Healthshots

By Smita Singh 

PublishedJuly 22, 2023

पेट में दर्द या इंफेक्शन होने पर इन 8 फूड्स के सेवन से मिल सकती हैं राहत

पेट के फ्लू को वायरल गैस्ट्रोएंटेराइटिस के रूप में जाना जाता है। यह संक्रमण पेट और आंतों को प्रभावित करता है। इसके कारण उल्टी, दस्त और पेट में दर्द हो सकता है। कई खाद्य पदार्थ हैं, जो संक्रमण को ठीक कर इससे राहत देने में मदद कर सकते हैं।

Image Credits : Adobe rstock

स्टमक इन्फेक्शन से हो सकती हैं ये समस्याएं

फ्लू के कारण खोए हुए तरल पदार्थों की भरपाई जरूरी है। पानी की कमी से डीहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। साफ़ पानी के अलावा, नारियल पानी, सब्जियों का सूप, हर्बल या डिकैफ़िनेटेड चाय, फलों का रस, जैसे सेब, क्रैनबेरी और अंगूर का रस लिया जा सकता है।

Image Credits : Adobe stock

लिक्विड डाइट

इलेक्ट्रोलाइट्स एलेक्ट्रिकली चार्ज मिनरल्स का एक समूह है, जो महत्वपूर्ण फिजिकल एक्टिविटी में सहायता करता है। ब्लड प्रेशर कंट्रोल और मांसपेशियों के संकुचन में यह मदद करता है। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन के अनुसार, पानी, चीनी, नमक का घोल सबसे बढ़िया इलेक्ट्रोलाइट्स हैं। ये पचाने में आसान होते हैं।

Image Credits :Adobe stock

इलेक्ट्रोलाइट ड्रिंक

पेट में संक्रमण होने पर पोटैशियम से भरपूर केला खाना चाहिए। चावल कार्ब्स का एक बड़ा स्रोत है, जिसे स्टमक फ्लू होने पर आराम पहुंचाता है। यदि आपको अंडे के साथ खाने का मन कर रहा है, 1 उबले अंडे के साथ चावल मिला कर खाया जा सकता है।

Image Credits : Shutterstock

केला और चावल

जो लोग वायरल गैस्ट्रोएंटेराइटिस से पीड़ित हैं, उन्हें मीठा नहीं खाना चाहिए। चीनी से तैयार खाद्य पदार्थ गरिष्ठ होते हैं। ये पाचन को धीमा कर सकते हैं। दस्त की समस्या बढ़ा सकते हैं। इसलिए ऐसे किसी भी खाद्य पदार्थ, जिसमें चीनी नहीं हो खाने से राहत मिलती है।

Image Credits : Adobe stock

चीनी रहित खाद्य पदार्थ

पुदीने की चाय पेट के फ्लू के लक्षणों से राहत दिलाने में मदद कर सकती है। पेपरमिंट चाय में मौजूद मेंथोल कम्पाउंड उल्टी और दस्त को रोकने में मदद करते हैं। ये खोये हुए इलेक्ट्रोलाइट की पूर्ति में भी मदद करते हैं।

Image Credits : Adobe stock

पुदीने की  चाय

फल पोषक तत्वों का एक बड़ा स्रोत हैं। ये प्रचुर मात्रा में फाइबर प्रदान करते हैं, जो हमारे पाचन में मदद करते हैं। केला, जामुन के अलावा मौसमी फलों का सेवन करने से राहत मिल सकती है।

Image Credits : Adobe stock

फल

वायरल गैस्ट्रोएंटेराइटिस से पीड़ित लोगों के लिए पकी या उबली हुई सब्जियों को खाने की सलाह दी जाती है। यह जरूरी है कि सब्जियों को उबालते समय इसमें हल्का नमक ही डाला जाए। इसमें किसी भी प्रकार के मसाले और मिर्च नहीं डाली जाए। इससे समस्या बढ़ सकती है।

Image Credits : Adobe stock

उबली हुई सब्जियां

टोफू कम वसा वाला हाई प्रोटीन खाद्य पदार्थ है, जो स्टमक इन्फेक्शन होने पर पाचन में मदद कर सकता है। टोफू के अलावा, हाई फाइबर वाले उबले आलू और उबले स्वीट पोटैटो भी काये जा सकते हैं। ये पेट के लिए सूदिंग खाद्य पदार्थ हैं।

Image Credits : Adobe stock

टोफू और स्वीट पोटैटो