Valentines Day special : फिलहाल सिंगल हूं और अपने प्यार में हूं : अनन्या पांडे

Updated on: 12 February 2022, 14:46 pm IST

प्यार इस समय फिजाओं में है, पर अनन्या पांडे के लिए यह जीवन का जरूरी हिस्सा है, जिसकी शुरूआत वे अपने आप से करती हैं।

janiye nanaya pandey ke baare mein
अनन्या पांडे का प्यार और रिश्तों पर इंटरव्यू।

प्यार (LOVE) में होना किसी को भी खास बना देता है। पर यही प्यार जब किसी रिश्ते में शामिल होता है, तो उसके कुछ नए अर्थ खुलने लगते हैं। इसके अनुभव पॉजिटिव (Positive) और नेगेटिव (Negative) दोनों हो सकते हैं। अनन्या पांडे (Ananya Panday) की हाल ही में रिलीज हुई फिल्म गहराइयां (Gehraiyan), प्यार के कुछ ऐसे ही अनुभवों के साथ आई है। मगर असल में अनन्या पांडे के लिए प्यार क्या है, वे रिश्तों को किस तरह लेती हैं? और जीवन की जटिलताओं का कैसे सामना करती हैं, इस पर हेल्थ शॉट्स ने उनसे विस्तार से बात की। आइए जानते हैं लव (Love) , वैलेंटाइन (Valentine), दोस्ती (Friendship) और सिंगलहुड (Singlehood) पर क्या है  23 वर्षीय अभिनेत्री अनन्या पांडे की राय।

प्रेम (Love) 

“मेरे लिए, प्यार दोस्ती है। जैसा कि शाहरुख (Shahrukh Khan) सर कहते हैं , मेरे लिए प्यार दोस्ती है। यह सब उस कनेक्शन, विश्वास और क्षमता के बारे में है। मुझे नहीं लगता कि प्यार सिर्फ एक रोमांटिक रिश्ते से बंधा होता है। प्यार हर जगह मौजूद है।

जब मैं छोटी थी, मुझे लगता था कि यह एक खास तरह का प्यार है, जो आप किसी और के लिए महसूस नहीं करेंगे। पर अब मैं इतने सारे लोगों के लिए प्यार महसूस करती हूं – मेरे दोस्त, मेरा परिवार, सभी! इसलिए, मुझे लगता है कि बड़े होकर एक सोलमेट से बंधे हुए प्यार की मेरी परिभाषा बदल गई है।”

आत्मीयता (Intimacy)

“बहुत जरुरी है! जब हम इंटीमेसी शब्द का यूज़ करते हैं, तो हम अक्सर इसे केवल इसके भौतिक पक्ष तक ही फोकस कर देते हैं। पर मेरा मानना ​​है कि भावनात्मक अंतरंगता शारीरिक अंतरंगता से अधिक महत्वपूर्ण है। मैं उस तरह की इंसान हूं जो हर चीज के बारे में बात करना चाहती है। एक रिश्ते में मेरे लिए सबसे ज्यादा जरूरी है संवाद।

मुझे किसी ऐसे व्यक्ति के साथ रहने की ज़रूरत है, जो मुझे समझता है, जो मुझे जज नहीं करता है, जो मुझे मेरे हिसाब से आगे बढ़ने देता है। जिसके साथ मैं बिना यह महसूस किए बातचीत कर सकती हूं कि वह मुझे जज करेगा या गलत समझेगा।

बेवफाई (Infidelity)

“मैं यह नहीं कहना चाहूंगी कि मुझे बेवफाई का अनुभव हुआ है, क्योंकि मैं अभी बहुत छोटी हूं … लेकिन मुझे नहीं लगता कि मैं जिस तरह की हूं, मैं बेवफाई का सामना कर पाऊंगी। ऐसा इसलिए है क्योंकि मैं एक बेहद वफादार इंसान हूं। मैं ईमानदारी और विश्वास को सबसे ऊपर रखती हूं। इसलिए मैं इसे बर्दाश्त नहीं कर पाऊंगी।

मगर ‘गहराइयां’ करते समय मैंने जो सीखा है, वह पूरी तरह से जजमेंटन होना नहीं है। इसलिए उस व्यक्ति को पूरी तरह से छोड़ने की बजाय मैं उन कारणों को समझने की कोशिश कर सकती हूं कि उन्होंने ऐसा क्यों किया।

मुझे नहीं लगता कि जीवन में कुछ भी अक्षम्य या अपूरणीय है। लेकिन यह पूरी तरह से मुझ पर निर्भर करता है कि मैं कहां और किसके साथ सहज हूं और किसके साथ नहीं। पर मैं तब तक किसी भी बात पर बहुत सही प्रतिक्रिया नहीं दे पाऊंगी, जब तक मैं उस स्थिति में खुद को नहीं पाती हूं।”

ananya pandet interview
रिलेशनशिप में होने के बाद भी जरूरी है सेल्फ लव।

खुद से प्यार (Self love)

“ईमानदारी से कहूं, तो मैं हमेशा ‘अपनी फेवरिट हूं’। मैं हर दिन खुद से ज्यादा प्यार करना सीख रही हूं। मैं यह नहीं कह सकती कि मैं पूरी तरह से अपने आप से प्यार करती हूं, और मैं सबसे ऊपर हूं। मैं ऐसा सोचना भी नहीं चाहती! लेकिन सेल्फ- लव बहुत महत्वपूर्ण है, और हम अक्सर इसे नज़रअंदाज़ कर देते हैं। खासकर जब हम किसी रिश्ते में होते हैं, तो हम सारी जिम्मेदारी अपने पार्टनर पर डाल देते हैं। और अपने प्यार के टैंक पूरी तरह से अपने पार्टनर पर उड़ेल देते हैं। इसमें अपने लिए कुछ बचा नहीं रहता।

“बड़े होकर, मैंने सीखा कि खुद से बातें करना, अपने आप से प्यार करना और अपने शरीर को वक्त देना जरूरी है।”

“आपको अपने लिए समय निकालना होगा, और जिन चीजों को आप करना पसंद करती हैं, उन्हें पूरी तरह से अलग करना होगा उनसे, जो कोई और करना पसंद करता है। आपको अपनी पहचान पर अपना निर्माण करना होगा। मैं अपने आप पर बहुत सख्त हूं। मैं अत्यधिक आलोचनात्मक व्यक्ति हूं। मुझे बहुत ज्यादा सोचने की आदत है। मैं खुद को यह बताने की कोशिश करती हूं कि हम इंसान हैं और गलतियां होना लाज़िमी है। खुद से संवाद करना, खुद का आकलन करना एक जरूरी प्रक्रिया है।

सिंगल हूं और खुश हूं (Singlehood)

स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म अमेज़न प्राइम वीडियो पर रिलीज हुई फिल्म ‘गहराइयां’ में अनन्या पांडे के साथ दीपिका पादुकोण और सिद्धांत चतुर्वेदी भी हैं। गहराइयां रिश्तों की उलझन पर केंद्रित फिल्म है। मगर अनन्या फिलहाल सिंगल हैं और अपनी इस स्थिति पर बेहद खुश हैं।

वे कहती हैं, “मैं होपलेस रोमांटिक पर्सन हूं। मुझे प्यार पसंद है, लेकिन मुझे यह भी लगता है कि जब आप सिंगल हों, तो जीवन में उस दौर का भी आनंद लेना जरूरी है। किसी और को जानने से पहले आपके लिए यह जानना जरूरी है कि असल में आप कौन हैं। सिंगलहुड आपको इसके लिए समय देता है। अन्यथा, यदि आप असुरक्षित हैं, अनिश्चित हैं और अभी भी खुद को पा रहे हैं, तो यह आपके रिश्ते में फिर से आ जाता है।

सबकी एक यात्रा होती है। कोई सही या गलत तरीका नहीं है। लेकिन यह निश्चित रूप से मददगार हो सकता है कि आप केवल अपने और अपने हितों के लिए समय दें। उन चीजों को करें जो आपको खुश करती हैं, और उन अनुभवों का आनंद लें, जो आप स्वयं प्राप्त कर सकते हैं। इससे पहले कि आप उन्हें अन्य लोगों के साथ शुरू कर सकें!”

यह भी पढ़ें : मेरे शरीर का हर उभार, हर इंच खूबसूरत है, बॉडी पॉजिटिव होने का संदेश दे रहीं हैं इलियाना डिक्रूज

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।