन और एक्ने प्रोन है, उन्हें नॉन कॉमेडोजेनिक प्रोडक्ट का चयन करना चाहिए। दरअसल, इनका फॉर्म्युलेशन पूरी तरह से ऑयल फ्री होता है। इससे पोर्स के ब्लॉक होने का खतरा नहीं रहता है। वहीं नारियल का तेल, कोको बटर और शिया बटर ऑयली स्किन के पोर्स को ब्लॉक करती है।

वे लोग जिनकी स्किन ऑयली, कॉम्बीनेशन और एक्ने प्रोन है, उन्हें नॉन कॉमेडोजेनिक प्रोडक्ट का चयन करना चाहिए। चित्र : अडोबी स्टॉक

3. ऑयल और अल्कोहल बेस्ड क्लींजर को अवॉइड करें

वे लोग जिनकी त्वचा ऑयली है, उन्हें जेल बेस्ड क्लींजर का प्रयोग करना चाहिए। इससे स्किन इरिटेशन, बर्निग और सीबम सिक्रीशन से मुक्ति मिल जाती है। दरअसल, आयल और अल्कोहल बेस्ड क्लींजर में फैटी एसिड पाए जाते हैं। इससे स्किन पर ऑयली की समस्या ज्यों की त्यों बनी रहती है।

4. स्किन को मॉइश्चराइज़ करें

स्किन को ऑयल फ्री बनाने के लिए मॉइश्चराइज़ रखना ज़रूरी है। ऐसे में त्वचा को क्लीन करने के बाद तुरंत मॉइश्चराइजर अप्लाई करें। इससे स्किन का पीएच स्तर मेंटेन रहता है। साथ ही स्किन हाइड्रेटेड भी रहती है और लार्ज पोर्स की समस्या दूर होने लगती है। त्वचा की नमी को बनाए रखने के लिए नियमित रूप से इसका प्रयोग करें।

इन होम रेमेडीज़ से करें ऑयल स्किन की समस्या हल

1. चंदन पाउडर

कूलिंग प्रॉपर्टी रिच चंदन का पाउडर त्वचा पर सीबम सिक्रीशन का नियंत्रित करने में मदद करता है। इसके लिए 1 चम्मच चंदन पाउडर में आवश्यकतानुसार दूध और गुलाब जल की बूंदे मिलाकर चेहरे पर लगाएं और फिर 10 से 15 मिनट के बाद चेहरे को धो दें।

2. खीरे का रस

स्किन को हाइड्रेट और ऑयल फ्री रखने के लिए खीरे के रस में एलोवेरा जेल मिलाकर त्वचा पर लगाएं। इससे स्किन की नमी बरकरार रहती है और त्वचा की चिपचिपाहट को कम किया जा सकता है। इसे कॉटन की मदद से चेहरे पर लगा सकते हैं या स्प्रे बॉटल में डालकर इसका प्रयोग करें।

स्किन को हाइड्रेट और ऑयल फ्री रखने के लिए खीरे के रस में एलोवेरा जेल मिलाकर त्वचा पर लगाएं। चित्र : अडोबी स्टॉक

3. ओटमील और शहद

गर्मी के मौसम में त्वचा पर बढ़ने वाले ऑयल को रोकने के लिए ओटमील पाउडर में शहद मिलाकर चेहरे पर लगाएं। इससे स्किन मुलायम और हेल्दी रहती है। ओट्स में पाई जाने वाली विटामिन ई की मात्रा स्किन पर रैशेज, मुहांसों और दाग धब्बों को भी दूर करती है।

4. पुदीने की पत्तियां

ऑयली स्किन पर पुदीने का प्रयोग करने से अतिरिक्त ऑयल की समसया से मुक्ति मिलती है। पुदीने में मौजूद सैलिसिलिक एसिड एक्स्ट्रा ऑयल की समस्या को रेगुलेट कर एक्ने को रोकने में मदद करता है। इसके लिए मुट्ठी भर पुदीने की पत्तियों को धोकर उसमें एलोवेरा जेल को मिलाएं और चेहरे पर लगाकर छोड़ दें। कुछ देर बार चेहरे को धोएं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

ये भी पढ़ें- गर्मी में स्टिकी स्किन आपको इरिटेट कर रही है, एक डर्मेटोलॉजिस्ट से जानिए इससे बचने के उपाय

ज्योति सोही

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख