लॉग इन

Evening Snacks for Diabetes : डायबिटीज के मरीजों का ब्लड शुगर कंट्रोल रख सकते हैं ये 4 हेल्दी स्नैक्स

शाम का स्नैक्स डायबिटीज से पीड़ित लोगों को रात भर उनके ब्लड शुगर लेवल को स्थिर करने में मदद कर सकता है। मगर यह जरूरी है कि यह हेल्दी हो। हाई प्रोटीन और लो फैट वाला स्नैक्स मधुमेह के मरीजों के लिए फायदेमंद हो सकता है।
यदि किसी व्यक्ति को डायबिटीज है, तो उनके लिए हेल्दी ऑप्शन चुनना महत्वपूर्ण है। चित्र: अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Updated: 5 Apr 2024, 06:45 pm IST
ऐप खोलें

शाम का स्नैक्स डायबिटीज से पीड़ित लोगों को रात भर उनके ब्लड शुगर लेवल को स्थिर करने में
हाई फैट या सिंपल कार्ब वाले स्नैक्स हर किसी के लिए नुकसानदेह होता है। खासकर शाम के स्नैक्स या बेड टाइम वाले स्नैक्स। क्योंकि जैसे-जैसे दिन का समय आगे बढ़ता है, हमारी फिजिकल एक्टिविटी घटती जा सकती है। इसकी वजह से ली गयी कैलोरी बर्न नहीं हो सकती है। यह फाइट के रूप में शरीर में जमा हो सकता है। डायबिटीज के मरीज के लिए यह और भी नुकसानदेह हो सकता है। इसके कारण ब्लड शुगर लेवल बढ़ने का खतरा बना रहता है। इसलिए डायबिटीज के मरीज के लिए यह जानना जरूरी है कि उन्हें शाम का स्नैक्स (evening snacks for diabetes) लेना चाहिए या नहीं।

क्या डायबिटीज के मरीज ले सकते हैं इवनिंग स्नैक्स (Evening snacks for diabetics)

रात में हर किसी का ब्लड शुगर लेवल बदलता रहता है। टाइप 1 डायबिटीज या टाइप 2 डायबिटीज वाले लोगों में यह उतार-चढ़ाव सुबह के समय हाई ब्लड शुगर लेवल या हाइपरग्लेसेमिया का कारण बन सकता है। इवनिंग स्नैक या सोने से पहले देर रात का स्नैक्स ब्लड शुगर लेवल को संतुलित करने में मदद कर सकता है। यदि किसी व्यक्ति को डायबिटीज है, तो जरूरी नहीं कि उनके लिए शाम का स्नैक्स वर्जित है। उनके लिए हेल्दी ऑप्शन चुनना महत्वपूर्ण है।

नींद लाने में मदद कर सकता है (evening snacks for healthy sleep)

इवनिंग स्नैक्स या सोने से पहले लिया गया स्नैक्स नींद लाने में भी आपकी मदद कर सकता है। एक छोटा और संतुलित नाश्ता भूख के कारण रात में जागने से बचाने में मदद कर सकता है। इससे नींद खराब हो सकती है। नींद की कमी हंगर हार्मोन के उत्पादन को बाधित कर सकती है। इसके कारण जब आप जागती हैं, तो अधिक खाने लग सकती हैं।

शाम के भोजन के बाद भूख लगने पर पिएं पानी (drink water after dinner)

ईवनिंग स्नैक्स में अतिरिक्त कैलोरी होती है। इससे वजन बढ़ सकता है। यदि आप शाम के भोजन के बाद स्नैक्स लेती हैं, विशेष रूप से कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थ, तो आप अगली सुबह हाई ब्लड शुगर लेवल के साथ उठ सकती हैं। यदि आपको शाम के भोजन के बाद भूख लग रही है, तो पहले एक गिलास पानी पीने का प्रयास करें। कभी-कभी प्यास भी भूख जैसी ही लगती है। यदि इसके बावजूद भूख लग रही है, तो सबसे अच्छा विकल्प कम कार्बोहाइड्रेट और कम कैलोरी वाला स्नैक्स है। यह प्रोटीन या फाइबर में हाई होना चाहिए, जैसे कि ग्रीक योगर्ट या एक छोटी मुट्ठी ड्राई फ्रूट्स।

यहां हैं इवनिंग स्नैक्स के 4 हेल्दी विकल्प ( 4 healthy option of evening snacks for diabetes patient)

1 एवोकेडो के साथ होल व्हीट टोस्ट (whole wheat toast with Avocado snacks for diabetics)

एवोकाडो स्वाभाविक रूप से हाई फाइबर वाला है। यह हेल्दी फैट से भरा होता है, जो हार्ट और ब्लड शुगर के लिए अच्छा है। होल व्हीट ब्रेड के साथ खाने पर यह दो गुना फायदा देता है। साबुत अनाज का ब्लड शुगर पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। प्लांट बेस्ड प्रोटीन और ओमेगा-3 फैटी एसिड के लिए कुछ चिया सीड्स या ग्राउंड फ्लैक्स मिला सकती हैं। यह मेटाबोलिक सिंड्रोम डायबिटीज को कम करने में मदद करता है।

दही को मीठा करने के लिए उसमें स्ट्रॉबेरी, ब्लैकबेरी या ब्लूबेरी मिलाएं। चित्र- अडोबी स्टॉक

2 नेचुरल पीनट बटर के साथ साबुत अनाज की ब्रेड (whole grain bread with peanut butter snacks for diabetics)

हमेशा 100% साबुत अनाज वाली ब्रेड का उपयोग करन चाहिए। प्रति स्लाइस कम से कम 2 ग्राम फाइबर हो। इस पर बिना नमक या चीनी के नेचुरल पीनट बटर डालें। मूंगफली से तैयार मक्खन हेल्दी फैट और प्रोटीन से भरपूर होता है। जब इसे साबुत अनाज वाली ब्रेड के साथ मिलाया जाता है, तो यह कार्बोहाइड्रेट के पाचन को धीमा कर देता है। यह रात की भूख को कम करने में मदद कर सकता है। मूंगफली के मक्खन में मैग्नीशियम होता है, जो ब्लड शुगर नियंत्रित करने में मदद करता है।

3 ग्रीक योगर्ट के साथ बेरी (Berries with Greek yogurt snacks for diabetics)

ग्रीक योगर्ट में नियमित दही के मुकाबले दोगुना प्रोटीन, लेकिन आधा कार्बोहाइड्रेट होता है। दही बेहतर पाचन और हृदय स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है। सादा दही ही खाएं। एडेड शुगर ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकती है। दही को मीठा करने के लिए उसमें ब्लैकबेरी या ब्लूबेरी मिलाएं। इनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स अन्य फलों की तुलना में कम होता है। बेरी में फाइबर, एंथोसायनिन, एंटीऑक्सिडेंट भी हाई मात्रा में होते हैं। इसमें मौजूद डाइजेस्टिव एंजाइम पाचन को धीमा करने में मदद करते हैं।

दही को मीठा करने के लिए उसमें ब्लैकबेरी या ब्लूबेरी मिलाएं। चित्र : शटरस्‍टॉक

4 सब्जियों या फलों के साथ हम्मस (Hummus with vegetables or fruits snacks for diabetics)

हम्मस चने से बनता है, जो एक प्लांट बेस्ड प्रोटीन है। चना और बीन्स इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करने में मदद कर सकती हैं। एक्स्ट्रा फाइबर पाने के लिए इसे कई तरह की सब्जयों या मौसमी फलों के साथ मिला कर खाया (evening snacks for diabetes) जा सकता है।

यह भी पढ़ें :-  Dark chocolate benefits : भूख कंट्रोल कर वजन घटाने में मदद करती है डार्क चॉकलेट, यहां हैं इसके और भी फायदे

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है। ...और पढ़ें

अगला लेख