बिना डाइटिंग या एक्सरसाइज के भी कम किया जा सकता है बेली फैट, हम बता रहे हैं कैसे

यह फैट जमा होने का सबसे जिद्दी एरिया है। कई बार टफ वर्कआउट के बाद भी आपको इससे निजात नहीं मिल पाती। पर जीवनशैली के कुछ जरूरी बदलाव बैली फैट से छुटकारा दिलाने में आपकी मदद कर सकते हैं।
जिद्​दी बेली फैट को बर्न कर सकता है कार्डियो एक्सरसाइज। चित्र: शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 21 October 2021, 17:00 pm IST
ऐप खोलें

वज़न घटाना और बेली फैट कम करना दो अलग चीज़ें हैं। पूरे शरीर का वजन कम करना आसान है। जबकि बेली फैट कम करना मुश्किल। ऐसे में अगर आप एक्सरसाइज़ रूटीन का सही से पालन नहीं करती हैं, तो पेट की चर्बी कम करना और भी मुश्किल हो सकता है।

अगर आपका भी शेड्यूल बहुत बिज़ी है और आपको एक्सरसाइज़ करने का ज़्यादा समय नहीं मिलता है तो, हम बता रहे हैं कुछ टिप्स जो आपका जिद्दी बेली फैट कम करने में मदद करेंगे।

चलिये जानते हैं कुछ टिप्स जिनका पालन करके आपको बेली फैट कम करने में मिल सकती हैं मदद

1 धीरे-धीरे खाएं और अपना खाना ठीक से चबाएं

अगर आप अपने पेट को कंट्रोल में रखना चाहती हैं तो एक बार में ज्यादा खाना न खाएं। जब भी आप खाना खा रही हों तो याद रखें कि धीरे-धीरे खाएं और खाना ठीक से चबाएं। यह आपके भोजन को अधिक कुशलता से तोड़ने में मदद करता है, जिससे आपके पेट में पचाना आसान हो जाता है। इसके अलावा, बेहतर पाचन लंबे समय तक बेहतर तृप्ति सुनिश्चित करता है।

धीरे-धीरे चबाकर खाना चाहिए। चित्र : शटरस्टॉक

2 अपना पॉर्शन साइज़ देखें

बड़े पॉर्शन में परोसा जाने वाला खाना आपको धोखा देकर यह विश्वास दिलाता है कि आप कम खाना खा रहे हैं। वास्तव में, आपका भोजन बस थोड़ा डिवाइडेड है, और आप अपनी आवश्यकता से अधिक भोजन ग्रहण कर लेते हैं। अपने पॉर्शन साइज़ को मैंटेन करने के लिए छोटे आकार की प्लेट लें और इसमें थोड़ा – थोड़ा खाना बार – बार खाएं।

3 खूब पानी पिएं

पानी हमारी वेट लॉस जर्नी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। अपने दिन की शुरुआत एक गिलास पानी पीने से करें। यह आपके शरीर के चयापचय को बढ़ावा दे सकता है और बदले में आपकी भूख को भी शांत करता है और आपको लंबे समय तक भरा हुआ रखता है। इसलिए दिन में थोड़ा – थोड़ा करके कई बार पानी पिएं।

पानी पीने से दिल के दौरे का खतरा होता है कम। चित्र-शटरस्टाक

4 अपने शुगर इंटेक को कंट्रोल करें

चीनी का अधिक सेवन आपके लिवर पर अतिरिक्त भार डालता है, जिससे वसा जमा हो सकती है। शाम 5 बजे के बाद मैदा, ब्रेड, व्हाइट राइस, केक और बिस्कुट जैसी रेगुलर शुगर का सेवन न करें। दिन ढलने के साथ आपका मेटाबोलिज़म भी कम होने लगता है। इसलिए अगर कुछ मीठा खाना है तो सुबह का समय बेहतर है।

5 बॉडी पॉस्चर का भी रखें ध्यान

चाहे आप ऑफिस का काम कर रही हों या कोई अन्य प्रकार का काम, अपनी मुद्रा पर नियंत्रण रखना महत्वपूर्ण है। अक्सर हम अपने पॉस्चर को नज़रअंदाज़ कर देते हैं, जिससे पेट बाहर की तरफ निकाल सकता है। एक अच्छी मुद्रा बनाए रखने से आपको अपने पेट की मांसपेशियों और बेली एरिया को भी इंगेज करने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें : सावधान! अभी और पैर पसार सकता है डेंगू, यहां हैं डेंगू के बारे में सबसे ज्यादा पूछे जाने वाले सवालों के जवाब

लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story