क्या नियमित सेक्स करने से मेनोपॉज़ की शुरुआत देर से होती है? आइए पता करते हैं

एक नए अध्ययन का दावा है कि अधिक सेक्स और मेनोपॉज़ के बीच एक संभावित संबंध है। लेकिन क्या यह सच है? चलिए पता करते हैं।
यौन इच्छाओं को जानने के लिए संचार जरूरी हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक।
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 19 September 2021, 20:00 pm IST
ऐप खोलें

मेनोपॉज बहुत सारी चुनौतियों के साथ आता है। कुछ महिलाओं के लिए इसके बाद सेक्स संबंध परेशानी भरे हो जाते हैं, जबकि कुछ प्रेगनेंसी के डर से फ्री होकर इसे और ज्यादा एन्जॉय करती हैं। पर कैसा हो अगर हम इस स्थिति को कुछ और साल आगे बढ़ा सकें? हैरान न हों, क्योंकि एक नए अध्ययन में मेनोपॉज और आपकी सेक्स लाइफ के बीच संबंध पाया गया है। आइए जानते हैं इस बारे में विस्तार से। 

क्या कहता है अध्ययन?  

रॉयल सोसायटी ओपन साइंस में प्रकाशित एक नए अध्ययन में यह भी दावा किया गया है कि जिन महिलाओं ने साप्ताहिक सेक्स किया था, उनमें जल्दी मेनोपॉज़ होने की संभावना मासिक सेक्स करने वालों की तुलना में 28 प्रतिशत कम होती है। 

इसके अलावा, निष्कर्षों से पता चला कि जिन महिलाओं ने मासिक रूप से सेक्स किया था, उनमें सेक्स न करने वाली महिलाओं की तुलना में मेनोपॉज़ अनुभव करने की संभावना 19 प्रतिशत कम थी। 

मेनोपॉज और सेक्स के बीच क्या कोई संबंध है ?

सबसे पहले, आइए जानते हैं सेक्स के बारे में। इसे संभोग,ओरल सेक्स, टच या सेल्फ-प्लेजर के रूप में परिभाषित किया जा सकता है। यद्यपि इस विषय पर अधिक शोध की आवश्यकता है। यह एक बड़ा अध्ययन है जिसका उद्देश्य केवल इस लिंक को स्थापित करना है।

हम में से ज्यादातर लोग जानते हैं, मेनोपॉज़ एक ऐसी अवस्था है जिसका सामना हर महिला अपने जीवन में करती है, लेकिन समय भी उसके जनेटिक्स (genetics) पर निर्भर करता है। लेकिन यह केवल एक पहलू है – मेनोपॉज़ की शुरुआती लक्षण भी जीवनशैली की आदतें जैसे धूम्रपान और एक महिला के अंडों की संख्या पर निर्भर करते हैं।

मेनोपॉज़ और सेक्शुअल ऐक्टिविटी एक दूसरे से संबंधित है। चित्र : शटरस्टॉक

शोध बताते हैं कि अविवाहित या तलाकशुदा महिलाओं की तुलना में विवाहित महिलाएं मेनोपॉज़ के चरण में बाद में पहुंचती हैं। जिससे पता चलता है कि सेक्स की बहुत बड़ी भूमिका है। ऐसा इसलिए है क्योंकि जब एक महिला यौन रूप से सक्रिय होती है, तो शरीर गर्भवती होने की संभावनाओं को खोजता है। 

अन्य मामलों में, यह ओव्यूलेशन को लगभग व्यर्थ पाता है। अगर कोई महिला नियमित रूप से  सेक्सुअल एक्टिविटी नहीं करती है, तो उसके शरीर को स्पष्ट संकेत नहीं मिलेंगे। इसे परिकल्पना (hypothesis) कहा जाता है। 

मीडिया के साथ साझा करते हुए अध्ययन लेखक मेगन अर्नोट कहते है, “ऊर्जा के मामले में ओव्यूलेशन एक भारी प्रक्रिया है और इसके कारण यह इम्युनिटी को कमजोर करता है। मध्य जीवन (midlife) के करीब आने पर, निरंतर ओव्यूलेशन और गर्भवती होने की संभावना के बीच असमंजस बना रहता है। यह एस्ट्रोजन (estrogen) के साथ जुड़ी कुछ संभावना है, लेकिन हम इसका सटीक मार्ग नहीं जानते हैं।” 

लगातार सेक्स हो सकता है लेट मेनोपॉज़ का कारण। चित्र:शटरस्टॉक

इसके अलावा, धूम्रपान न करने वाली और उच्च शिक्षा स्तर वाली महिलाओं को भी मेनोपॉज़ में देरी हो सकती है। 

लेकिन क्या कुछ और जानने की आवश्यकता है?

बेशक एक स्वस्थ सेक्स लाइफ के बहुत फायदे हैं, लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए कि आप हर समय सेक्स में व्यस्त रहें। वह भी सिर्फ मेनोपॉज़ में देरी करने के लिए। अभी के लिए, हम जानते हैं कि दोनों में एक लिंक है, लेकिन वास्तव में इससे जुड़ी और सच्चाई जानने के लिए अधिक शोध करने की आवश्यकता है। 

तो लेडीज , अगर आप चाहें तो सेक्स का आनंद लें, क्योंकि इससे जुड़े लाभ आपको जरूर मिलेंगे!

यह भी पढ़ें: बिस्तर पर डाउन फील करती हैं, तो स्टॉप-स्टार्ट की ये तकनीक कर सकती है आपकी मदद

लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story