आपको आपसे बेहतर और कोई नहीं जानता, ऋषि कपूर के जाने के बाद जानिए कैसे संभाला नीतू ने खुद को

हैप्पीनेस इज़ आ चॉइस कहती हैं नीतू कपूर। हेल्थ शॉट्स के इस एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में, वह जीवन को पूरी तरह से जीने के बारे में बात करती हैं।

janiye neetu kapoor ke baare mein
नीतू कहती हैं कि ''कोई आपकी मदद नहीं कर सकता। आपको अपनी मदद खुद करनी होगी।'' चित्र : Instagram | Neetu Kapoor
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated on: 24 May 2022, 15:32 pm IST
  • 141

नीतू कपूर से बात करते हुए उनकी मुस्कुराहट आपको मोह लेगी। वे आपसे इतनी गर्मजोशी के साथ बात करेंगी, जिसकी वजह से आपको लगेगा ही नहीं, कि आप उन्हें नहीं जानते हैं। अपने पति ऋषि कपूर के निधन के दो साल बाद, भी नीतू कपूर ने खुद को इतनी अच्छी तरह संभाला है। जीवन में कई दुखों को झेलने के बाद भी उनमें जीवन के प्रति आशा कम नहीं हुई। उनका जीवन जीने का नज़रिया आज भी उतना ही सकारात्मक है जितना कि पहले था।

हेल्थ शॉट्स के साथ इस एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में, नीतू कपूर, ने जिंदगी जीने और जिंदादिली अपने फिल्मी कारीयर की नई शुरुआत करने के बारे में बात की।

वह कहती है कि उन्होंने अपने पति के चले जाने के बाद अपनी भावनात्मक उथल-पुथल से निपटने में मदद करने के लिए एक मनोचिकित्सक से सलाह ली। जिसके बाद उन्हें महसूस हुआ कि वे खुद को संभालने में सक्षम हैं। यह वास्तव में नीतू कपूर की खुद की ताकत है कि वे जीवन के उतार-चढ़ावों का सामना पूरी मजबूती के साथ कर रही हैं। और यही वो बात है जो उन्हें अपने फैंस के करीब लाती है।

नीतू अपने जीवन के दूसरे पड़ाव में हैं। 63 वर्ष की उम्र में वे कलर्स पर रियलिटी शो डांस दीवाने जूनियर्स में प्रतिभाशाली बच्चों को जज करने और आगामी फिल्म जुग जुग जीयो में अभिनय करती हुई दिखाई दे रही हैं। वे बताती हैं कि उन्हें आज भी यह सब सोच कर बहुत नया – नया लगता है और बहुत खुशी भी होती है।

जीवन में खुश रहने की कला बहुत से लोग आपसे सीख सकते हैं। हमें बताएं कि आपको इतना पॉज़िटिव क्या बनाता है।

मुझे लगता है कि खुशी से लाइफ जीने के लिए आपको बस पॉज़िटिव रहने की ज़रूरत है। मेरे पति के गुजर जाने के बाद के पहले छह महीने बहुत बुरे थे। मैं सचमुच टूट गई थी। मगर आपको खुद को उठाना होता है। अपना जीवन चलाने के लिए आपको खुद को संभालना बहुत ज़रूरी है।

miliye neetu kapoor se
ऋषि कपूर के जाने के बाद जानिए कैसे संभाला नीतू ने खुद को। चित्र : Instagram | Neetu Kapoor

इसलिए एक्सरसाइज़ करें, अच्छा खाएं, अच्छा पिएं, और अच्छा बोलें। अगर आप अच्छा खाएंगे तो आपका शरीर अच्छा दिखेगा। अगर आप अच्छा बोलेंगे, तो लोग आपको प्यार करेंगे। अच्छा बोलो, अच्छा खाओ: जीवन में यही मेरा मुख्य मंत्र है।

तो इतनी पॉज़िटिविटी कहां से आती है?

आपको पता है मुझसे हर कोई यही सवाल करता है। मगर मुझे भी नहीं पता कहां से। शायद मैं ऐसी ही पैदा हुई हूं। मुझे खुश रहना पसंद है। मुझे दुखी होना पसंद नहीं है। और मुझे अच्छा लगता है कि मेरे आस-पास हर कोई खुश रहे। कुछ लोग सिर्फ खुश पैदा होते हैं, कुछ लोग सोचते रहते हैं। यह अपनी – अपनी प्रकृति है।

आपके लिए ऋषि कपूर जी के बाद के जीवन को संभालने में सबसे कठिन हिस्सा क्या रहा है और आपकी सबसे बड़ी ताकत क्या रही है?

उनका चले जाना ही सबसे कठिन हिस्सा था। एक आदमी जो जिंदगी भर तुम्हारे साथ रहा है… तुम्हारे पास उसके सिवा और कोई नहीं है – उनके साथ उठना, बैठना, खाना खाना, ट्रेवल करना, हमारे बच्चों की देखभाल करना, सब कुछ उनके बारे में था। मगर उनके जाने के कुछ महीने बाद, मैंने मन ही मन सोचा, ‘मैं क्या कर रहा हूं? मुझे लाइफ में आगे बढ़ना चाहिए। यह बहुत कठिन था। मैं जो कुछ भी कर रही थी मैंने उसका सामना खुद किया। मैंने इसे अपने दोस्तों, अपने बच्चों (रिद्धिमा और रणबीर) या अपने परिवार पर नहीं डाला। मुझे पता था कि मुझे मजबूत होना है और अपने जीवन में आगे बढ़ना है।

आप जानते हैं, जीवन आपको मजबूत बनाता है। जब हम उतार-चढ़ाव से गुजरते हैं, तो हमें लगता है कि यह हमारा सबसे बुरा समय है। मगर मुझे लगता है कि यह सबसे अच्छा समय है क्योंकि इसी तरह ईश्वर आपको आपके जीवन में आने वाली हर चीज से निपटने के लिए मजबूत बना रहा है। मैं अपने जीवन में बहुत उतार – चढ़ाव से गुजरी हूं, और शायद इसी ने मुझे हर स्थिति से निपटने के लिए काफी मजबूत बनाया है।

मैं अपने पति से ज्यादा मजबूत थी। अगर हमारे जीवन में कुछ हो रहा होता, तो मैं उन्हें वह ताकत देती। जीवन के किसी भी समय में, मैं हमेशा सबसे मजबूत रही।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by neetu Kapoor. Fightingfyt (@neetu54)

आप जिस स्थिति में थीं, उस स्थिति में बहुत सी महिलाएं भावनात्मक रूप से टूट जाएंगी। कठिन समय से गुजरने पर महिलाओं को आप क्या सलाह देना चाहेंगी?

मैं राय या सुझाव नहीं दे सकती क्योंकि मैं ऐसी ही हूं। मैं चीजों से अधिक सकारात्मक तरीके से देखती हूं, मुझे लगता है कि ‘अभी ये हो गया है तो आगे बढ़ो’। अगर मैं लो महसूस करती हूं, तो मैं उठती हूं और व्यायाम या ध्यान करना शुरू करती हूं। जब मुझे कोविड-19 हुआ था, तब मैं बिस्तर पर लेटी नहीं थी। मैं अपने विशेषज्ञ को पूरे 1 घंटे की ब्रीदिंग और एक्सरसाइज़ सेशन के लिए वीडियो सेशन पर बुलाती थी।

आप जो भी महसूस कर रही हैं, जो भी आपकी समस्या है, आपको इसके लिए कुछ करना चाहिए। अगर आपको मानसिक स्वास्थ्य की समस्या है, तो मनोचिकित्सक से मिलें। मैं एक मनोचिकित्सक के पास गई। अपने पति के बाद मैं एक डॉक्टर से सलाह लेती थी, लेकिन फिर मैंने कहा, ‘डॉक्टर जो कह रहा है, मैं उससे ज्यादा मजबूत हूं’। डॉक्टर मुझे वे काम करने के लिए कह रहे थे जो मैं पहले से जानती थी। इसलिए मैंने मन ही मन सोचा ‘मैं खुद ऐसा क्यों नहीं कर रहा हूं?’। और इसलिए, मैंने डॉक्टर को दिखाना बंद कर दिया और और खुद को मजबूत बनाया।

नीतू कहती हैं कि ”कोई आपकी मदद नहीं कर सकता। आपको अपनी मदद खुद करनी होगी।”

जैसे यदि आप मोटे हैं, तो आप जानते हैं कि आप अपना वजन कम कर सकते हैं, आपको व्यायाम करना होगा और आपको अपने खाने को संतुलित करना होगा। ऐसे में उत्तर आपके पास ही है, लेकिन आपको इसके लिए बस थोड़ी समझदारी दिखाने की ज़रूरत है।

साथ ही खुद को थोड़ा समय दें। वक़्त सारे घाव भर देता है।

neetu kapoor
अब मुझे जीवन में कुछ करना है। मैं सिर्फ घर पर नहीं बैठ सकती – नीतू । चित्र : Instagram | Neetu Kapoor

हम आपको एक रियलिटी शो, डांस दीवाने जूनियर्स में देखते हैं, और आप एक नई फिल्म में भी अभिनय कर रही हैं। क्या है आपकी दूरी पारी है?

देखिए, मैं अभी खुद को खुश कर रही हूं। मेरे लिए सब कुछ बहुत नया है। मैं यहां एक न्यूकमर की तरह महसूस करती हूं। मैं एक फिल्म कर रही हूं, टेलीविजन कर रही हूं जो मैंने पहले कभी नहीं किया।

मैं इन सब के बीच खुद को ढालने की कोशिश कर रही हूं। मैं आज जो कर रही हूं, उससे बहुत खुश हूं। नहीं तो, मैं बस एक रेगुलर लाइफ व्यतीत करती।

जब आप पीछे मुड़कर देखती हैं, तो क्या आपको अपने परिवार के लिए अपने करियर को पीछे छोड़ आने का अफसोस है?

आज नई पीढ़ी वर्क लाइफ बैलेन्स कर सकती है। मैं पुरानी पीढ़ी से हूं। मैं वह सब नहीं कर सकी। मैं एक मल्टीटास्कर नहीं हूं। मुझे अपना पूरा ध्यान अपने बच्चों, पति, घर पर देना था। आज मैं प्रशंसा करती हूं कि नई पीढ़ी इसे कैसे करती है, लेकिन मुझे लगा कि मेरे बच्चों को स्कूल से वापस आने पर मेरी जरूरत है, और मुझे शूटिंग पर नहीं होना चाहिए।

आज मुझे कोई पछतावा नहीं है। मेरे लिए मेरे जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि मेरे दो बच्चे हैं। मुझे एक अद्भुत पति मिला जिसने मुझे इतना प्यार और एक अद्भुत जीवन दिया, और दो अद्भुत बच्चे … मैं और क्या मांग सकती हूं। मैंने अपना करियर तब शुरू किया था जब मैं 5 साल की थी और मैंने 15 साल तक काम किया। ऐसा लगा जैसे मैंने जीवन भर काम किया हो।

मेरा वापस आने का कोई इरादा नहीं था। मगर आज मुझे लगता है कि मुझे फिर से काम करना चाहिए। इससे मैं अपने आप को व्यस्त और खुश रख सकती हूं। अब मुझे जीवन में कुछ करना है। मैं सिर्फ घर पर नहीं बैठ सकती।

यह भी पढ़ें : जानिए कैसे एक बारहवीं फेल लड़की आज बन गई है पूरे झारखंड और भारत की पहचान

  • 141
लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory