आयुष मंत्रालय ने बताई कोविड से सुरक्षा की रणनीति, इन चीजों को बनाएंं अपने डेली रुटीन का हिस्सा

कोरोना वायरस संक्रमण चारों तरफ फैल चुका है। ऐसे में आपको क्या करना चाहिए? गुगल पर सबसे ज्यादा पूछे जाने वाले इस सवाल का जवाब दे रहा है आयुष मंत्रालय।
मंत्रालय द्वारा जारी नई गाइडलाइंस में इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए कुछ हैक्स दिए गए हैं। चित्र : शटरस्टॉक
अक्षांश कुलश्रेष्ठ Published on: 15 January 2022, 15:30 pm IST
ऐप खोलें

कोरोना वायरस संक्रमण महामारी की तीसरी लहर फरवरी से आने की आशंका जताई जा रही थी। हालांकि जिस प्रकार संक्रमण के मामले लाखों में बढ़ रहे हैं, इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि जनवरी के महीने में ही कोरोना की तीसरी लहर चरम पर पहुंच सकती है। रोजाना बढ़ रहे मामले जनता के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग और वैज्ञानिकों की चिंताएं भी बढ़ा रहे हैं, क्योंकि दूसरी लहर में देश का जो हाल हुआ उससे हर कोई वाकिफ है। अगर आप भी इन हालात में घबराने लगे हैं, तो धैर्य रखें। आयुष मंत्रालय बता रहे हैं ऐसे में हालात में कोविड से सुरक्षित रहने के उपाय। 

सर्दियों का मौसम और कोविड की तीसरी लहर 

ठंड का यह मौसम वैसे ही आम सर्दी- जुकाम के लिए जाना जाता है और इसके लक्षण भी कुछ ओमिक्रोन जैसे ही हैं। जिससे संक्रमण और फ्लू में अंतर समझना मरीजों के लिए मुश्किल हो रहा है। ऐसे में एक केंद्रीय आयुष मंत्रालय द्वारा आपके लिए सुरक्षा रणनीति जारी की गई है, जो आपको संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करने में मदद करेगी।

मंत्रालय द्वारा जारी नई गाइडलाइंस में इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए कुछ हैक्स दिए गए हैं।

पर पहले आयुष मंत्रालय की इस बात पर करें गौर 

आयुर्वेदिक हर्ब्स कोरोना से जीतने में कर सकते हैं आपकी मदद। चित्र : शटरस्टॉक

सुरक्षा रणनीति जारी करते हुए आयुष मंत्रालय द्वारा कुछ अहम बातें कही गई हैं, जिन्हें जानना और समझना सभी के लिए जरूरी है। इसमें बताए गए सभी उपाय कोरोना के एप्रोप्रिएट बिहेवियर के अंतर्गत आते हैं। उपाय का अर्थ यह नहीं है कि आपको पूरी तरह से संक्रमण से बचा लेगा। 

आपको कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। जिसमें मास्क लगाना, हाथों को अच्छी तरह से धोना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना, कोरोना का टीका लगवाना शामिल है। मंत्रालय द्वारा जारी किए गए सभी उपाय आपको इम्युनिटी बढ़ाने में सहायता प्रदान करेंगे। जो कोरोना से लड़ने में काफी अहम हैं।

शोध अध्ययनों के आधार पर जारी किए गए उपाय 

निर्देश जारी करते हुए आयुष मंत्रालय द्वारा कहा गया कि कोरोना के खिलाफ इम्यूनिटी और प्रोफिलैक्सिस में सुधार के लिए MOA (Ministry of Ayush) द्वारा कई चिकित्सा संस्थानों के साथ सहयोग में अध्ययन किया गया। ये सभी सुरक्षा उपाय गहन अध्ययन और विश्लेषण के बाद सामने आए हैं। 

जानिए क्या है आयुष मंत्रालय द्वारा बताए गए कोविड-19 सुरक्षा उपाय 

आयुष मंत्रालय द्वारा 3 चरणों में उपाय साझा किए गए हैं जिसमें आयुर्वेदिक इन्वेंशन, कुछ आयुर्वेदिक क्लासिकल लिटरेचर और कुछ आम आयुर्वेदिक दवाइयां व उपाय शामिल हैं।

आयुर्वेदिक डॉक्टर की सलाह पर इन चीजों का कर सकते हैं सेवन

  1. रोजाना सुबह खाली पेट 20 ग्राम च्यवनप्राश गर्म पानी के साथ खाने से बढ़ती है इम्यूनिटी।
  2. गर्म पानी के साथ अश्वगंधा का सेवन करना भी इम्युनिटी के लिए काफी फायदेमंद है।
  3. इसके अलावा आप हर्बल काढ़ा भी बना सकते हैं। यह भी आपकी इम्यूनिटी के लिए काफी लाभदायक है। काढ़ा बनाने के लिए 3 ग्राम तुलसी, दालचीनी, सोंठ, काली मिर्च होना जरूरी है। इसके अलावा आप स्वाद के लिए मुनक्का या गुड़ भी शामिल कर सकते हैं।

ध्यान रहे कि ऊपर दी गई चीजों में से आप किसी एक का ही सेवन रोजाना करें। अन्यथा किसी प्रकार की समस्या होने पर फौरन अपने डॉक्टर से सलाह लें।

दिनचर्या में शामिल करें कुछ आम चीजें :

आयुष मंत्रालय देता है गर्म पानी पीने की सलाह।
चित्र:शटरस्टॉक
  1. गर्म पानी का करें सेवन
  2. हल्दी वाला दूध है फायदेमंद
  3. खाना बनाने में, हल्दी, जीरा, धनिया, सौंठ और लहसुन का जरूर करें इस्तेमाल।
  4. अपने दैनिक आहार में आंवला को करें शामिल
  5. गर्म पानी में हल्दी और नमक डालकर रोज करें गरारे
  6. बासी खाना खाने से बचें और ताजा बना हुआ ही खाएं।
  7. रोज सुबह करीब आधे घंटे के लिए योगा प्राणायाम या फिर ध्यान लगाने की कोशिश करें।
  8. 7 से 8 घंटे की नींद लेना है जरूरी इसके अलावा दिन में सोने से बचें।

कुछ आयुर्वेदिक थेरेपी भी आएंगी आपके काम 

  1. ऑयल पुलिंग थेरेपी (Oil pulling therapy) 

ऑयल पुलिंग आपके मुंह के अंदर के बैक्‍टीरिया को खत्‍म कर देती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

एक चम्मच तेल का या फिर नारियल का तेल लें और उससे कुल्ला करें। ध्यान रहे कि तेल आपके पेट में ना जा पाए। आप गरारा करके ही तेल को थूक दें उसके बाद गर्म पानी से एक बार कुल्ला करें।

2 स्टीम थेरेपी ( Steam Therapy)

यदि आपके गले में खराश है या फिर नाक बह रही है, तो आप स्टीम ले सकते हैं। यह आपके लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होगा। आप चाहें तो इस टीम के पानी में पुदीना की पत्तियां, अजवाइन, कपूर भी शामिल कर सकते हैं।

कुछ अंतिम शब्द 

आयुष मंत्रालय द्वारा बताए गए यह उपाय कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज की पुष्टि नहीं करते। जारी किए गए उपाय सिर्फ और सिर्फ आपके इम्यूनिटी सिस्टम को बेहतर बनाने के लिए हैं। ताकि आपका शरीर किसी भी प्रकार के संक्रमण से बेहतर ढंग से लड़ पाए। इन सभी उपायों को करने से पहले किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर की सलाह लें। ताकि वह आपको आपके शरीर के हिसाब से और आपके वातावरण के हिसाब से आपको सलाह दे सके।

यह भी पढ़े : कोविड-19 को रोकने में मदद कर सकती है भांग, मगर इसका मतलब धूम्रपान करना नहीं है

लेखक के बारे में
अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story