ये 8 लक्षण बताते हैं कि आप में आयरन की कमी है, जरूरी है इस पर ध्यान देना

आयरन आपके शरीर के सही तरह से काम करने के लिए बहुत जरूरी है, लेकिन अगर आप में इस पोषक तत्व (आयरन ) तत्व की कमी हो जाती है, तो आप मुश्किल में पड़ सकती हैं।
क्या आप आयरन की कमी से पीड़ित हैं? चित्र : शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 17 November 2021, 16:00 pm IST
ऐप खोलें

हमारे शारीर में आयरन की कमी होना सबसे आम पोषक तत्वों की कमी में से एक है।  लेकिन हमारे लिए यह याद रखना जरूरी है कि आयरन (Iron) एक आवश्यक सूक्ष्म पोषक तत्व है। और शरीर को विभिन्न महत्वपूर्ण कार्यों को करने के लिए इसकी जरूरत होती है। इनमें रेड ब्लड सेल्स में हीमोग्लोबिन बनाना शामिल है, जो पूरे शरीर में फेफड़ों से ऑक्सीजन का परिवहन करते हैं। वे वृद्धि और विकास में भी मदद करते हैं।

नोएडा इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, ग्रेटर नोएडा के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर डॉ राकेश रंजन कहते हैं, “यह एक आम समस्या है, खासकर महिलाओं में। इसे एक ऐसी स्थिति के रूप में बताया जा सकता है, जिसमें हमारे खून में पर्याप्त स्वस्थ रेड ब्लड सेल्स की कमी होती है। जो शरीर में मौजूद टिश्यू तक ऑक्सीजन ले जाने के लिए जिम्मेदार होती हैं।”

असल में, सिर्फ महिलाएं ही नहीं, बल्कि कई मरीज जो कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं या ठीक हो रहे हैं, उन्होंने थकान, सांस फूलने और संज्ञानात्मक शिथिलता की शिकायत की है। ये लक्षण आयरन की कमी से जुड़े हैं। इसलिए आपको इसके लक्षणों के बारे में पता होना चाहिए।

हमारे शरीर में आयरन की कमी बहुत हल्की हो सकती है, इतनी कि इसके लक्षणों ध्यान नहीं जाता है। लेकिन गंभीर मामलों में, लक्षण तेज हो सकते हैं और अधिक प्रमुख हो सकते हैं।

यहां, हम उन लक्षणों के बारे में बता रहें हैं जिन पर आपको ध्यान देने की आवश्यकता है :

1 थकान (Fatigue)

अपनी थकान के कारण का पता लगाएं और जल्द से जल्द उस पर काम करें! चित्र : अनप्लैश

क्या आप बिना किसी कारण के थकान महसूस करती हैं? क्या आप अपने दैनिक कार्यों को आसानी से नहीं कर पा रहीं हैं? अगर हां, तो सावधान हो जाइए! डॉ. रंजन कहते हैं कि अगर आपको बिना किसी कारण के थकान हो रही है, तो यह एनीमिया हो सकता है। शरीर में आयरन की कमी आपको थका हुआ महसूस करा सकती है।

2 कमज़ोरी (weakness )

जब आप के शरीर में आयरन की कमी होती है, तो कमज़ोरी सबसे आम लक्षण है। इसमें आप अपने काम पर भी ध्यान नहीं दे पाएंगे।

3 सांस फूलना ( Breathlessness)

शरीर में आयरन की कमी के बाद सबसे पहले हीमोग्लोबिन की कमी होने लगती है। इसी के कारण आपको बार-बार सांस लेने में तकलीफ हो सकती है।

4 पीली त्वचा (pale skin)

डॉ रंजन कहते हैं, ”आयरन की कमी होने से त्वचा में बदलाव आ सकता है। आपकी त्वचा फीकी और मुरझायी हुई दिखने लगेगी।”  यह आयरन की कमी का एक सामान्य लक्षण है। इसी तरह, भंगुर नाखून भी अपर्याप्त आयरन के स्तर का संकेत देते हैं।

5 सीने में दर्द, तेज़ दिल की धड़कन, या सांस लेने में समस्या

हां, ये लक्षण अन्य बीमारियों के साथ भी हो सकते हैं। लेकिन आमतौर पर यह लक्षण आयरन की कमी के दौरान देखने को मिलते हैं।

सीने में दर्द और दिल का दौरा दोनों अलग हैं। चित्र : शटरस्टॉक

6 सिरदर्द, चक्कर आना

क्या आपको लगातार चक्कर आते रहते हैं? क्या सिरदर्द आपके मन की शांति को लूट रहा है?  यदि हां, तो डॉ. रंजन सुझाव देते हैं, “यह शरीर में आयरन के स्तर की जांच करने का सही समय है। आपको आयरन की कमी हो सकती है।”

7 हाथ पैर ठंडे पड़ना 

क्या आपके हाथ और पैर गर्म और उमस भरे मौसम में भी ठंडे रहते हैं? तुरंत डॉक्टर से सलाह लें, क्योंकि यह आयरन की कमी का लक्षण हो सकता है।

8 भूख न लगना

कुछ भी खाने का मन नहीं कर रहा? क्या भूख में कमी है? डॉ. रंजन कहते हैं,आप को सावधान रहना चाहिये।  हालांकि, भूख कम लगना आम है, खासकर शिशुओं और बच्चों में, यह आयरन की कमी का संकेत भी दे सकता है।

आयरन की कमी से बचने का सबसे सही और आसान तरीका यही है कि आप उन खाद्य पदार्थों को आहार में शामिल करें, जिनमें आयरन मौजूद होता है। इसलिए यहां पांच आयरन से भरपूर खाद्य पदार्थ हैं, जिन पर आपको विचार करना चाहिए। 

5 फूड्स जो आयरन के बेहतरीन स्रोत हैं 

  1. हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, और ब्रोकली।
  2. अपने आहार में फलियां (जैसे बीन्स, दाल, छोले, सोयाबीन और मटर) शामिल करें।
  3. डार्क चॉकलेट क्रेविंग को शांत करने और आपके आयरन के स्तर को ऊपर उठाने के लिए सबसे अच्छे उपाय के रूप में काम करती है।
  4. फ्लैक्स, कद्दू और चिया जैसे बीज आयरन, जिंक और फोलेट से भरपूर होते हैं।
  5. मेवा और सूखे मेवे जैसे मूंगफली, अखरोट, पिस्ता, बादाम और काजू।

आयरन की कमी के लक्षण दिखने पर तुरंत इलाज कराएं और इन खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल करें।  डॉ. रंजन कहते हैं, अपर्याप्त आयरन के स्तर से फेफड़े और दिल से जुड़ी बड़ी दिक्कतें भी हो सकती हैं।

यह भी पढ़े : World Prematurity Day: विशेषज्ञों से जानिए कम वजन वाले प्रीमेच्योर बेबी के लिए कैसा होना चाहिए पोषण

लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story