जानिए क्यों विशेषज्ञ हमेशा करते हैं कोल्ड प्रेस्ड ऑयल की तारीफ, क्या हैं इसके फायदे

‘कोल्ड प्रेस्ड’, ये शब्द आपने बहुत सारे विज्ञापनों में सुना होगा। पर क्या है आखिर ये शब्द और इससे कुकिंग ऑयल के पोषण का क्या ताल्लुक है? आइए जानते हैं।
जानिए कोल्ड प्रेस ऑयल्स और रिफ़ाइन ऑयल्स के बीच का अंतर. चित्र : शटरस्टॉक
ऐप खोलें

जब कुकिंग ऑयल्स की बात आती है, तो किसी को नहीं पता कि उनके स्वास्थ्य के लिए सबसे ज़्यादा सही क्या है। मगर हर किसी को यह ज़रूर लगता है कि जिस तेल का भी वे इस्तेमाल कर रहे हैं, बहुत हेल्दी है। राइस ब्रैन ऑयल (Rice Brain Oil) से लेकर सनफ्लावर ऑयल (Sunflower Oil) तक आज मार्केट में कई तरह के कुकिंग ऑयल्स आ गए हैं और सभी हेल्दी होने का दावा करते हैं।

इसी के साथ – साथ आजकल लोग तेल चुनते समय एक और बात का ध्यान रखते हैं और है कि ऑयल रिफ़ाइंड है या फिर कोल्ड प्रेस्ड। ऐसा माना जाता है कि कोल्ड प्रेस्ड ऑयल (Cold Pressed Oil) रिफ़ाइंड ऑयल्स (Refined Oils) से ज़्यादा हेल्दी होते हैं और स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद भी। मगर क्या यह वाकई सच है? चलिये इस लेख के माध्यम से पता करते हैं।

तो सबसे पहले जानते हैं कि रिफाइंड ऑयल क्या हैं?

सोयाबीन, मक्का, सूरजमुखी आदि जैसे बीजों का तेल प्राप्त करने के लिए केमिकल ट्रीटमेंट और प्रोसेस किया जाता है। चूंकि ये तेल रिफ़ाइनिंग से प्राप्त होते हैं इसलिए इन्हें प्रोसेस करना पड़ता, जिसकी वजह से यह नैचुरल नहीं हैं।

रिफाइंड तेल लोकप्रिय हैं क्योंकि इस प्रोसेस से तेल ज़्यादा मात्रा में निकलता है, क्योंकि तेलों को बहुत अधिक तापमान पर गरम किया जाता है। इस तरह निकाले तेल की शेल्फ लाइफ भी लंबी होती है। जिसकी वजह से यह बाज़ार में सस्ते दामों पर व्यापक रूप से उपलब्ध हैं।

कोल्ड प्रेस्ड तेल रिफाइंड तेल से किस प्रकार अलग हैं?

यह एक ऐसी विधि है जिसमें नट्स या ड्राई फ्रूट्स को तब तक कुचला जाता है जब तक कि तेल प्राप्त न हो जाए। यह विशुद्ध रूप से एक यांत्रिक प्रक्रिया है और इसमें रासायनिक प्रक्रिया शामिल नहीं है।

कोल्ड प्रेससेड़ ऑयल्स के फायदे। चित्र : शटरस्टॉक

उदाहरण के लिए मूंगफली को सुखाया जाता है और फिर लकड़ी के प्रेस के बीच कुचल दिया जाता है। नारियल को खुला, सुखाया जाता है और फिर दबाया जाता है। सूरजमुखी के बीजों को भी इसी तरह हटा दिया जाता है। कोल्ड-प्रेस्ड ऑयल्स की इतनी सारी किस्मों के साथ, किसी एक को चुनना काफी तनावपूर्ण हो सकता है।

कोल्ड प्रेस्ड ऑयल के पोषक तत्व

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार कोल्ड-प्रेस्ड ऑयल्स फैटी एसिड, एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन E, विटामिन K, विटामिन C और अन्य स्वस्थ वसा से भरपूर होते हैं। ऐसा इसलिए, क्योंकि वे अपने शक्तिशाली पोषक तत्वों को सुरक्षित रखते हैं और प्राकृतिक रूप को बनाए रखते हैं। इस प्रकार, कोल्ड-प्रेस्ड ऑयल का सेवन सुरक्षित और स्वस्थ माना जाता है, खासकर गंभीर विकारों वाले लोगों के लिए।

प्रोसेसिंग के दौरान अत्यधिक हीट बीजों के शक्तिशाली यौगिकों को नष्ट कर देती है और एसिटिक एसिड, हेक्सेन और ब्लीचिंग सोडा जैसे रसायनों के साथ मिलकर पोषक तत्व खराब हो जाते हैं। कोल्ड-प्रेस्ड ऑयल का सेवन खराब कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप के स्तर को कम करके हृदय की रक्षा कर सकता है।

जानिए ऑर्गेनिक कोल्ड-प्रेस्ड ऑयल के फायदे

ये नॉन प्रोसेस्ड होते हैं, जिसका मतलब है कि इनमें कोई केमिकल्स नहीं होते हैं।

कीटनाशकों से बिल्कुल मुक्त जो यकीनन कार्सिनोजेनिक हैं।

विटामिन ई और सूक्ष्म पोषक तत्वों में उच्च जो हमारे समग्र कल्याण के लिए महत्वपूर्ण हैं।

ट्रांस-फैट से पूरी तरह फ्री।

यह एंटीऑक्सीडेंट से भी भरपूर हैं।

चूंकि इसे मैन्युअल रूप से फ़िल्टर किया जाता है, यह अधिक चिपचिपा होता है और स्वाद को पूरी तरह से बरकरार रखता है।

अंत में …..

सभी कोल्ड-प्रेस्ड ऑयल्स के अपने अलग फायदे हैं। हालांकि उनके स्वाद और उनकी सुगंध भिन्न हो सकती हैं, लेकिन ये सभी प्राकृतिक गुणों से भरपूर हैं। इसलिए, आप जिस भी कोल्ड-प्रेस्ड ऑयल को इस्तेमाल का फैसला करती हैं, यह जान लें कि आपको नट्स के पोषक तत्वों से भरपूर ऑयल मिल रहा है।

यह भी पढ़ें : गर्मियों में भी खाने हैं सूखे मेवे, तो जान लीजिए उन्हें खाने का सही तरीका

लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
Next Story