सर्दियों में बढ़ रही है कब्ज की समस्या, तो इन 5 फूड्स के सेवन से पाएं इससे छुटकारा

गर्मियों की तुलना में सर्दियों में कब्ज की समस्या ज़्यादा आम होती है। यह हमारी दैनिक आदतों में बदलाव के कारण हो सकता है। तो जानिए सर्दियों में आप किस तरह पा सकती हैं कब्ज की समस्या से छुटकारा।
सर्दियों में कब्ज के लिए 2 प्रभावी उपाय. चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 25 November 2022, 16:08 pm IST
ऐप खोलें

सर्दियों के मौसम में हमारा शरीर आलस से भर जाता है। हमें कोई भी काम करने का मन नहीं करता है। साथ ही, हमारी फिजिकल एक्टिविटी (physical activity) भी बिल्कुल बंद हो जाती है, क्योंकि ठंड में हमें बाहर जाने का मन नहीं करता है। साथ ही, हमारा वॉटर इंटेक (low water intake) भी कम हो जाता है। इसलिए सेहत से जुड़ी समस्याएं भी बढ़ जाती हैं, खासकर पाचन संबंधी। ऐसा इसलिए क्योंकि शारीरिक गतिविधि और पानी की कमी से सबसे ज़्यादा पाचन तंत्र पर फर्क पड़ता है, जिससे गैस अपच और कब्ज (constipation) जैसी समस्याएं हमें घेर लेती हैं।

ठंड के मौसम में कब्ज उन लोगों में भी आम है जिनका पाचन तंत्र हमेशा दुरुस्त रहता है। कब्ज तब होता है जब किसी व्यक्ति को एक सप्ताह में तीन बार से कम मल त्याग होता है या फिर मल त्याग करने में कठिनाई होती है। यह सब ज़्यादा चाय – कॉफी (tea – coffee) पीने की वजह से भी होता है। साथ ही, हम गर्म चीजों का ज़्यादा सेवन करते हैं जिससे आंतें शुष्क हो जाती हैं।

इसलिए सर्दियों में डाइट को सही रखना महत्वपूर्ण है। उन चीजों का सेवन करना ज़रूरी है जिसमें फाइबर, हर्ब्स, मसाले, गुड फैट, मौसमी फल और सब्जियां शामिल हों।

तो चलिये जानते हैं कि ऐसे कौन से फूड्स हैं जिन्हें आप अपनी विंटर डाइट (Winter Diet) में शामिल करके कब्ज से राहत पा सकती हैं। मगर उससे पहले जान लेते हैं कब्ज  के कुछ मुख्य कारण

क्या हैं कब्ज के मुख्य कारण

मेयो क्लीनिक के अनुसार जानिए क्या होते हैं कब्ज की समस्या से प्रमुख कारण

खानपान का ख्याल न रखना
ज़्यादा मसालेदार खाना खाना
फाइबर का सेवन न करना
तला हुआ खाना खाना
खराब मेटाबॉलिज़्म
बिगड़ा हुआ स्लीपिन पैटर्न
आलस
देर रात खाना खाना
ठंडा और सूखा खाना खाना, बिना किसी लिक्विड के

घी खाना है फायदेमंद चित्र:शटरस्टॉक

जानिए कब्ज से राहत पाने के लिए कुछ फूड्स

1. घी का सेवन रोजाना करें

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार घी पाचन तंत्र के लिए काफी फायदेमंद होता है और आपको कब्ज से राहत दिलाने में मददा कर सकता है। यह आंतों को ग्रीस करके मलत्याग को आसान बनाता है। यदि आप भी इसे अपने आहार में शामिल करना चाहती हैं तो रोज़ रात में दूध के साथ एक चम्मच घी लें। इसके अलावा, आप दाल में भी एक चमच देसी घी का तड़का लगाकर खा सकती हैं।

2. खजूर भी हैं फायदेमंद

आयुर्वेद विशेषज्ञ डॉ दीक्षा भावसार के अनुसार आहर में खजूर शामिल करने के कई फायदे हैं। यह शरीर में वात और पित्त को संतुलित करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, ये, हाइपरएसिडिटी, जोड़ों के दर्द, एंग्जाइटी, बालों के झड़ने और कम ऊर्जा से पीड़ित लोगों के लिए भी फायदेमंद हैं। इसलिए आप भी 2-3 भीगे हुए खजूर सुबह खाली पेट गर्म पानी के साथ लें।

3. गोंद का सेवन करें

गोंद का उपयोग कई तरह के लड्डू और हल्वे बनाने के लिए किया जाता है। एनवीबीआई के ऑनलाइन जर्नल के अनुसार यह एक प्राकृतिक रेचक है। इसलिए यह आपकी आंतों की अच्छी तरह से सफाई कर देगा। मशहूर सेलेब्रिटी पोषण विशेषज्ञ रुजुता दिवेकर की मानें तो गोंद का सेवन आपके पेट के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करेगा। यह हड्डियों को मजबूत करता है, इसलिए नई मां को गोंद के लड्डू बनाकर खिलाये जाते हैं। यह बड़ी आसानी से मार्केट में मिल जाता है इसलिए आप को ज़्यादा परेशान होने की भी ज़रूरत नहीं है।

सर्दियों में गोंद के लड्डू सेहत के लिए सबसे ज़्यादा फायदेमंद माने जाते हैं। चित्र : शटरस्टॉक

4. भीगे हुये किशमिश और अंजीर

भीगे हुये किशमिश और अंजीर दोनों ही पाचन तंत्र के लिए बेहद फायदेमंद हैं। इन्हें भिगोकर खाने से ये न सिर्फ कब्ज की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकती हैं बल्कि आपका खून भी बढ़ा सकते हैं। एनसीबीआई के अनुसार इनमें फाइबर की अच्छी मात्रा होती है।

किशमिश को भिगोना ज़रूरी है क्योंकि सूखे किशमिश आपके वात दोष को बढ़ाते हैं और गैस्ट्रिक समस्या पैदा कर सकते हैं। इसलिए भिगोने से इन्हें पचाना आसान हो जाता है।

5. पालक और साग

हरी सब्जियां खासकर कच्ची सब्जियां पाचन के लिए काफी फायदेमंद हैं। साथ ही, आपकी आई हेल्थ को भी बरकरार रखने में मदद कर सकती हैं। इनमें विटामिन A और फाइबर कि भरपूर मात्रा होती है जो पेट को अच्छे से साफ करने और डिटॉक्स करने के लिए लाभकारी है। इसलिए आहार में पालक और किसी भी तरह का साग ज़रूर शामिल करें।

यह भी पढ़ें : डायबिटीज से बचना है तो अपने आहार में शामिल कीजिए मुट्ठी भर काजू, हम बता रहे हैं इसके फायदे

लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story