जी हां.. आप मानसून में भी दही खा सकती हैं! जानिए दही को अपनी डाइट में शामिल करने के टिप्स

बरसात के मौसम में दही के बारे में लोग अकसर कन्फ्यूज रहते हैं। कुछ का मानना है कि मानसून में दही नहीं खाना चाहिए, जबकि कुछ इसके पोषण मूल्यों के कारण इसे आहार में शामिल करने की सलाह देते हैं।
प्रीबायोटिक्स वाले खाद्य पदार्थ जैसे-दही फार्ट को कम करने में मदद करता है। चित्र: शटरस्टॉक
ऐप खोलें

बरसात के मौसम में तला और मसालेदार खाना किसे पसंद नहीं? खासकर शाम को चाय-नाश्ते के वक़्त गर्मागर्म पकौड़े या समोसे सभी की पहली पसंद हैं! ऐसे में पाचन तंत्र संबंधी परेशानियां होना लाज़मी हैं।

बारिश के मौसम में संक्रमण या सर्दी-खांसी का खतरा ज्यादा रहता है। इसलिए, आयुर्वेद का मानना हैं कि ऐसे मौसम में खानपान पर विशेष ध्यान देना चाहिए और सोच समझकर खाना चाहिए! मगर क्या यह बात ‘दही’ पर भी लागू होती है?

हमें यकीन है आपने भी कई लोगों से सुना होगा कि बरसात के मौसम में दही का सेवन नहीं करना चाहिए। चलिए पता करते हैं क्या है सच्चाई?

बारिश और दही

आयुर्वेद के अनुसार बरसात के मौसम में दही से बचना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि इन महीनों के दौरान, वात बढ़ जाता है और पित्त का संचय स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म देना शुरू कर देता है।

जबकि चिकित्सा विज्ञान के अनुसार…इस मौसम में गट को हेल्दी रखना बेहद ज़रूरी है, ताकि आपका पाचन तंत्र सुचारू रूप से काम कर सके।

दही आपकी गट हेल्थ के लिए बहुत फायदेमंद होता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

इसलिए, पोषण विशेषज्ञ बरसात के मौसम में दही खाने की सलाह देते हैं, क्योंकि इसमें प्रोबायोटिक्स होते हैं, जो गट के लिए हेल्दी हैं। मगर, बरसात के मौसम में दही ताज़ा ही खाएं!

अब जानिए दही को अपनी डाइट में शामिल करने के तरीके

1. फ्रेश प्लेन दही

आप अपनी सुबह की शुरुआत एक कटोरी दही के साथ कर सकती हैं। सुबह के समय दही खाना आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। इस तरह आपका पाचन तंत्र पूरा दिन सही तरह से काम करेगा। दही में प्रोबायोटिक्स होते हैं, जो आपकी गट हेल्थ के लिए फायदेमंद हैं और यह कैलोरीज में भी कम होता है।

टिप : दही में कुछ केले और नट्स डालकर भी खा सकती हैं। अगर आप नाश्ते में परांठे खाने की शौकीन हैं, तो उसके साथ फीका दही परफेक्ट कॉम्बिनेशन है।

2. दही की छाछ

छाछ भी.. दही का सेवन करने का एक और बढ़िया तरीका है। यह एक रेफ्रेशिंग ड्रिंक है, खासकर मानसून के दौरान, जो आपकी पाचन संबंधी सभी समस्याओं का रामबाण इलाज है। भोजन के साथ छाछ का सेवन करने से खाना आसानी से पच जाता है और भारीपन की समस्या भी नहीं होती।

इस बार पुदीना छाछ ट्राय करें, स्वाद के साथ सेहत को भी फायदा होगा। चित्र : शटरस्टॉक

टिप : आप ताज़े दही की छाछ बनाकर उसमें भुना जीरा, काला नमक और पुदीना के पत्ते भी मिला सकती हैं। ये न सिर्फ इसके स्वाद को बढ़ाएगा, बल्कि पोषण भी प्रदान करेगा!

3. दही का रायता

भारतीय घरों में दही का रायता सदियों से बनता आ रहा है। खासकर जब भोजन थोड़ा ज्यादा मसालेदार हो तब दही का रायता पोषण के साथ – साथ राहत भी प्रदान करता है और खाने का स्वाद भी बढ़ाता है। आप अपने हिसाब से दही के रायते में कुछ भी मिला सकती हैं और इसे दोपहर के भोजन के साथ शामिल कर सकती हैं।

टिप : हमारी मानें तो, दही में प्याज, धनिया और टमाटर मिलाएं, यह हेल्दी है और टेस्टी भी!

यह भी पढ़ें : वेट लॉस के लिए परफेक्ट नाश्ता है रवा इडली, यहां है इसकी हेल्दी रेसिपी

लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
Next Story