शहद शुद्ध है या मिलावटी, इन 4 तरीकों से आप घर पर ही कर सकती हैं चेक 

Published on: 4 July 2022, 21:02 pm IST
शहद ढेर सारी मेडिसिनल प्रॉपर्टीज से भरपूर है, लेकिन ये फायदे सिर्फ शुद्ध शहद से मिल सकते हैं। मिलावटी शहद में शामिल चीनी या चाशनी वजन बढ़ने का कारण बन सकती है।
शालिनी पाण्डेय
जानें असली और नकली शहद का अंतर। चित्र : शटरस्टॉक
ऐप खोलें

हम में से ज्यादातर लोग  शहद को रिफाइंड चीनी के हेल्दी विकल्प के रूप में इस्तेमाल करते हैं। शहद वसा रहित, कोलेस्ट्रॉल और सोडियम मुक्त होता है। साथ ही इसे अपनी सेहत से भरपूर गुणों के कारण प्रकृति का मीठा अमृत कहा जाता है। यह मीठा, चिपचिपा गाढ़ा तत्त्व हमारे लिए वाकई किसी अमृत से कम नहीं है। बहुत ज़रूरी है कि अगर आप स्वस्थ जीवनशैली के लिए शहद को अपनी डेली डाइट का हिस्सा बनाने के बारे में सोच रही हैं तो बेहतर है कि इसकी शुद्धता (how to check purity of honey) की जांच कर ली जाए।

क्यों शहद को कहा गया है अमृत?

शहद ज़रूरी पोषक तत्वों, खनिजों और विटामिन का भंडार है। शहद (honey in hindi) में मुख्य रुप में फ्रुक्टोज पाया जाता है। इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट, राइबोफ्लेविन, नायसिन, विटामिन बी-6, विटामिन सी और एमिनो एसिड भी पाए जाते हैं। एक चम्मच (21 ग्राम) शहद में लगभग 64 कैलोरी और 17 ग्राम शुगर (फ्रुक्टोज, ग्लूकोज, सुक्रोज एवं माल्टोज) होता है। शहद में फैट, फाइबर और प्रोटीन बिल्कुल भी नहीं होता है।

औषधि से कम नहीं है शहद 

शहद के औषधीय गुणों की बात करें तो यह अनगिनत बीमारियों के इलाज में उपयोगी माना जाता है। यही कारण है कि प्राचीन काल से ही शहद को औषधि माना गया है। त्वचा में निखार लाने, पाचन ठीक रखने, इम्युनिटी पॉवर बढ़ाने, वजन कम करने आदि के लिए शहद का उपयोग करते हैं। 

नकली शहद की जांच घर पर कैसे करें, चित्र: शटरस्टॉक

इसके अलावा शहद में एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जिसकी वजह से घाव को भरने में या चोट से जल्दी आराम दिलाने में भी यह बहुत कारगर है। पर शहद का सही लाभ पाने के लिए ज़रूरी है कि आपको पता हो कि शुद्ध या मिलावटी शहद के बीच अंतर कैसे करना है। 

शहद में मिलावट

शहद में अक्सर ग्लूकोज के घोल, उच्च फ्रुक्टोज कॉर्न सिरप और कई अन्य चीज़ों की मिलावट की जाती है। जिनके बारे में उपभोक्ताओं को जानकारी नहीं होती है। अगर आप बढ़िया असली शहद के बारे में जानना चाहती हैं, तो यह बिल्कुल आसान है और आप यह जांच घर पर भी कर सकती हैं चलिए जानें कैसे?

यहां हैं शहद की शुद्धता चेक करने के 4 आसान तरीके 

1 थम्ब टेस्ट

अपने अंगूठे पर थोड़ी मात्रा में शहद लगाएं, जांचें कि क्या यह किसी अन्य तरल पदार्थ की तरह फैल रहा है? यदि ऐसा है तो यह असली शहद नहीं है। असली शहद से मोटा एक तार बनेगा। शहद गाढ़ा होना चाहिए और यह टपकता नहीं है।

2 वाटर टेस्ट

एक गिलास पानी में एक चम्मच शहद डालें। अगर आपका शहद पानी में घुल रहा है तो वह नकली है। शुद्ध शहद की बनावट मोटी होती है, जो एक कप या गिलास के तल में जाकर जम जाती है।

 शहद कभी भी जलता नहीं। चित्र: शटरस्‍टॉक

3 सिरका टेस्ट 

सिरके के पानी में शहद की कुछ बूंदें मिलाएं। अगर मिश्रण से झाग आने लगे तो आपका शहद नकली है।

4 हीट टेस्ट 

शहद जलता नहीं है यानी इसमें आग नहीं लगती। हीट टेस्ट ट्राई करने के लिए माचिस की तीली को शहद में डुबोकर जलाएं। अगर यह जलता है, तो आपका शहद मिलावटी है।

ध्यान रखें कि शुद्ध शहद में एक खास मीठी सुगंध होती है और कच्चा शहद खाने पर आपको गले में सेंसेशन फील होती है।

यह भी पढ़ें:बारिश का मौसम कहीं आपके पेट पर भारी न पड़ जाए, याद रखें ये गट हेल्दी टिप्स

शालिनी पाण्डेय

Next Story