वैलनेस
स्टोर

मिलिए त्रिभंग की अभिनेत्री मिथिला पालकर से, सोशल मीडिया से लेकर निजी जीवन तक पर की खुलकर बातचीत

Published on:9 March 2021, 15:53pm IST
मिथिला पालकर आज इंटरनेट पर सबसे पसंदीदा हस्तियों में से एक है! अंतर्राष्‍ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य पर हेल्थ शॉट्स ने उनकी रियल लाइफ के बारे में जानने की कोशिश की।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 89 Likes
मिथिला पालकर हंसमुख और निर्भयी हैं। चित्र: मिथिला पालकर

कई साल पहले, इस घुंघराले बाल वाली लड़की ने अपने वायरल हुए ‘कप सोंग’ वीडियो और खिलखिलाती मुस्कान की वजह से इन्टरनेट पर धूम मचा दी थी, और उसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। आज ‘त्रिभंग’ एक्ट्रेस और इन्टरनेट सेंसेशन मिथिला पालकर लोगों की चहेती बन गयी हैं।

चाहे वह ‘लिटिल थिंग्स’ की काव्या का किरदार हो या ‘गर्ल इन द सिटी’ की मीरा, ये किरदार अपने आप में इतने वास्तविक और रिलेटेबल लगते हैं, तो इसका श्रेय मिथिला को ही जाता है। वे रियल लाइफ में भी जितनी खुश मिज़ाज हैं उतनी ही निर्भयी भी। उनकी यही बात उन्हें बाकी सोशल मीडिया इन्फ़्लुएन्सर और कंटेंट क्रिएटर से अलग करती है।

बहुत से लोग यह नहीं जानते कि मिथिला एक प्रशिक्षित शास्त्रीय नृत्‍यांगना हैं। अपनी शारीरिक और मानसिक फिटनेस को बनाए रखने के लिए वे नृत्‍य पर ही भरोसा करती हैं। वे सोशल मीडिया पर अपने जीवन के बारे में भी खुल कर बात करती हैं। साथ ही रास्ते में आई चुनौतियों के बारे में भी बोलने से कतराती नहीं हैं।

मिथिला को है कथक और शास्त्रीय संगीत से प्यार

उनका रुझान हमेशा नृत्य और संगीत की तरफ रहा है। हालांकि उन्होंने कुछ साल पहले कथक सीखा था, लेकिन जब से काम करना शुरू किया, तो अभ्यास छूट गया। सौभाग्य से, लॉकडाउन ने उन्हें अपने जुनून को पुनर्जीवित करने का अवसर दिया और वे खुश हैं!

कथक मिथ्रिला का पहला प्‍यार है। चित्र: मिथिला पालकर
कथक मिथ्रिला का पहला प्‍यार है। चित्र: मिथिला पालकर

“जब भी मैंने नृत्य सीखने का फैसला किया, तो मुझे हमेशा से पता था कि मैं शास्त्रीय नृत्य ही चुनती। मैंने हमेशा कथक की सराहना की है, हमारे परिवार में बहुत से लोग कक्षाओं में जाते थे मेरे मित्र भी इसे सीखते थे, तब मैं उनकी रिहर्सल देखा करती थी। इसी तरह कथक के लिए मेरा प्यार बढ़ता रहा।

तब बॉलीवुड में माधुरी दीक्षित थीं, जिनकी मैंने हमेशा फैन रही हूं। इसलिए, मैंने आखिरकार इसे सीखने का फैसला किया। 2014 या 2015 के आसपास मैंने क्लासेज लेना शुरू किया था, मैंने इसकी परीक्षा भी दी। फिर, काम शुरू हो गया और मेरे पास नृत्य के लिए समय नहीं बचा। लेकिन 2020 में, लॉकडाउन हुआ और मैंने फिर से कथक क्लासेज शुरू की। मैंने अपनी गुरु से ऑनलाइन सीखना शुरू किया और वह मुझे सिखा कर खुश थीं।

कथक ने दिया जिंदगी को एक अलग आयाम

मिथिला कहती हैं कि ”जब आप स्कूल जाते हैं, तो बेसिक्स बहुत ज़रूरी होते हैं। जो आपको आगे बढ़ने में मदद करते हैं, कथक भी कुछ ऐसा ही है। इस नृत्य का सबसे अहम हिस्सा है ठहराव और यही मुझे जिंदगी में चाहिए था, क्योंकि में हमेशा इधर-उधर भागती रहती थी। इस नृत्य शैली में कितना ग्रेस है, भाव हैं, और स्वतंत्रता है जो मेरे साथ रही है हमेशा”।

फिटनेस के लिए भी है डांस पर भरोसा

2020 हर किसी के लिए एक कठिन वर्ष था, क्योंकि हमारे सामने आने वाली चुनौतियां अघोषित थीं। किसी को नहीं पता था कि अगले पल क्या होने वाला है और इसी अनिश्चितता ने मिथिला को भी परेशान कर दिया! लेकिन ओवरथिंक करने के बजाय, उन्होंने अपनी ऊर्जा को फिटनेस और नृत्य में लगाने का फैसला किया।

मिथिला ने कहा “मैं अपने डांस गुरु और ट्रेनर, को अपनी फिटनेस का श्रेय देना चाहती हूं। मुझे लगता है कि शरीर और दिमाग दोनों को नियंत्रण में रखना महत्वपूर्ण है। मैं कथक और वर्कआउट दोनों का इंतजार करती हूं।

उस समय, हम सभी उग्र, चिंतित और परेशान थे- खासकर लॉकडाउन की शुरुआत के दौरान। हम में से कोई भी इससे निपटना नहीं जानता था। मैं अपनी ओवरथिंकिंग और एंग्जायटी या आगे क्या होने वाला है, में लिप्त नहीं होना चाहती थी। यही कारण है कि मैं कथक में लगी रही, क्योंकि यह सिर्फ शारीरिक फिटनेस नहीं थी, बल्कि इसने मुझे मानसिक रूप से भीबहुत शांति दी”।

सोशल मीडिया पर उनकी जिंदगी

मिथिला के इंस्टाग्राम पर 2.8 मिलियन फॉलोअर्स हैं। इसका मतलब है कि वे हमेशा लोगों की नज़र में रहती है! उनकी यह यात्रा वेब पर शुरू हुई थी और सोशल मीडिया पर मिलने वाले प्यार की वे आभारी हैं। ट्रोल्स ने उन्‍हें कभी भी प्रभावित नहीं किया। क्योंकि वे उन पर ध्‍यान ही नहीं देतीं।

वे कहती हैं कि “मैं ट्रोलिंग से बहुत परेशान नहीं होती, क्योंकि यह इंटरनेट पर होने का एक हिस्सा है। मुझे लगता है कि इंटरनेट ने मुझे मेरी पहचान, मेरा घर, सब दिया है, और अगर यह उन लोगों के लिए नहीं है, जिन्होंने मेरा समर्थन किया है, तो मैं यहां नहीं रहूंगी । उन्होंने मुझे वर्षों से इतना प्यार दिया है।

मिथिला ट्रोलर्स को इग्‍नोर करती चलती हैं। चित्र: मिथिला पालकर
मिथिला ट्रोलर्स को इग्‍नोर करती चलती हैं। चित्र: मिथिला पालकर

मैं उनकी आभारी हूं। प्यार इतना मजबूत है कि आप दूसरी तरफ ध्यान नहीं देना चाहते हैं। यदि एक ख़राब टिप्पणी है, तो 50 स्‍नेहसिक्‍त टिप्पणियां भी हैं। इंटरनेट पर, कोई भी आपको कुछ देखने, कुछ पढ़ने के लिए मजबूर नहीं कर रहा है, यह एक विकल्प है। ईमानदारी से, नफरत वाली टिप्पणी शायद ही कभी होती है”।

मिथिला कहती हैं कि ”कभी-कभी ट्रोलिंग लोगों के मन- मस्तिष्क पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकती है, लेकिन आप इस पर ध्यान न देने की कोशिश हमेशा कर सकती हैं”। कभी-कभी आपके हेट कमेंट्स से बहुत बुरा लग सकता है कि इस इंसान ने मुझे ऐसा क्यों बोला.. लेकिन अपनी मेंटल हेल्थ के लिए आपको इसे इग्नोर करने की ज़रुरत है।

अब पब्लिक प्‍लेस पर निकलना थोड़ा मुश्किल हो गया है

“हमेशा कोई मुझे पहचान लेता है या मेरे साथ एक तस्वीर क्लिक करना चाहता है। मुझे लगता है कि यह मेरे लिए कोई चुनौती नहीं है, क्योंकि मैं इसे अपना चुकी हूं। मेरे आसपास के लोगों के लिए यह एक चुनौती है। उदाहरण के लिए, मेरे स्कूल के दोस्त और मैं एक-दूसरे के बहुत करीब रहते हैं। हम दोनों अकसर साथ में शिवाजी पार्क जाते रहे हैं।

यह हमारा हैंगआउट प्लेस था। लेकिन अब हम घर पर मिलते हैं, क्योंकि मेरे दोस्तों को लगता है कि लोग मेरे साथ तस्वीरें क्लिक करेंगे और हम ठीक से चैट नहीं कर पाएंगे। जिन दोस्तों के साथ मैं बड़ी हुई हूं, वे भी इस जीवन शैली के अनुकूल हो गए हैं, वे बहुत प्यारे और मिलनसार हैं,”।

महिला दिवस पर उनका संदेश

मिथिला के पास एक सलाह है। “किसी से मत डरो और जो आप हो, वही बने रहो,”।

यह भी पढ़ें – सेक्‍स पर कायम टैबू को मिटाने का प्रयास कर रही हैं डॉक्टर निवेदिता मनोकरन, जानें क्‍यों है यह जरूरी

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।