गाजर की गुडनेस का मज़ा लेना है, तो इस मौसम में बनाइए गाजर का मुरब्बा, नोट कर लीजिए आसान रेसिपी

सलाद को मिठास और खास रंगत देने वाली गाजर सर्दियों का सुपरफूड है। अगर आप इसकी मिठास और बढ़ाना चाहती हैं, तो इसे मुरब्बे के रूप में ट्राई कीजिए।
गाजर अपने आप में बहुत हेल्दी है। चित्र : शटरस्टॉक
अदिति तिवारी Updated on: 18 December 2021, 13:00 pm IST
ऐप खोलें

भारतीय खाने में मुरब्बा अचार की ही तरह लोकप्रिय है। खासतौर से बच्चे इसे बड़े शौक से खाते हैं। आम से लेकर आंवला तक, मुरब्बा संतुलित आहार को पूरा करता है। इसलिए आपके मुरब्बे की लिस्ट में एक और अनोखी और हेल्दी रेसिपी जोड़ने के लिए हम बता रहें है गाजर का मुरब्बा। गाजर अपने आप में बहुत हेल्दी है। सर्दियों में पराठा, पुलाव से लेकर मीठा बनाने तक, गाजर का उपयोग किया जाता है। गाजर को एक नए स्वाद और ट्विस्ट के साथ खाने के लिए जानिए इस मुरब्बे की आसान रेसिपी।

सेहत के लिए औषधि से कम नहीं है गाजर का मुरब्बा 

गाजर के मुरब्बे को एक सुपरफूड माना जाता है। इसका नियमित सेवन आपको सर्दियों की कई बीमारियों से बचा सकता है। यह टेस्टी होने के साथ आपकी सेहत के लिए हेल्दी भी है। जानिए गाजर का मुरब्बा के स्वास्थ्य लाभ। 

पोषक तत्वों से भरूपूर होती हैं गाजर। चित्र: शटरस्‍टॉक

कैंसर से करे सुरक्षा 

एंटीऑक्सीडेंट (antioxidant) आपके शरीर में हानिकारक मुक्त कणों (free radicals) से लड़ने के लिए सिद्ध हुए हैं, और इससे आपको कैंसर होने की संभावना कम हो सकती है। गाजर में दो मुख्य प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट कैरोटीनॉयड (carotenoid) और एंथोसायनिन (anthocyanin) होते हैं। यह आपको कैंसर से बचाने में मदद करते हैं। 

एजिंग की प्रक्रिया को धीमा करता है

यह मुरब्बा एजिंग प्रोसेस को धीमा कर सकता है। गाजर में मौजूद बीटा- कैरोटीन मेटाबॉलिज्‍म के माध्यम से शरीर द्वारा किए गए सेलुलर क्षति के लिए एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करता है। इससे आपकी स्किन लंबे समय तक जवां नजर आएगी। 

दिल को रखे स्वस्थ 

सबसे पहले, गाजर के सभी एंटीऑक्सीडेंट आपके दिल के लिए भी अच्छे हैं। दूसरा, इसमें मौजूद पोटेशियम आपके रक्तचाप को नियंत्रित रखने में मदद कर सकता है। और तीसरा, उनमें फाइबर होता है, जो आपको स्वस्थ वजन पर रहने और हृदय रोग की संभावना को कम करने में मदद कर सकते हैं।

दिल की सेहत के लिए फायदेमंद है गाजर का मुरब्बा। चित्र: शटरस्टॉक

पाएं स्पॉटलेस और ग्लोइंग स्किन 

गाजर का मुरब्बा त्वचा के लिए कमाल का साबित हो सकता है। यह एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन ए से भरा होता है, जो त्वचा को सूरज की क्षति से बचाने के लिए सुरक्षा कवच की तरह काम करता है। विटामिन ए की कमी से त्वचा, बाल और नाखून सूख जाते हैं। आप समय से पहले बूढ़े होने लगते हैं। चेहरे पर झुर्रियां, ड्राई स्‍किन, झाइयां और मुंहासे दिखने लगते हैं। लेकिन यदि आप नियमित रूप से गाजर के मुरब्बे का सेवन करते हैं, तो इन परेशानियों से जल्दी निजात मिल सकता है। 

आंखों की रोशनी बढ़ाए  

यह गाजर की सबसे प्रसिद्ध महाशक्ति है। वे बीटा-कैरोटीन में समृद्ध हैं, जो आपकी आंखों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। बीटा-कैरोटीन आपकी आंखों को धूप से बचाने में भी मदद करता है और मोतियाबिंद और आंखों की अन्य समस्याओं की संभावना को कम करता है।

गाजर मुरब्बा बनाने की सामग्री 

  1. गाजर- 500 ग्राम
  2. ब्राउन शुगर- 250 ग्राम
  3. पानी- 1.25 कप
  4. इलायची पाउडर- ½ छोटा चम्मच
  5. केसर के धागे- 1 चुटकी

नोट कीजिए गाजर के मुरब्बे की रेसिपी 

गाजर को धोकर छील लें। गाजर का मुरब्बा बनाते समय, कोमल रसदार गाजर का प्रयोग करें न कि सख्त या रेशेदार गाजर का। साथ ही पतली गाजर भी लें क्योंकि उन्हें पकने में कम समय लगता है।

एक कांटा के साथ गाजर के चारों ओर छेद कर दें। एक बड़े कांटे का उपयोग करें ताकि छेद थोड़े गहरे हों, तब गाजर अधिक चीनी की चाशनी सोख लेगी। गाजर को लंबे और हल्के मोटे आकार में काट लें।

कुछ गाजर बीच से पीले रंग की हो सकती हैं। पीले रंग के इस हिस्से को हटा दें।

चलिए तैयार करते हैं गाजर का मुरब्बा 

  1. गाजर को मध्यम आकार के मोटे तले वाले बर्तन या पैन में लें। आप एक भारी कड़ाही भी ले सकते हैं।
  2. उसमें चीनी और पानी डालें। इसे मिलाते रहें ताकि सारी चीनी घुल जाए।
  3. पैन को धीमी से मध्यम आंच पर रखें और इस मिश्रण को उबालना शुरू करें।
  4. ध्यान रहे पैन को किसी भी ढक्कन से न ढकें। बीच बीच में चेक करते रहें कि गाजर कब पक रही है।
  5. गाजर अपना रस छोड़ देगी और मिश्रण पानी जैसा दिखने लगेगा। हालांकि अभी भी उबाल जारी है।
  6. कुछ मिनट तक उबालने के बाद गाजर भी लगभग पक कर तैयार हो जाएगी।
  7. एक बार जब गाजर लगभग पक जाए या नरम हो जाए, तो मिश्रण को उबालना जारी रखें।

यह भी पढ़े : फिटनेस फ्रीक्स सावधान! यहां हैं कुछ स्मूदी कॉम्बीनेशन जो टॉक्सिक हो सकते हैं

लेखक के बारे में
अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
Next Story