ऐप में पढ़ें

Miss Universe 2021 : चंडीगढ़ की दुबली-पतली लड़की का मिस यूनिवर्स बनने तक का सफर, पढ़िए हरनाज़ संधु की कहानी

Updated on: 13 December 2021, 19:57pm IST
लिवा मिस दीवा यूनिवर्स इंडिया 2021 हरनाज संधू के सिर पर सजा ताज साबित करता है कि वे न सिर्फ शारीरिक रूप से सुंदर हैं, बल्कि मानसिक तौर पर भी एकदम फिट हैं।
Chandigarh ki harnaz sandhu ban gayi hai miss universe 2021
चंडीगढ़ की हरनाज़ संधु बन गईं हैं मिस यूनिवर्स 2021। चित्र: Twitter

प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती, इसके आगे सभी समस्याएं हार मान लेती हैं, बस जरूरत होती है सच्ची मेहनत, समर्पण और लगन की। इस बात को चरितार्थ किया है, चंडीगढ़ शहर की हरनाज संधू ने…बहुमुखी प्रतिभा की धनी हरनाज संधू नें लिवा मिस दीवा यूनिवर्स 2021 (LIVA Miss Diva Universe 2021) का खिताब अपने नाम किया है।

हरनाज पेशे से माॅडल हैं और 2017 से ही अपने शहर का नाम रोशन कर रही हैं। साथ ही वे पंजाबी फिल्मों में भी नज़र आ चुकी हैं। अभिनय, नृत्य, तैराकी और घुड़सवारी का शौक रखने वाली हरनाज मेंटल हेल्थ के प्रति भी उतनी ही जागरूक हैं, जितनी अपनी फिटनेस के प्रति।

21 वर्षीय, दीवा का मानना है कि ”अगर आप मानसिक रूप से मजबूत रहेंगे तभी शारीरिक रूप से मजबूत रह पाएंगे।”

गर्ल नेक्स्ट डोर से मिस दीवा तक का सफर

17 साल की उम्र तक वे हमारे और आपकी तरह एक आम लड़की थीं, जो कभी इंट्रोवर्ट हुआ करती थी। उन्हें स्कूल में उनके पतले शरीर के कारण बुली किया जाता था। इन सब के कारण कुछ समय के लिए वे डिप्रेशन से भी ग्रस्त रहीं। मगर परिवार के साथ और मां के विश्वास नें उन्हें इन बुलंदियों पर पहुंचाया है।

अपनी मेंटल हेल्थ और डिप्रेशन के बारे में बात करते हुये हरनाज़ कहती हैं कि, ”आज मैं इस बारे में खुल कर बात कर रही हूं। इसका मतलब यह नहीं है कि मुझे लोगों से किसी तरह की सहनभूति की अपेक्षा है। बल्कि इसलिए साझा कर रही हूं, क्योंकि इसी वजह से आज मैं इस मुकाम तक पहुंची हूं।”

”हमें अपनी भावनाओं को व्यक्त करना चाहिए और इन्हें स्वीकार करना चाहिए, क्योंकि हंसना – रोना यही वह सब कुछ है, जो हमें इंसान बनाता है।”

लिखना खुद को अभिव्यक्त करना सिखाता है

जब हमने हरनाज से पूछा कि वे खाली समय में क्या करना पसंद करती हैं, तो उन्होंने बताया कि ”मुझे कविता और शायरी लिखना बहुत पसंद है। इसके अलावा, मैं अपनी डायरी भी लिखती हूं। साथ ही, मुझे अपने पैट्स के साथ भी खेलना बहुत पसंद है, क्योंकि वे आपको निस्वार्थ भाव से प्रेम करते हैं, बिना किसी अपेक्षाओं के।”

”मैं अभिनय से जुड़ी हूं, इसलिए मुझे नेटफ्लिक्स सीरीज, बायोपिक और डोक्यूमेंटरी देखना पसंद है। मेरा मानना है कि हम हर चीज़ से कुछ न कुछ सीखते हैं। लर्निंग इज ए लाइफ लॉन्ग प्रोसेस, जो कि मेंटल हेल्थ के लिए बहुत ज़रूरी है। साथ ही, योगा और मेडिटेशन मेरे जीवन का हिस्सा हैं।”

फूडी हैं पर फिटनेस का भी रखती हैं ख्याल

हरनाज कहती हैं कि मेरी मां बहुत अच्छा खाना बनाती हैं, और मुझे भी यह गुण उन्हीं से मिला है। मेरी मां नें मुझे सिखाया है कि हर लड़की को खाना बनाना आना चाहिए। यह आपको खुशी देता है।

वो कहती हैं कि मैं हर चीज़ खाती हूं फिर चाहे वो घी हो या मिठाइयां! और राजमा चावल को तो मैं कभी न कह ही नहीं सकती! मगर इन सब के बावजूद भी मैं वर्कआउट करना नहीं भूलती। मेरा मानना है कि सभी को अपने मन का खाना खाना चाहिए। मगर वर्कआउट करना नहीं छोड़ना चाहिए, क्योंकि एक ही लाइफ है! इसलिए डोंट बी हार्ड ऑन योरसेल्फ !

Liva miss diva universe India 2021 Harnaz Sandhu
मैं हर चीज़ खाती हूं फिर चाहे वो घी हो या मिठाइयां! और राजमा चावल को तो मैं कभी न कह ही नहीं सकती! चित्र : Harnaaz Sandhu

दुर्भाग्य से बुलिंग हमारे जीवन का हिस्सा है

जब हमने हरनाज से ट्रोल्स और सोशल मीडिया के बारे में बात की, तो उन्होनें कहा – ट्रोलिंग आम बात है और हमें इसे एक स्वस्थ रूप में लेना चाहिए। हरनाज का मानना है कि यह हम पर निर्भर करता है कि हम इसे किस तरह लेते हैं।

हरनाज का कहना है कि मुझे लगता है, ट्रोल करने वाले खुद में इन्सिक्योर होते हैं। इसलिए, इन्हें इग्नोर करना ही बेहतर है।

ब्रेस्ट कैंसर अवेयरनेस मंथ पर हरनाज संधु का संदेश

मेरी मां भी एक गायनोकोलॉजिस्ट हैं। इसलिए मैं जानती हूं कि किसी भी महिला के लिए ब्रेस्ट कैंसर या सर्वाइकल कैंसर से गुजरना, खुद के शरीर से ही एक जंग लड़ने के बराबर है। मुझे लगता है कि जो महिलाएं कैंसर से पीड़ित हैं या कैंसर सर्वाइवर रही हैं, उन्हें इस बारे में बात करनी चाहिए।

उन्हें अन्य महिलाओं को जागरूक करना चाहिए। अपनी बॉडी के बारे में अवेयर रहना ही, इस बीमारी से लड़ने का सबसे बेहतर उपाय है। अगर हम अपनी हेल्थ को प्राथमिकता नहीं देंगे, तो कौन देगा? इसलिए हमें खुद के शरीर का सम्मान करना आना चाहिए।

यह भी पढ़ें : Miss Universe 2021: पंजाबी कुड़ी ने चक दित्ते फट्टे | योग, अरदास, कुकिंग बिल्कुल ट्रेडिशनल हैं हरनाज़

एडलिन कैस्टेलिनो चाहती हैं कि सिर्फ पीरियड के कारण लड़कियों को न करना पड़े अवसरों से समझौता

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।