गर्भावस्था के दौरान पीठ और गर्दन के दर्द से जूझ रही हैं? ये 5 तरीके दिलाएंगे राहत

गर्भावस्था के दौरान गर्दन और पीठ दर्द के कई कारण होते हैं। असुविधा और दर्द को कम करने के लिए यहां विशेषज्ञ के बताए 5 तरीके दिए गए हैं।
प्रेगनेंसी के दौरान वॉक या हल्की फुल्की एक्सरसाइज की जानी चाहिए, चित्र: शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated on: 27 July 2022, 19:47 pm IST
ऐप खोलें

गर्भावस्था के दौरान आमतौर पर होने वाली समस्याओं में से एक पीठ और गर्दन का दर्द है। अनुमान है कि 50% से अधिक गर्भवती महिलाओं को किसी न किसी तरह के दर्द का अनुभव होता है। गर्भावस्था के किसी भी समय आपको पीठ या गर्दन में दर्द हो सकता है। हालांकि यह दर्द गर्भावस्था के अंतिम महीनों में होता है, खास तौर पर आखिरी 3 महीनों में। तब जब आपके स्वास्थ्य के लिए और भी कई चुनौतियां पैदा हो जाती हैं। इसलिए जरूरी है कि आप इनसे राहत पाने के उपाय जानती हों। 

गर्दन और पीठ में दर्द को गर्भावस्था का एक हिस्सा माना जा सकता है। पीठ दर्द आपकी दिनचर्या को बिगाड़ सकता है और नींद में बाधा डाल सकता है। चलिए जानें कि इस दर्द कारण और इससे निपटने के लिए आप क्या कदम उठा सकते हैं।

ये हैं गर्भावस्था के दौरान पीठ और गर्दन में दर्द के 4 कारण:

1. हार्मोनल परिवर्तन

गर्भावस्था के दौरान हार्मोन (एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन दोनों) के साथ-साथ रिलैक्सिन के स्तर में बदलाव आ सकता है, जो जोड़ों और स्नायुबंधन को आराम देने और प्रसव को आसान बनाने में मदद करता है। ये परिवर्तन मांसपेशियों और स्नायुबंधन की भार-वहन क्षमता को प्रभावित कर सकते हैं, जिससे यह दर्द हो सकता है।

2. पोजीशनल चेंज 

गर्भ के बढ़ते वजन के कारण, शरीर आगे की ओर बढ़ने लगता है, जिससे पीठ के निचले हिस्से की मांसपेशियों में खिंचाव आ सकता है और गर्भावस्था के दौरान पीठ में दर्द महसूस हो सकता है। वजन बढ़ने का अर्थ है मांसपेशियों, जोड़ों, पीठ और गर्दन पर अधिक दबाव पड़ना।

गर्भावस्था में नेक और बैक में होने वाला दर्काद आम है। चित्र : शटरस्टॉक

3. बार-बार चलना-फिरना

गर्भावस्था के दौरान लंबे समय तक एक ही स्थिति में रहने से मांसपेशियों में दर्द और स्ट्रेचिंग हो सकती है। जब आप गर्भवती हों तो, घूमने-फिरने, या हल्की फुल्की एक्सरसाइज से मांसपेशियां फ्लेक्सिबल रहेंगी। गर्भावस्था के बाद के दिनों में गर्दन में दर्द का कारण बन सकती है।

4. गलत पोश्चर

गर्भ के वजन के कारण लॉर्डोसिस (रीढ़ के निचले हिस्से के कर्व में झुकाव बढ़ता है)। इससे कमर दर्द और बढ़ सकता है ।

गर्भावस्था के दौरान पीठ और गर्दन के दर्द को रोकने के लिए अपनाएं ये 5 उपाय:

1. अपनी पोजीशन सुधारें

बैठने और खड़े होने के दौरान अपनी मुद्रा में बदलाव करके पीठ और गर्दन के दर्द से निपटा जा सकता है। अपनी पीठ को सीधा रखने की कोशिश करें और अपने पेट को अंदर खींचे। बिस्तर से उठते समय हमेशा एक तरफ मूव करें और फिर उठें। हील्स पहनने से बचें।

2. सक्रिय रहें

नियमित व्यायाम और गर्भावस्थाके लिए सुरक्षित वर्कआउट आपकी मांसपेशियों को स्ट्रेच  करने, आपके शरीर को आराम देने और तनाव को दूर करने में मदद करते हैं।

3. तकिये का इस्तेमाल करें

सक्रिय रहें, लेकिन इसके साथ ही अपने दोनों पैरों के बीच में एक तकिया रखकर अपने साइड्स को आराम करें। यह दर्द कम करने में भी मदद करेगा।

प्रेगनेंसी के दौरान गर्दन में होने वाले दर्द में मसाज रिलीफ का एक  बढ़िया तरीका को सकता है। चित्र-शटरस्टॉक

4. कोल्ड कंप्रेस

एक गर्म/ठंडा सेंक कुछ हद तक गर्दन और पीठ के दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। इसका नियमित अंतराल पर उपयोग किया जाना चाहिए क्योंकि यह आपकी मांसपेशियों को आराम देता है और वे रिलैक्स होती हैं। एक्यूपंक्चर भी दर्द को दूर करने का एक तरीका है।

5. मालिश

अपने शरीर के अंगों की मालिश करने से पीठ और गर्दन के दर्द के बढ़ने से रोकने में काफी मदद मिलती है। यह मांसपेशियों और ऊतकों की स्टिफनेस को कम करने में सहायक रहेगा। इसके अलावा, यह रक्त की आपूर्ति को रेगुलर करता है यही नहीं आपकी चिंता और तनाव को भी कम करता है।

चिकित्सीय सहायता

हालांकि पीठ दर्द एक सामान्य लक्षण है, लेकिन कुछ स्थितियां ऐसी होती हैं जहां चिकित्सा सहायता लेना आवश्यक है। यदि यह गंभीर है और घरेलू उपचार दर्द में  विफल होने लगते हैं, तो किसी भी प्रकार की जटिलता से बचने के लिए डॉक्टर से परामर्श करना ही ठीक है।

यह भी पढ़ें: ज्यादा उम्मीदें यानी ज्यादा तनाव, जानिए आप कैसे एक्सपेक्टेशन्स को कंट्रोल कर सकती हैं

 

लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story