लॉग इन

मीठे से परहेज है, तो भी ले सकते हैं संदेश का आनंद, नोट कीजिए इस बंगाली मिठाई की शुगर फ्री रेसिपी

मिठाईयां हम सभी को बहुत पसंद होती है। इन्ही मिठाईयों में से एक है बंगाल की बहुत प्रसिद्ध मिठाई संदेश। तो चलिए जानते है कि संदेश को शुगर फ्री कैसे बनाना है।
संदेश की उत्पत्ति भारत के बंगाल में हुई थी, जहां यह सदियों से बंगाली व्यंजनों और संस्कृति का एक हिस्सा रहा है। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 29 Mar 2024, 01:55 pm IST
Preparation Time 20 mins
Cook Time 20 mins
Total Time 40 mins
Serves 03
ऐप खोलें

भारत के बंगाल राज्य से आई, संदेश एक पारंपरिक भारतीय मिठाई है जो अपने स्वाद और संस्कृति के कारण बहुत प्रसिद्ध है। ये मुख्य रूप से दूध को फाड़ कर उसके छेने, चीनी से बनी होती है। इसे लोग बंगाल में डेजर्ट के बाद लेते है। लेकिन अगर आप भी संदेश के शौकीन है, लेकिन आपको भी मधुमेह है तो आज हम आपके लिए शुगर फ्री संदेश की रेसिपी लेकर आएं है।

“सोंदेश” नाम हिंदी शब्द “संदेश” से लिया गया है, जिसका अर्थ होता है कि “समाचार” या “संदेश”। इस मीठे का नाम परिवारों और दोस्तों के बीच उपहार के रूप में मिठाइयों या भोजन के आदान-प्रदान की बंगाली परंपरा के कारण पड़ा है, जो शुभकामनाओं और प्यार देने का तरिका है।

कहां हुआ संदेश का जन्म

संदेश की उत्पत्ति भारत के बंगाल में हुई थी, जहां यह सदियों से बंगाली व्यंजनों और संस्कृति का एक हिस्सा रहा है। इसका इतिहास इस क्षेत्र की समृद्ध शुद्ध परंपराओं से जुड़ा हुआ है, जो इसके सांस्कृतिक महत्व को दिखाता है। संदेश की सटीक उत्पत्ति के बारे में कहीं पर कुछ बताया नहीं गया है, लेकिन ऐतिहासिक रिकॉर्ड बताते हैं कि प्राचीन काल से बंगाल में इसका सेवन किया जाता था। इसको बनाने के लिए जिस मुख्य सामाग्री का इस्तेमाल किया जाता है वो छेना है।

मधुमेह है तो आज हम आपके लिए शुगर फ्री संदेश की रेसिपी लेकर आएं है। चित्र- अडोबी स्टॉक

संदेश में एक और सामाग्री को मिलाया जाता है किसी शक्कर कहा जाता है ये पीसी हुई चीनी होती है। लेकिन अगर आप डायबिटीज का शिकार है तो आपको ये मिठाई खाने में परेशानी हो सकती है। इसलिए आज हम आपके लिए शुगर फ्री संदेश की रेसिपी लेकर आएं है। जो आपके शुगर लेवल को नहीं बढ़ाएगी।

इस मिठाई के कई अलग अलग प्रकार होते है जिसमें से कई संदेश चीनी से तो कई संदेश गुड़ का इस्तेमाल करके भी बनाएं जाते है। संदेश मीठा होता है और इसे चीनी या गुड़ और छेने के साथ बनाया जाता है। संदेश के एक टुकड़े में 150 से 200 कैलोरी हो सकती है।

चलिए जानते है आप शुगर फ्री संदेश कैसे बना सकते है

संदेश बनाने के लिए आपको चाहिए

छेना या पनीर 2 कप
शुगर-फ्री स्वीटनर 1/2 कप (जैसे, स्टीविया, एरिथ्रिटोल, मॉन्क फ्रूट स्वीटनर)
इलायची पाउडर 1/2 चम्मच
केसर के कुछ धागे
गार्निश के लिए ड्राई फ्रूट

शुगर फ्री संदेश की रेसिपी जो आपके लिए हेल्दी है। चित्र- अडोबी स्टॉक

ऐसे बनाएं शुगर फ्री संदेश

  1. सबसे पहले छेना को अपने हाथों से बारीक तोड़ लें या आपके पास पनीर है तो इसे फूड प्रोसेसर में डालकर चिकना होने तक पीस लें।
  2. क्रम्बल किए हुए छेना को एक नॉन-स्टिक पैन में डालें और धीमी आंच पर लगभग 5-7 मिनट तक लगातार चलाते हुए पकाएं। यह छेना से अतिरिक्त नमी को हटाने में मदद करता है।
  3. जब छेना पक जाए तो इसे आंच से उतार लें और थोड़ा ठंडा होने दें।
  4. छेना के मिश्रण में शुगर-फ्री स्वीटनर, इलायची पाउडर और केसर के धागे मिलाएं। सब कुछ अच्छी तरह से मिल जाने तक अच्छी तरह मिलाएं।
  5. मिश्रण को वापस धीमी आंच पर रखें और लगातार हिलाते हुए 3-5 मिनट तक पकाएं। इससे सभी चीजें आपस में मिक्स हो जाएगी। इसके बाद इसे उतार लें।
  6. मिश्रण को थोड़ा ठंडा होने दें। फिर, इसे छोटे भागों में बांट लें और उन्हें गोल या अपनी पसंद के कोई भी आकार दें।
  7. संदेश को परोसने से पहले कम से कम 1-2 घंटे के लिए फ्रिज में रखें ताकि वह जम जाए और ठंडा हो जाए।

ये भी पढ़े- आर्मपिट फैट बर्न करने के लिए इन 4 एक्सरसाइज़ को करें रूटीन में शामिल, मिलेगी बाजूओं की मांसपेशियों को मज़बूती

संध्या सिंह

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख