एंडोमेट्रियोसिस से ग्रसित महिलाओं को करना पड़ सकता है इन चुनौतियों का सामना 

भारत में 25 मिलियन से अधिक महिलाएं एंडोमेट्रियोसिस से पीड़ित हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि महिलाओं में होने वाली इस समस्या का निदान उनकी आयु के 30-40 वर्ष तक हो ही नहीं पाता है।
एंडोमेट्रियोसिस के कारण पीरियड पेन हो सकता है। चित्र:शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 13 July 2022, 22:13 pm IST
ऐप खोलें

मेंस्ट्रुअल पीरियड के दौरान, गर्भाशय की परत (एंडोमेट्रियम) महिलाओं के शरीर द्वारा बाहर निकल जाती है। इससे ही ब्लड फ्लो या पीरियड होता है। कभी-कभी बाहर निकला एंडोमेट्रियम फैलोपियन ट्यूब के माध्यम से पेल्विस की ओर निकलने लगता है। इसे प्रतिगामी माहवारी (retrograde menstruation) के रूप में जाना जाता है। इससे एंडोमेट्रियोसिस हो सकता है। इस समस्या से ग्रस्त महिलाओं को कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। इन्हीं सब के बारे में विस्तार से बता रहीं हैं स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. मनीषा सिंह।

ओपन फैलोपियन ट्यूब वाली किसी भी महिला में पीरियड के दौरान प्रतिगामी माहवारी बिल्कुल एक अलग तरह की प्रकृति है। लगभग 20-25 प्रतिशत महिलाओं में जेनेटिक प्रीडिस्पोजिशन और चेंज हुई इम्यूनोलॉजी के कारण यह विस्थापित एंडोमेट्रियम को ओवरी के टोपिक प्लेस में, सिस्ट के रूप में, यूटरस के पिछले हिस्से में, सिजेरियन सेक्शन के निशान, बेली बटन, नाक, या लंग्स में विकसित हो जाती है।

एंडोमेट्रियोसिस के कारण क्या-क्या कठिनाइयां होती हैं?

जब एंडोमेट्रियोसिस वाली महिला को हर महीने बाहर ब्लीडिंग होती है, तो उसके अंदर भी ब्लीडिंग होने लगती है। ज्यादातर मामलों में यह हेल्थ चेकअप, पेल्विक स्कैन या इन्फर्टिलिटी का पता लगाने के लिए किए जांच के दौरान इसके बारे में पता चलता है।

एंडोमेट्रियोसिस पेल्विस और ओवरी में शारीरिक विकृति पैदा कर सकता है। अंडाशय में एंडोमेट्रियल सिस्ट के बनने से सामान्य ओवेरियन टिश्यू संकुचित हो जाते हैं। इससे 25-30 प्रतिशत महिलाओं में इन्फर्टिलिटी की समस्या हो जाती है। जब शारीरिक संरचना बाधित हो जाती है, तो फिमेल पेल्विस में स्पर्म मोटिलिटी और एग-स्पर्म फर्टिलिटी में भी कमी आती है।

जागरूकता की जरूरत

एंडोमेट्रियोसिस सोसाइटी ऑफ इंडिया के अनुसार, भारत में 25 मिलियन से अधिक महिलाओं को एंडोमेट्रियोसिस प्रभावित करता है, जिनमें से अधिकांश का निदान उनके 30 या 40 के दशक तक नहीं किया जाता है।

सबसे प्रचलित लक्षण पीरियड पेन है। इसके बाद क्रोनिक पेल्विक पेन, पेनफुल इंटरकोर्स, पीरियड के दौरान स्टूल पास होने में दर्द होने का एहसास होता है, जिसे डिस्चेजिया कहा जाता है।

 एंडोमेट्रियोसिस यूरेटर और यूरिन में ब्लड के रूप में भी जाना जाता है। जिन लोगों को सिजेरियन सेक्शन के निशान में एंडोमेट्रियोसिस होता है, बच्चे के जन्म के दौरान वहां जमा टिश्यूज के कारण हर महीने सूजन हो सकती है।

इतना ही नहीं, एडेनोमायोसिस (गर्भ की मांसपेशियों में एंडोमेट्रियोसिस) बेहद दर्दनाक पीरियड का कारण बनता है। कुछ महिलाएं पीरियड के पहले कुछ दिनों के दौरान पूरी तरह से अक्षम हो जाती हैं, जिसके लिए पूर्ण बिस्तर पर आराम, गर्म पानी की थैलियां, और जीवन की गुणवत्ता के अन्य उपायों की आवश्यकता होती है। .

क्या रजोनिवृत्ति के बाद एंडोमेट्रियोसिस दूर हो जाता है?

मेनोपॉज होने पर स्थिति में सुधार हो सकता है। एस्ट्रोजन हार्मोन की कमी टिश्यूज को बढ़ने से रोकती है। हालांकि 2.2 प्रतिशत महिलाओं में मेनोपॉज मिजाज, योनि का सूखापन, गर्म फ्लश और रात को पसीना जैसे लक्षण पैदा करती है। हालांकि 2% महिलाओं में मेनोपॉज के बाद हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी और ओबेसिटी एंडोमेट्रियोसिस को बढ़ने की अनुमति दे सकता है।

क्या इसका इलाज संभव है? 

इसकी डायग्नोसिस एक्यूरेसी सीमित है। क्लिनिकल एग्जामिनेशन, योनि परीक्षण सहित, यदि किसी को एंडोमेट्रियोसिस होने का खतरा हो, तो नोड्यूल या एंडोमेट्रियोमा खोजने के लिए विचार किया जाना चाहिए। एंडोमेट्रियोसिस का निदान करने के लिए आमतौर पर अल्ट्रासाउंड, एमआरआई और लैप्रोस्कोपी का उपयोग किया जाता है।

रोगी की स्थिति की गंभीरता के आधार पर:

यदि कोई महिला गर्भधारण करना चाहती है, लेकिन उसके अंडाशय में सिस्ट हैं, तो उसे प्रजनन उपचार के बाद लैप्रोस्कोपिक सर्जरी करवानी पड़ सकती है। अगर सिस्ट छोटे हैं, तो सर्जरी की जरूरत नहीं है।

अगर वह दर्द से राहत की तलाश में है, तो प्रोजेस्टेरोन-डिराइव्ड पिल्स का उपयोग दर्द को दूर करने और जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए दैनिक आधार पर किया जा सकता है, क्योंकि वे या तो अवधि को धीमा कर देती हैं या रोक देती हैं, जिससे एंडोमेट्रियोटिक टिश्यूज की वृद्धि सीमित हो जाती है।

प्रोजेस्टेरोन-डिराइव्ड पिल्स पीरियड पेन को दूर कर सकता है। चित्र:शटरस्टॉक

एक बार अन्य सभी विकल्पों का पता लगाने के बाद ओवरीज को हटाने के साथ हिस्टरेक्टॉमी अंतिम उपाय है।

यहां पढ़ें:-इन 5 मुद्दों पर हर मां को करनी चाहिए अपनी टीनएजर बेटी से बात 

लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story