त्योहारों के इस मौसम में थोड़ी मिठास घोलने के लिए बनाएं सीताफल बासुंदी, जानिए इसकी आसान रेसिपी

अगर आप शरीफा, सीताफल या कस्टर्ड एप्पल की दीवानी हैं और इसे अपनी फेस्टिव थाली में एड करना चाहती हैं, तो हमारे पास आपके लिए एक मिठास भरी रेसिपी है।
जानिए हेल्दी और टेस्टी सीताफल बासुंदी रेसिपी हिन्दी में. चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 22 October 2021, 19:30 pm IST
ऐप खोलें

कस्टर्ड एप्पल (Custard Apple) जिसे “सीताफल” या ”शरीफा” के नाम से भी जाना जाता है, एक स्वादिष्ट फल है, जो काफी लोकप्रिय है। इस नरम और मलाईदार फल का छिलका सख्त होता है और यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है।

सीताफल कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है, क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट होते हैं और मैग्नीशियम और पोटेशियम जैसे पोषक तत्वों में उच्च होता है। इस फल की सबसे अच्छी बात यह होती है कि यह मीठा होने के बावजूद डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसका गलाइसेमिक इंडेक्स कम होता है।

करवाचौथ और दिवाली का त्योहार नजदीक है, ऐसे में हम आपके लिए लाए हैं सीताफल बासुंदी की रेसिपी (Sitafal Basundi Recipe) जो बेहद स्वादिष्ट और पौष्टिक है।

मधुमेह के खतरे को कम करने में फायदेमंद है शरीफा। चित्र : शटरस्टॉक

तो देर किस बात की, चलिये जानते हैं इसकी रेसिपी –

सीताफल की बासुंदी बनाने के लिए आपको चाहिए

डेढ़ लीटर दूध
एक बड़ा सीताफल / शरीफा
आधा कप ब्राउन शुगर या गुड़
केसर के 7 – 8 रेशे
बारीक कटे हुए सूखे मेवे – गार्निशिंग के लिए

सीताफल की बासुंदी बनाने की विधि

सबसे पहले सीताफल के बीज को हटाकर इसके गूदे को फ्रिज में रख दें। अब एक गहरे नॉन स्टिक पैन में दूध उबालें। आंच को धीमा रखें और लगातार चलाते हुए उबाल लें। जब तक कि यह अपनी मूल मात्रा से आधा न रह जाए।

अब इसमें ब्राउन शुगर या गुड़ और केसर डालें और अच्छी तरह मिलाएं। फिर इसे ठंडा करने के लिए अलग रख दें। सीताफल के गूदे को कांटे से मैश कर लें और दूध में डालकर अच्छी तरह मिला लें।

अब बासुंदी को सूखे मेवे (काजू, पिस्ता, बादाम आदि) से गार्निश करें और ठंडा करके परोसें!

नोट – अगर आपको डायबिटीज है तो आपको इसमें चीनी डालने की ज़रूरत नहीं है, यह बासुंदी अपने आप में हल्की मीठी होती है।

शरीफा या सीताफल के 3 स्‍वास्‍थ्‍य लाभ। चित्र- शटरस्टॉक।

जानिए आपके स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद है सीताफल की बासुंदी

1. पोषक तत्वों से भरपूर

यह विटामिन A, विटामिन B6, कॉपर, मैग्नीशियम और आहार फाइबर का एक समृद्ध स्रोत है। यह हृदय स्वास्थ्य को नियंत्रित करता है क्योंकि यह पोटेशियम, सोडियम और मैग्नीशियम से भरपूर होता है।

2. कोलेस्ट्रॉल को कम करे

यह फल फाइबर से भी भरपूर होता है और खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। यह आंत में कोलेस्ट्रॉल के अवशोषण को रोकता है। यह गठिया के खतरे को भी कम करता है।

3. हार्ट हेल्थ के लिए फायदेमंद

यह शरीर में रक्तचाप के उतार-चढ़ाव को नियंत्रित करने में मदद करता है। सीताफल में उच्च मैग्नीशियम सामग्री हृदय की मांसपेशियों को आराम देती है। इस प्रकार यह स्ट्रोक और दिल के दौरे को भी कम करता है।

यह भी पढ़ें : करवाचौथ 2021 : इन 6 पौष्टिक खाद्य पदार्थों के साथ हेल्दी बनाएं अपनी सरगी की थाली

लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
Next Story