लॉग इन

Aging : क्या एजिंग को रोकना संभव है? एक डर्मेटोलाॅजिस्ट से जानते हैं कितने कारगर हैं एजिंग हैक्स

कई कारक एजिंग के कारक बनते हैं। यदि आप एजिंग हैक्स अपनाकर बढ़ती उम्र के लक्षण दिकने पर लगाम लगाती हैं, तो आप पूरी तरह सफल नहीं हो सकती हैं। कुछ स्वस्थ आदतें अपनाकर इस काम में भले ही मदद ले सकती हैं।
अच्छे स्किन केयर रूटीन के साथ अपनी स्किन को ठीक कर सकते है। । चित्र : शटरस्टॉक
स्मिता सिंह Updated: 4 Dec 2023, 03:31 pm IST
इनपुट फ्राॅम
ऐप खोलें

हर किसी की इच्छा होती है कि वह उम्र बढ़ने के निशान को रोक ले। उसे देखने से उसकी उम्र का पता नहीं चले। सबसे बड़ी बात कि हर व्यक्ति हमेशा युवा और सुंदर बने रहना चाहता है। यही वजह है कि गूगल पर सबसे अधिक सर्च किये जाने वाले शब्दों में से एक है एजिंग हैक। इसके सर्च वॉल्यूम को देखते हुए स्वास्थ्य विशेषज्ञ सबसे अधिक एजिंग हैक पर ही सोशल साइट पर वीडियो और ऑडियो पेश करते हैं। एजिंग हैक विडियो देखने की संख्या करोड़ों में होती हैं। एक्सपर्ट से जानते हैं कि ये एजिंग हैक कितना काम करते हैं (aging hacks)।

क्या उम्र बढ़ने का समाधान है? (Solution of Aging)

उम्र बढ़ना हमारे डीएनए से ही निर्धारित हो जाता है। विशेषज्ञ लगातार दवाओं या अन्य उपचारों के माध्यम से मोलीकयूल्रर स्तर पर पर इसे घटाने के लिए तरीके तलाश रहे हैं। अभी तक किसी भी हैक के प्रभाव स्थायी नहीं हो पाए हैं। विशेषज्ञ आज भी यही कहते हैं कि स्वस्थ वजन बनाए रखना. नियमित रूप से व्यायाम करना। मजबूत सामाजिक रिश्ते बनाए रखना के साथ-साथ पीसफुल मैरीड लाइफ भी चेहरे पर एजिंग के प्रभाव को कम करने में मदद करते हैं।

स्किन एजिंग पर कितना कारगर हैक्स (Skin aging hacks)?

उम्र बढ़ने को पूरी तरह से रोका नहीं जा सकता। उम्र बढ़ने से रोकने में एजिंग हैक्स अधिक मदद नहीं कर सकते है। इसे धीमा जरूर किया जा सकता है। अच्छी नींद, सेक्स हार्मोन के स्तर को बनाए रखना, प्लांट बेस्ड फ़ूड ल ना और शारीरिक रूप से सक्रिय रहना भी हेल्दी एजिंग को बढ़ावा देते हैंस्किन पर उम्र बढ़ने के ज्यादातर निशान यूवी क्षति के कारण होती है। इससे सनस्क्रीन के नियमित उपयोग से बचाव किया जा सकता है।

कौन- कौन से कारक बन सकते हैं बुढ़ापा के कारण (Skin Aging Causes)?

बहुत अधिक या बहुत कम खाना, प्रोसेस्ड फूड्स पर निर्भर रहना, अधिक तनाव लेना और तनाव देना, पर्याप्त नींद न लेना ये सभी ऐसे कार्य हैं, जो उम्र बढ़ने में तेजी लाने वाले जीन को सक्रिय करके उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को तेज कर देते हैं। इससे हृदय रोग, ओबेसिटी के प्रति आप अधिक संवेदनशील हो सकते हैं। ऑस्टियोआर्थराइटिस और डिमेंशिया भी उम्र को बढ़ा सकते हैं।

प्रोसेस्ड फूड्स पर निर्भर रहने की आदत भी एजिंग बढ़ा सकते हैं। चित्र : अडोबी स्टॉक

कौन सी आदतें बढ़ाती हैं बुढ़ापा? (Which may cause aging)

समय से पहले उम्र बढ़ने के लक्षण दिखाई दे सकते हैं। ये अडल्ट एज के दौरान भी दिखाई दे सकते हैं। वे आमतौर पर पर्यावरण या जीवनशैली कारकों के कारण होते हैं। लंबे समय तक धूप में रहने से झुर्रियां पड़ने लगती हैं और त्वचा की उम्र बढ़ने लगती है। पर्याप्त एक्सरसाइज की कमी शरीर को अपूरणीय क्षति पहुंचा सकती है।

संतुलित आहार (Balanced food to prevent aging) 

व्यायाम की कमी से डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल, मोटापा, हृदय रोग आदि हो सकते हैं। काम के दबाव, लंबे समय तक बैठकर काम करने से तनाव बढ़ सकता है। तनाव से एजिंग दिख सकती है। कुछ मामलों में दुर्लभ सिंड्रोम समय से पहले बूढ़ा होने का कारण बनते हैं। त्वचा को सूरज के संपर्क से बचाने, स्मोकिंग नहीं करने, संतुलित आहार लेने और व्यायाम करने से भी स्किन एजिंग रुक (aging hacks) सकती है।

त्वचा को सूरज के संपर्क से बचाने और संतुलित आहार लेने से भी स्किन एजिंग रुक सकती है। चित्र : अडोबी स्टॉक

स्किन एजिंग से बचाव के उपाय (Tips to prevent skin aging) 

कोलेजन-आधारित फेस क्रीम आज़माएं। डार्क सर्कल के लिए कंसीलर का इस्तेमाल करें। अपनी आंखों का मेकअप सिंपल रखें। पलकों को कर्ल करें। रोजाना एसपीएफ़ वाले सनस्क्रीन लगाएं। मेकअप हटाने में समय लें। उचित मात्र में सादा पानी भी बेहद जरूरी है। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर फल और सब्जियां खाएं (aging hacks)। ड्राई फ्रूट्स, सीड्स और अनाज खाएं। ग्रीन ट्री, स्वास्थ्यवर्धक तेल लगायें। अन्हेल्दी फाइट और शुगर से बचें। शराब नहीं पीयें।स्किन को स्वस्थ और युवा रखें।

यह भी पढ़ें:- Oversleeping : ज्यादा सोना आपके दिल-दिमाग को कर सकता है बर्बाद, एक्सपर्ट बता रहे हैं इसके 6 स्वास्थ्य जोखिम

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है। ...और पढ़ें

अगला लेख