योग और मेडिटेशन से कंट्रोल की एपिलेप्सी, मिलिए कांटा लगा गर्ल शेफाली जरीवाला से

'कांटा लगा' गर्ल शेफाली जरीवाला का स्टाइल एकदम अलहदा है। फिटनेस से लेकर रिलेशनशिप तक, वे हर मुद्दे पर बहुत गंभीरता से विचार करती हैं और उसे अपने जीवन में आत्मसात करती हैं।
shefali life story
“कांटा लगा”, गाने की रीमेक्स से रातों रात प्रसिद्धि की बुलंदियां छूने वाली शेफाली जरीवाला। चित्र- इंस्टाग्राम
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published: 1 Feb 2024, 07:34 pm IST
  • 141

“कांटा लगा”, गाने की रीमेक्स से रातों रात प्रसिद्धि की बुलंदियां छूने वाली शेफाली जरीवाला का व्यक्तिगत जीवन बहुत सारी चुनौतियां से भरा रहा है। बॉडी इमेज से लेकर एपिलेप्सी तक उनकी लड़ाई बेहद जटिल रही है। 2002 में आए कांटा लगा म्युजिक वीडियो के साथ वे घर-घर में पहचानी जाने लगीं। इतना ज्यादा कि एक बार उन्होंने खुद को “भारत की मूल थोंग गर्ल” कहा था!

मुझसे शादी करोगी, नच बलिए और बिग बॉस जैसे शो में नजर आ चुकी अभिनेत्री अब टीवी शो शैतानी रस्में में नजर आ रही हैं। कम ही लोग जानते हैं कि इस सारे ग्लैमर के पीछे एक लड़की है जिसने वर्षों तक मिर्गी के दौरे से संघर्ष किया है। महिलाओं को एक वस्तु की तरह पेश करने की संस्कृति से संघर्ष किया है और फिर भी बॉडी इमेज संबंधी मुद्दों से खुद को दूर रखा है। शोबिज में दो दशकों से अधिक समय के बाद, उन्होंने फिक्शन स्पेस में टेलीविजन पर शुरुआत की है।

हेल्थ शॉट्स के इस इंटरव्यू में, शेफाली जरीवाला अपने करियर, मानसिक स्वास्थ्य, फिटनेस, रिश्तों और अन्य पहलुओं पर बात कर रहीं हैं।

बहुत सारी अभिनेता और अभिनेत्रियां टाइप्ड हो जाते हैं, एक खास तरह की छवि में। क्या स्टीरियोटाइपिंग ने आपके करियर को नुकसान पहुंचाया?

जहां तक स्टीरियोटाइप होने की बात है, तो मैंने कभी इसकी चिंता नहीं की। मैं अपने करियर में बहुत आरामदायक स्थिति में हूं। मैंने कई तरह की चीजें की हैं। मैं ग्लैमरस रही हूं और हमेशा रहूंगी।’ मैं बस एक अच्छे कलाकार, आर्टिस्ट और एंटरटेनर के रूप में पहचानी जाना चाहती हूं। मैं ऐसे व्यक्ति के रूप में जानी जाना चाहता हूं जो लोगों पर प्रभाव छोड़ता है और किसी प्रकार का मानक बनाता है। यह मुझ पर दबाव डालता है, लेकिन इससे मुझे बेहतर प्रदर्शन करने और हर दिन बेहतर काम करने में मदद मिलती है। मैं अपनी मर्जी से काम कर रही हूं। मैं ऐसे काम करना पसंद करती हूं जहां मैं खुश हूं या रचनात्मक रूप से संतुष्ट हूं।

shefali interview
मैं बस एक अच्छे कलाकार, आर्टिस्ट और एंटरटेनर के रूप में पहचानी जाना चाहती हूं। चित्र-इंस्टाग्राम

महिलाओं को अक्सर स्क्रीन पर वस्तु की तरह पेश किया जाता है। आप अपनी फील्ड में ऑब्जेक्टिफिकेशन से कैसे निपटती हैं?

आमतौर पर महिलाओं को बहुत अधिक ऑब्जेक्टिफाइ किया जाता है। इस बारे में दो चीजें की जा सकती हैं। सबसे पहले, यदि कोई आपके सामने ऐसा करता है, तो आप उसका जवाब दे सकते हैं। यह मज़ाक नहीं है और इस तरह बात करना ठीक नहीं है।’ दूसरे व्यक्ति को यह बताना महत्वपूर्ण है कि आपको इस प्रकार की टिप्पणियों से कोई फर्क नहीं पड़ता। सरी जगह जहां महिलाओं को ऑब्जेक्टिफाइड बनाया जा सकता है वह है डिजिटल प्लेटफॉर्म।

वहां ऐसा कुछ नहीं है जिसके बारे में आप कुछ कर पाएं। बस इसे नजरअंदाज करें। लोग हमेशा आपको जज करेंगे या आपके बारे में बात करेंगे। आप इससे खुद को परेशान नहीं कर सकते। मुझे इन चीजों से फर्क नहीं पड़ता। मेरा आत्मविश्वास बहुत ऊंचा है। मेरा आत्म-सम्मान कम नहीं है, लेकिन हां, कोई भी मेरे सामने ऐसा करने की हिम्मत नहीं कर सकता क्योंकि वे जानते हैं कि मैं उन्हें अपने शांति को खराब करने नहीं दूंगी।

लोग मेरे बारे में क्या कहते हैं या क्या सोचते हैं, इससे मुझे सच में कोई फर्क नहीं पड़ता। आप इसे अपने ऊपर हावी नहीं होने दे सकते अन्यथा यह आपके मानसिक स्वास्थ्य को खराब कर सकता है।

क्या आपको कभी बॉडी इमेज संबंधी समस्या हुई है?

मुझे कभी भी बॉडी इमेज संबंधी समस्या नहीं हुई। मैं स्वस्थ महिला हूं। आपका वजन बढ़ता है, आपका वजन कम होता है। तुम लम्बे हो, तुम छोटे हो, कभी-कभी आपकी कमर वैसी नहीं होती जैसी आप आदर्श रूप से चाहते हैं। कभी-कभी कपड़े आप पर बेहतर फिट बैठते हैं और कभी-कभी नहीं। आपको बस इसके आसपास काम करना है। मैं इन सब चीजों पर जोर नहीं देती।

मैं एक महिला हूं और इसलिए, मेरे हार्मोन में उतार-चढ़ाव होता रहता है। लेकिन महिलाओं को इस बात से खुश रहना होगा कि वे कैसी दिखती हैं और कैसा महसूस करती हैं। मैं समझती हूं कि अन्य महिलाओं को बॉडी इमेज संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। आपको बस अपनी त्वचा के प्रति कॉन्फिडेंस रखना और अपने साइज और शेप की परवाह किए बिना अच्छा महसूस करना है।

आप फिट रहने के लिए क्या करती हैं?

फिटनेस मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। जब मैं फिटनेस के बारे में बात करती हूं, तो यह सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य के बारे में नहीं है, बल्कि मानसिक फिटनेस के बारे में भी है। मैं अच्छी नींद लेती हूं, स्वस्थ भोजन करती हूं, सप्ताह में हर चार या पांच दिन जिम जाती हूं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

भले ही मैं जिम नहीं जा पाती, फिर भी मैं हमेशा सक्रिय रहती हूं। मैं वही करता हूं जिससे मुझे खुशी मिलती है। डांस मेरी फिटनेस यात्रा का एक बड़ा हिस्सा रहा है। मैं ढेर सारा पानी भी पीती हूं और जीवन में उन चीजों को लेकर तनाव नहीं लेती हूं जो मेरे नियंत्रण से बाहर हैं। अच्छा समय और बुरा समय आता है, लेकिन आपको सकारात्मक रहना चाहिए।

मेरे जीवन में बहुत सकारात्मकता है। मैं बहुत सारे सकारात्मक लोगों के आसपास रहती हूं, जो मेरा साथ देते है और मुझसे प्यार करते हैं। जो लोग मुझे लगातार प्रोत्साहित करते हैं।

shefali interview
मुझे कभी भी बॉडी इमेज संबंधी समस्या नहीं हुई। मैं स्वस्थ महिला हूं। चित्र- इंस्टाग्राम

टीनएज में आपको मिर्गी के दौरे पड़ते थे, आपने इस समस्या को कैसे डील किया?

जब मैं 15 साल की थी तब मुझे पहली बार मिर्गी का दौरा पड़ा था। उसके 10 से 15 साल बाद मुझे बहुत सारे दौरे पड़े। ध्यान करने से मुझे इसमें मदद मिली। अच्छे डॉक्टर, मेरे परिवार का सहयोग, स्वस्थ जीवनशैली और योग ने भी काफी मदद की।

आप और आपके पति पराग त्यागी 2015 में शादी के बाद से कपल गोल दे रहे हैं। स्वस्थ और लंबे समय तक चलने वाले रिश्ते के लिए कुछ सुझाव दें।

यह हर दिन को उसी रूप में लेने और उस व्यक्ति के साथ रहने के बारे में है जिसके साथ आप सहज हैं। मैं सिर्फ आपके पति या प्रेमी के बारे में बात नहीं कर रही हूं। यहां तक कि अपने दोस्तों और परिवार के साथ रिश्ते भी। आपको हर दिन को वैसे ही लेना होगा जैसे वह दिन है। हम सभी के अच्छे दिन और बुरे दिन होते हैं।

व्यक्ति को सहयोगी होना चाहिए, बातचीत के लिए उपलब्ध होना चाहिए और एक अच्छा श्रोता होना चाहिए। दूसरे व्यक्ति की भावनाओं का सम्मान करना और अपनी भावनाओं का भी सम्मान करना महत्वपूर्ण है। अगर आप किसी बात से खुश नहीं हैं तो आपको उसके बारे में बात जरूर करनी चाहिए।

आपको जीवन में छोटी-छोटी चीज़ों का आनंद लेना चाहिए। आपमें कुछ चीजें समान होनी भी जरूरी हैं। चीज़ें साथ मिलकर करें, रिश्ते में नयापन बरकरार रखें और एक-दूसरे की तारीफ करें। यह बहुत महत्वपूर्ण है। जैसे-जैसे समय बीतता है, आप छोटी-छोटी बातों पर एक-दूसरे की तारीफ करना बंद कर देते हैं, जैसे ‘मुझे आपके झुमके पसंद हैं या मुझे आपके कपड़े पसंद है या नया हेयर कट पसंद है’। बस अपने पार्टनर की बातों पर गौर करें। छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखें और आप किसी रिश्ते में बहुत आगे तक जा सकते हैं।

ये भी पढ़े- कविता कृष्णमूर्ति : मैंने कोल्ड और साइनस की समस्या को नहीं बनने दिया गायन में बाधा

  • 141
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख