“मैं हार मानने से इंकार करती हूं”, ब्रेस्ट कैंसर का पूरी हिम्मत से मुकाबला कर रहीं हैं अभिनेतत्री हंसा नंदिनी

Updated on: 5 May 2022, 15:03 pm IST

कैंसर शब्द सुनते ही व्यक्ति अंदर तक सिहर जाता है। लेकिन जिंदगी की इस लड़ाई से जीतने के लिए अभिनेत्री हंसा नंदिनी एक मिसाल हैं।

Hansa Nandani ki cancer se ladai
जानिए हंसा की कैंसर से लड़ाई। चित्र: हंसा नंदिनी, फेसबुक

“मैं साहस और प्यार के साथ आगे बढूंगी,” अभिनेत्री हंसा अपने निडर स्वभाव का प्रदर्शन करते हुए लिखती हैं। कैंसर की जंग बॉलीवुड के कई सेलेब्स लड़ चुके हैं। जिंदगी के इस सफर में अगर कैंसर ने ऋषि कपूर और इरफान खान जैसे दिग्गज अभिनेताओं को मात दी है, वहीं मनीषा कोइराला और सोनाली बेंद्रे इसे हराकर आगे बढ़ी हैं।

लेकिन यहां हम मिर्ची और लीजेंड जैसी तेलुगु फिल्मों की अभिनेत्री हंसा नंदिनी की बात कर रहें हैं। अपनी लेटेस्ट इंस्टाग्राम पोस्ट में उन्होंने ब्रेस्ट कैंसर के निदान, इसके उपचार और बहुत सी चीजों के बारे में बताया है। 37 वर्षीय अभिनेत्री ने इस पोस्ट में अपनी तस्वीर सांझा की है। अपने सोशल मीडिया अकाउंट से हंसा ने बाल्ड लुक में तस्वीर शेयर कर अपने फैंस को कैंसर से पीड़ित होने की जानकारी दी है।

अपने पोस्ट में उन्होंने एक लंबा नोट लिखा है। उस नोट की शुरुआत में लिखा है,”चाहे जीवन मुझ पर कितना भी कठोर क्यों न हो जाए, में पीड़ित की भूमिका निभाने से इंकार करती हूं। मैं डर, निराशावाद और नकारात्मकता का शिकार बनने से इंकार करती हूं। मैं इस लड़ाई में हार मानने से इंकार करती हूं।”

देखिए हंसा नंदिनी की बहादुरी भरी पोस्ट

कैसे हुआ कैंसर का निदान?

उन्होंने अपनी पोस्ट में खुलासा किया कि उन्हें ग्रेड III इनवेसिव कार्सिनोमा यानी ब्रेस्ट कैंसर (Breast Cancer) हुआ है। वह कहती हैं, “कुछ घंटे पहले मैं एक मेमोग्राफी क्लिनिक में थी और गांठ की जांच करवा रही थी। मुझे तुरंत एक सर्जिकल ऑनकोलॉजिस्ट से मिलने के लिए कहा गया, जिन्होंने बायोप्सी कराने का सुझाव दिया। इस बायोप्सी ने मेरे डर की पुष्टि कर दी और मुझे पता चला कि मुझे कैंसर हुआ है।” 

वे आगे बताती हैं, “ढेर सारे स्कैन और टेस्टिंग के बाद मैं ऑपरेशन थियेटर में बहादुरी से गई जहां मेरा ट्यूमर हटा दिया गया। डॉक्टरों ने बताया कि ऑपरेशन सफल रहा और मैं भाग्यशाली थी कि इसे जल्दी पकड़ लिया गया।” 

कैंसर से मां को भी खो चुकी है हंसा

अपनी पोस्ट में हंसा बताती हैं, “4 महीने पहले, मुझे अपने स्तन में एक छोटी सी गांठ महसूस हुई। उसी क्षण मुझे पता चल गया कि मेरा जीवन अब पहले जैसा नहीं रहा। 18 वर्ष पहले मैंने भयानक बीमारी के कारण अपनी मां को खो दिया था। तब से मैं इसकी अंधेरी छाया के नीचे जी रही थी, लेकिन आज मैं डर गई।” 

लड़ाई अभी बाकी है 

यह जानकर राहत मिली कि हंसा ग्रेड III इनवेसिव कार्सिनोमा को मात दे चुकी थी। लेकिन पोस्ट के एक अंश में वह कहती हैं, “यह राहत अल्पकालिक थी। मैंने BRCA1 (हेरेडिटरी ब्रेस्ट कैंसर) के लिए सकारात्मक परीक्षण किया था। इसका मतलब है कि मेरे पास जेनेटिक म्यूटेशन है, जो लगभग गारंटी देता है कि मेरे लिए स्तन कैंसर का 70% और ओवरियन कैंसर का 45% जोखिम है।

जोखिम को कम करने का एकमात्र तरीका कुछ बहुत व्यापक प्रोफिलैक्टिक सर्जरी हैं, जो पूर्ण रूप से विजयी होने से पहले करने की आवश्यकता है। वर्तमान में, मैं पहले से ही केमोथेरेपी के 9 साइकिल से गुजर चुकी हूं जिसमें 7 और बाकी हैं।” 

Cancer ki ladai ko jeetengi hansa
कैंसर की लड़ाई को जीतेंगी हंसा। चित्र:शटरस्टॉक

हंसा ने खुद से किए ये वादें 

अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में हंसा ने खुद से कुछ वादे किए हैं। इनमें शामिल हैं: 

  • मैं इस बीमारी को अपने जीवन को परिभाषित नहीं करने दूंगी और मैं इसे एक मुस्कान और जीत के साथ लडूंगी।
  • स्क्रीन पर बेहतर और मजबूत वापसी करूंगी।
  • मैं अपनी कहानी बताऊंगी ताकि मैं दूसरों को शिक्षित और प्रेरित करने में मदद कर सकूं।
  • और, मैं पूरे जोश से जीवन का जश्न मनाऊंगी। 

यकीनन इस जंग को जीतेंगी हंसा नंदिनी 

अपनी पोस्ट की अंतिम पंक्तियों में हंसा कहती हैं, “आप सभी को, मैं आपके प्यार और फिक्र के लिए बहुत सारा धन्यवाद कहना चाहती हूं। इन दुआओं ने मुझे इस कठिन परीक्षा से गुजरने में मदद की है। मैं आपको विश्वास दिलाती हूं कि मैं डॉक्टरों की एक बेहतरीन टीम की देखरेख में हूं। यह मेरे परिवार, दोस्तों और फिल्म इंडस्ट्री के लगातार समर्थन के कारण है कि मैं सकारात्मकता के साथ एक उत्साही लड़ाई लड़ रही हूं।” 

यह भी पढ़ें: Year Ender 2021 : मिलिये उन 6 पावर गर्ल्स से, जिन्होंने दुनिया के देखने का नजरिया बदल दिया

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !