आपकी शुगर क्रेविंग्स को हेल्दी तरीके से दूर करने के लिए ट्राई करें कमल गट्टे का हलवा

आपने सूजी बेसन और आटे का हलवा तो कई बार खाया होगा। हम सभी को यह बहुत पसंद होते हैं और छोटी - छोटी शुगर क्रेविंग के लिए परफेक्ट है। मगर, क्या कभी आपने कमल गट्टे का हलवा खाया है? यदि नहीं तो आज ही ट्राई करें घर पर इसकी रेसिपी।
ट्राई करें हेल्दी कमाल गट्टे का हलवा. चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 13 August 2022, 08:00 am IST
ऐप खोलें

आपने कमल ककड़ी देखी होगी। आजकल बाज़ार में इससे बनी कई तरह की चीज़ें देखने को मिलती हैं – जैसे की चिप्स। कमल गट्टे के चिप्स वाकई में स्वाद और सेहत से भरपूर होते हैं। ठीक इसी तरह कमल गट्टे की बीज भी पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। इतना ही नहीं, कमल ककड़ी के बीज भी बहुत फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

इसलिए आज हम आपके लिए लाएं हैं कमल गट्टे के बीज से बने हलवे की रेसिपी। देखने में किसी मामूली लकड़ी की तरह दिखने वाला कमल गट्टा स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। कमल गट्टे से बना हलवा हेल्दी है क्यूंकी इसमें चीनी के बजाय कोकोनट शुगर का इस्तेमाल किया गया है।

तो चलिये फटाफट जा लेते हैं इसकी रेसिपी

कमल गट्टे का हलवा बनाने के लिए आपको चाहिए

1 किलो टूटे हुए कमल के बीज
400 ग्राम घी
200 ग्राम चीनी
50 ग्राम बादाम
25 ग्राम पिस्ता

कमल गट्टे का हलवा बनाने के की विधि

टूटे हुए कमल के बीजों को ठंडे पानी में कम से कम 12 घंटे के लिए भिगो दें। ऊपर से सख्त काली त्वचा को हटा दें और हरी त्वचा को बीज से छील लें। इन्हें बहते पानी में अच्छी तरह धो लें और एक मिक्सी की मादद से बारीक पेस्ट बना लें।

एक मोटे तले की कढ़ाई में घी गरम करें (लोहे के बर्तन में नहीं, नहीं तो हलवा काला हो जाएगा).

कमल के बीज का पेस्ट डालें और धीरे-धीरे गुलाबी होने तक पकाते रहें। अब आप मिश्रण से अतिरिक्त घी निकाल सकती हैं।

इसके बाद फिर कोकोनट शुगर और 500 ml पानी की चाशनी बना लें। इसे चाशनी डालकर तब तक पकाएं जब तक कि हलवा गाढ़ा और अच्छे से पक न जाए।

कटे हुए बादाम और पिस्ते से सजाएं। गर्म – गर्म परोसें।

आपके स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद है कमल गट्टा

पाचन में सुधार करे

कमल के पौधे के बीज पोषक तत्वों और फाइबर से भरपूर होते हैं। यह पाचन में सुधार करने में मदद करने के लिए गैस्ट्रिक जूस के स्राव को बढ़ाकर काम करता है। कमल गट्टा मल त्याग को सुचारू करने में मदद करता है।

हृदय स्वास्थ्य में सुधार करे

एनसीबीआई के अनुसार कमल गट्टा हार्ट हेल्थ के लिए फायदेमंद है। यह आपके मैग्नीशियम के स्तर में सुधार कर सकता है, जिससे कोरोनरी हृदय रोगों के जोखिम को कम किया जा सकता है।

रक्तचाप को बनाए रखने में मदद करे

कमल गट्टा आयरन और पोटेशियम से भरपूर होता है। यह दोनों खनिज स्वस्थ रक्तचाप का समर्थन करने में मदद करने के लिए जाने जाते हैं। ये रक्तप्रवाह में अतिरिक्त सोडियम के स्तर को भी रोकते हैं और रक्तचाप को और नियंत्रित करते हैं।

यह भी पढ़ें : प्रोटीन और फाइबर के लिए ही नहीं गट और हार्ट हेल्थ के लिए भी करें सोया को डेली डाइट में शामिल

लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
Next Story