मैं हमेशा अपने शरीर को छुपाती रही, पर अब मैं इसे स्वीकार कर रहीं हूं, बॉडी पॉजिटिविटी पर अंशुला कपूर

अंशुला कपूर ने बकिनी में पिक्चर शेयर करते हुए अपने शरीर के प्रति सकारात्मकता और आत्मविश्वास दिखाया है। साथ ही उन्होंने अन्य महिलाओं को भी शरीर से प्यार करने की सलाह दी।

body positivity
बॉडी पाजिटिविटी है जरुरी। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 22 October 2022, 15:30 pm IST
  • 149

जिन लोगों के शरीर की एक इमेज बन जाती है, केवल वही इस बात को समझ सकते हैं कि इसे तोड़ने में कितना समय लगता है। अंशुला कपूर पिछले कुछ महीनों से अपने शरीर मे भारी बदलाव कर रही हैं। उन्होंने बताया कि इस दौरान धीरे-धीरे वह खुद को अप्रिशिएट करना सीख रही हैं। बॉडी बैरियर को तोड़ते हुए, 31 साल की अंशुला कपूर ने सोशल मीडिया पर अपना बिकनी लुक शेयर किया है, उन्होंने शरीर की सकारात्मकता की ओर इशारा किया है।

अंशुला कपूर के शरीर पर उनकी रॉयल ब्लू बिकिनी काफी ज्यादा प्यारी लग रही है। लेकिन जो बात तस्वीर को अनमोल बना रही है, वह है उसका कैप्शन। वहीं यह तस्वीर महिलाओं को एंपावरमेंट से लेकर सेल्फ कॉन्फिडेंस को काफी ज्यादा बूस्ट करती नजर आ रही है।

3 महीने पहले अपनी दोस्त के स्विमिंग कॉस्टयूम पहनने पर अंशुला ने बिकिनी आईडिया का विरोध करते हुए कहा था की “मैं बिकनी पहनने को लेकर कभी भी कॉन्फिडेंस और कंफर्टेबल नहीं हो सकती।”

वहीं उनकी सहेली ने अंशुला को बिकनी पहनने की सलाह दी और पूछा की आखिर बिकनी पहनने में क्या परेशानी है। उन्हें आश्चर्य हुआ कि आखिर अंशुला में इतनी झिझक क्यों है।

Anshula-Kapoor
अंशुला कपूर कहती हैं कि “मैं हमेशा से अपने शरीर को छुपाना चाहती थी”. चित्र शटरस्टॉक।

अंशुला कपूर कहती हैं कि “मैं हमेशा से अपने शरीर को छुपाना चाहती थी”

फिल्म प्रोड्यूसर बोनी कपूर की बेटी और अर्जुन कपूर की बहन अंशुला कपूर कहती हैं कि “मुझे हमेशा से यही लगता है कि खास कपड़े पहनने के लिए शरीर भी उस कपड़े के अनुसार होना चाहिए। वहीं मैं शरीर को छिपाकर अपनी बॉडी को लोगों के सामने नहीं आने देना चाहती थी।”

परंतु धीरे-धीरे वह अपने इस विचार को बदलना सीख रही हैं। अंशुला कपूर ने एक स्वस्थ जीवन शैली की ओर बढ़ने का निश्चय किया है। वह खुद के अंदर आत्मविश्वास को बढ़ा रही हैं। वह अपने फिटनेस और वेट लॉस ट्रांसफॉर्मेशन के लिए डाइट और एक्सरसाइज की मदद ले रही हैं।

हाल ही में एक हॉलिडे के दौरान अंशुला ने अपना मन बदलते हुए बिकनी पहनी और इस फोटो को सोशल मीडिया पर पोस्ट भी किया! हालांकि, उनके द्वारा पिछले दिन कही गई बात के बाद अंशुला का ऐसा करना कई लोगों के मन में आत्मविश्वास को बढ़ावा दे सकता है।

मेरे शरीर की छवि अभी तक मेरे दिमाग मे बनी हुई है। अंशुला कहती हैं कि “मैं खुद को हमेशा समझाती हूं कि एक ‘परफेक्ट’ तस्वीर केवल इंस्टाग्राम फीड पर होती है। असल मे ऐसा नही होता। मैं अभी अपने शरीर से प्यार करना सिख रही हूं। मैं हर तरह से अपने शरीर को अपनाना चाहती हूं चाहे वह स्लीम हो या फैट।

स्ट्रेच मार्क्स सामान्य हैं – अंशुला कपूर

उन्होंने स्ट्रेच मार्क्स को लेकर अपनी भावनाओं को शेयर किया और कहा कि “स्ट्रेच मार्क्स के निशान से शरीर का ढंकना ठीक है, सेल्युलाईट और बनावट होना सामान्य है। वहीं मेरा FUPA हमेशा मेरे शरीर का एक हिस्सा बना रहेगा।

यदि आप इसे पहले से नहीं जानती हैं, तो FUPA का अर्थ है प्यूबिक एरिया के ऊपर का फैट। शरीर के इस हिस्से के फैट को घटाना काफी कठिन हो सकता है। लेकिन सही आहार और उचित व्यायाम के साथ इसे धीरे धीरे दूर किया जा सकता हैं।

happy rahen
अपने आपको शाबासी देना न भूलें। चित्र: शटरस्टॉक

आखिर अब वह खुश हैं, कि उन्होंने अपने शरीर को एक नया मौका दिया

अंशुला कहती हैं कि छुट्टी के दिनों में से यह मेरे मनपसंदीदा दिनों में से एक था। मुझे आत्मविश्वास महसूस हुआ, मैंने अपनी त्वचा को लेकर काफी ज्यादा कॉन्फिडेंस महसूस किया। अब मै परफेक्शन की जगह जॉय महसूस कर रही हूं। और मैं अब इस बिकनी को फिर से पहनने का इंतजार नहीं कर सकती।

अन्य लोगों के लिए इंस्पिरेशन नोट देते हुए, वह लिखती हैं की “यदि आप किसी तरह का कपड़ा पहनना चाहती हैं, तो बेझिझक होकर बिना शरीर की चिंता किए कपड़ा पहने। साथ ही अपने शरीर को पर्याप्त प्यार करें।”

यह भी पढ़ें :  Narak Chaturdashi : रूप चौदस पर लाना है सिर से पांव तक निखार, तो इन 5 घरेलू उपायों से करें डार्क एरिया को साफ

  • 149
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें