वैलनेस
स्टोर

हूला हूप आर्टिस्ट एशना कुट्टी अपनी आर्ट और सोशल मीडिया फेम के बारे में कर रहीं हैं बात

Updated on: 15 March 2021, 20:03pm IST
एशना कुट्टी के गेंदा फूल वीडियो ने पिछले साल उन्हें सुर्खियों में ला दिया था। हेल्थ शॉट्स के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में उन्होंने अपनी सोशल मीडिया लाइफ और हूला हूप के बारे में बताया, जिसने उन्हें कॉंफिडेंट बना दिया।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 90 Likes
साड़ी में हुला हुप से धमाल मचा देने वाली एशना कुट्टी कर रहीं हैं इस आर्ट और अपने जीवन पर बात। चित्र: एशना कुट्टी

“Flow doesn’t come to those who try to do things well…it comes to those who try to do things freely.” लेखक और चिकित्सक बैरी मिशेल्स द्वारा लिखी यह पंक्तियां, एशना की अभी तक की यात्रा को बहुत अच्छी तरह से बयां करती हैं। कुछ लोग सोशल मीडिया पर उनकी पॉपुलैरिटी को लक मानते हैं, लेकिन बहुत से लोग यह नहीं जानते हैं कि उन्हें हूला हूप को करते हुए 10 साल से ज्यादा हो चुके हैं।

एशना की गेंदा फूल विडियो ने इन्टरनेट पर धूम मचा दी थी। साड़ी और स्नीकर्स के साथ उनके इतने कठिन मूव्स करना कोई आसन बात नहीं थी। उनके कॉन्फिडेंस ने उन्हें सभी के बीच चर्चा का विषय बना दिया था। लेकिन उनके बारे में और भी बहुत कुछ है, जिसे आपको जानने की ज़रुरत है।

हेल्थ शॉट्स के साथ एक विशेष बातचीत में, एशना ने हमारे साथ हूला हूप की अपनी शैली के बारे में जानकारी साझा की। कैसे इसने उन्हें पूरी तरह बदल दिया है और कैसे हाल ही में मिली प्रसिद्धि ने कई दबावों को भी जन्म दिया है।

परिस्थितियों को स्वीकार कर लेना

कई साल पहले एक यूट्यूब वीडियो देखने के बाद एशना हुला हुप से परिचित हो गई थी। समय के साथ, उन्‍होंने महसूस किया कि यह फ्लो आर्ट्स का एक हिस्सा है। एक शब्द जिसका इस्तेमाल विभिन्न प्रकार के बैलेंस संबंधी विषयों का वर्णन करने के लिए किया जाता है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Eshna Kutty (@eshnakutty)

दिल्ली विश्वविद्यालय से मनोविज्ञान में स्नातक एशना, शुरुआत में क्लिनिकल साइकोलॉजी करने के बारे में सोच रही थीं, लेकिन बाद में उन्हें एहसास हुआ कि कैसे एक वायरल वीडियो ने उनके जीवन को प्रभावित किया है।

एशना कहती हैं कि “मेरा मानना है कि मैं एक ऐसी लड़की हूं जो शारीरिक रूप से खुद को बेहतर तरीके से एक्सप्रेस कर पाती है। यही वो था जिसको मैंने आगे बढ़ाने का फैसला किया।

मूवमेंट थेरेपी डांस क्लास से अलग कैसे है

इसमें आप कोरियोग्राफी या हुनर नहीं सिखा रहे हैं, बल्कि यह इस बारे में है कि जब आप एक मूवमेंट कर रहे हैं, तो आप कैसा महसूस कर रहे हैं। मैंने TISS से मूवमेंट थेरेपी में एक कोर्स किया था। साथ ही, मैं हूपिंग भी कर रही थी। मुझे ऐसा लगता है कि मेरे लिए ये दो अलग-अलग चीजें आपस में जुड़ गयीं।”

हुला हूप सिखाने की उनकी शैली आंदोलन चिकित्सा में मिश्रित है और जो इसे अलग बनाती है। क्योंकि एशना ने हमेशा मन और शरीर के समग्र पोषण में विश्वास किया है।

एशना कहती हैं कि ”मेरा लक्ष्य हूपिंग को लेकर कभी भी एक परफेक्ट बॉडी को बढ़ावा देना नहीं रहा। क्योंकि ये कांसेप्ट अपने आप में इतना त्रुटिपूर्ण है। ये आप पर निर्भर करता है कि आप अपनी बॉडी में कितना कम्फर्टेबल महसूस करती हैं भले ही आपका शेप औए साइज़ कुछ भी हो। मुझे लगता है कि हूपिंग ने मेरे लिए भी वही किया है, इसने मुझे अपनी बॉडी में कम्फर्टेबल होना सिखाया है।”

एक नया दृष्टिकोण अपनाएं

साड़ी, स्नीकर्स और हुला हूप, एक बिल्कुल अनसुना और नया तरीका है और ये सबसे अलग है। लेकिन एशना से पूछें कि क्या वह हमेशा से ऐसी ही रही है और वह कहती है, “मुझे लगता है कि मैं अपने माता-पिता की वजह से नॉन -कांफोर्मिस्ट रही हूं।

वे ऐसे कभी भी नहीं रहे कि तुम्हे साइंस ही लेना है। मेरे पिता एक फिल्म निर्माता, मेरी मां एक पत्रकार और मेरे दादाजी गायक रहे हैं। इसलिए, परिवार में बहुत सारी कलाएं हैं। मुझे कभी भी ऐसा करने से नहीं रोका गया जो मुझे पसंद हो।”

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Eshna Kutty (@eshnakutty)

वे यह भी मानती हैं कि यह उनकी शैक्षिक पृष्ठभूमि है, जिसने उनकी पहचान को आकार देने में मदद की है। एशना एलएसआर की छात्रा रही हैं और वहां की कई मजबूत महिलाओं और नारीवादियों से घिरी हुई भी। बाद में, TISS में अपने कार्यकाल के दौरान, वह सामाजिक रूप से जागरूक हुईं।

“शुरूआत में, मैं मेकअप और हील्स पहनने की कोशिश करती थी या कहें तो में फिट इन होने की कोशिश कर रही थी। आखिरकार, मैंने महसूस किया कि इससे न केवल मुझे असहज महसूस हुआ, बल्कि मैं इसमें अच्छी नहीं थी। एक अच्छे दिन पर, मैं सुंदर दिखना चाहती हूं, क्योंकि मुझे ऐसा लगता है।

हूपिंग मेरे जीवन का अहम हिस्सा है

एशना का मानना ​​है कि जब आप कोई शौक रखते हैं, तो इसकी शुरुआत किसी वस्तु को खरीदने से होती है। प्रारंभिक उत्साह है, लेकिन जैसे-जैसे आप गहराई में जाते हैं, आप अपने आप को और अपनी भावनाओं को महसूस करते हैं।

“हूला हूपिंग के पांच साल बाद, मैंने खुद से सवाल किया – मैं अब भी ऐसा क्यों कर रही हूं?
और सब यहीं आकर रुक गया कि इसने मुझे कैसा महसूस कराया। ऐसा समय भी था जब मैं इसे छह महीने तक नहीं करती थी, क्योंकि मैंने हमेशा इसे एक शौक के रूप में लिया था। मुझे आखिरकार एहसास हुआ कि मेरे लिए हूपिंग एक ऐसा सुरक्षित स्थान है, जहां मैं वापस आती हूं और सुकून महसूस करती हूं।

इससे आपको लगता है कि आप अपने शरीर के साथ इतना कुछ कर सकते हैं, जिसकी आपने कभी कल्पना भी नहीं की थी।

एशना का मानना ​​है कि “एक प्लास्टिक पाइप” ने उनके जीवन में कई कौशल सिखाने में मदद की है। ऐसा इसलिए है क्योंकि “रिंग नीचे गिरता रहता है, आप उसे उठाते हैं और फिर से घुमाते हैं।”

एशना कहती हैं कि हूपिंग के साथ करने के लिए कितना कुछ है, जिसकी आप कल्पना तक नहीं कर सकते। मुझे लगता है कि ये अपने दायरे को बढ़ाने, खुद को एक्सप्रेस करने का अच्छा तरीका है। मैंने महामारी में लाइव ऑनलाइन क्लासेज ली हैं और अब मेरे पास एक बड़ा सर्किल हो गया है कुछ भी साझा करने के लिए।

मुझे यह जानकर बहुत ख़ुशी होती है कि जब लोग मुझसे यह कहते हैं कि उन्होंने हूला हूप के ज़रिये महामारी का यह मुश्किल दौर पार कर लिया है। मुझे लगता है कि ये रिंग एक ऐसा गैर-प्रतिस्पर्धी स्थान है, जहां कोई सही या गलत मूव नहीं है। यह सिर्फ आपका शरीर कैसे चलता है – उसका एक खुला कैनवास है। आप इसे अपनी पसंद के अनुसार पेंट कर सकती हैं।

सोशल मीडिया पर जीवन

एशना को लगता है कि उन्हें, तुरंत प्रसिद्धि और मान्यता मिली। समय के साथ इसे संसाधित करने और नए परिवर्तनों को स्वीकार करना उनके लिए मुश्किल था।

एशना कहती हैं कि “दो दिनों में, मेरे 100K से अधिक फॉलोअर्स थे। मुझे लगा कि मैं इसे अच्छी तरह से संभाल रही हूं, लेकिन ऐसा नहीं था। पिछले छह महीनों में, मैंने मुश्किल से अपने हूपिंग वीडियो डाले हैं। कहीं न कहीं, मुझे लगता है कि सोशल मीडिया की प्रसिद्धि ने मेरे स्‍टाइ‍ल को बाधित कर दिया है।

मुझमें कभी-कभी आत्म-संदेह की भावना आती है। आप समझ सकती हैं कि क्‍या होता है जब कोई संगीतकार अपने करियर की शुरुआत में ही अपना सर्वश्रेष्ठ गीत गा लेता है। मुझे लगता है गेंदा फूल साड़ी वीडियो के साथ मेरे लिए भी ऐसा ही हुआ। व्यक्तित्व या कौशल के लिहाज से, यह मेरा सबसे अच्छा वीडियो नहीं था, लेकिन दर्शकों ने इसे हमेशा मेरे सबसे अच्छे वीडियो के रूप में देखा”।

“मैं उस जोन में हूं, जहां साड़ी फ्लो की अपनी परिभाषा है। ऐसी महिलाएं हैं जो साड़ी पहनकर वापस फ़्लिप, कुकिंग और योगा कर रही हैं। मुझे लगता है कि अब साड़ी फ्लो का कोई चेहरा नहीं है, यह एक देशव्यापी बात बन गई है और मुझे यह पसंद है। मुझे लगता है कि मैं अपनी पहचान वापस पाने जा रही हूं।

सलाह

“हर बार जब मैंने एक महिला और एक पुरुष को कुछ सिखाया है, तो मुझे हमेशा एक महिला को अधिक प्रोत्साहित करना पड़ता है। वे हमेशा अनिश्चित होती हैं, कि वे इसे करने में सक्षम होंगी। मगर पुरुषों के साथ बात अलग है। और यकीन मानिए महिलाएं इसके लिए पूरी तरह से सक्षम हैं।

सिर्फ इतनी सी बात है कि महिलाएं अपने शौक पर ज्‍यादा ध्‍यान नहीं देतीं। क्योंकि यह उनकी भूमिका में फिट नहीं है। मुझे लगता है कि अगर वे इसे आजमाने की कोशिश करती हैं, तो वे समझेंगे कि वे कुछ भी कर सकती हैं।”

यह भी पढ़ें – रियल, रिलेटेबल और रिफ्रेशिंग: मिनी माथुर दे रहीं हैं हमें अपनी “अनफिल्टर्ड” लाइफ की एक झलक

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।