शराब पीने से ज्यादा खतरनाक हैं खानपान की खराब आदतें, बढ़ा सकती हैं कैंसर का जोखिम

Published on: 18 June 2022, 08:00 am IST

आपका खानपान भी आपके समग्र स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है, इतना ही नहीं यह कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का कारण भी बन सकता है।

kharab khaanpaan ki aadtein ban sakti hain cancer ka karan
क्या खानपान की खराब आदतें बन सकती हैं कैंसर का कारण. चित्र ; शटरस्टॉक

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, कैंसर दुनिया में मौत का दूसरा सबसे बड़ा कारण है। अकेले 2015 में, दुनिया में 8.8 मिलियन मौतें कैंसर के कारण हुईं। कैंसर से होने वाली मौतों में से एक तिहाई के लिए सिर्फ इन 5 मुख्य कारकों को जिम्मेदार ठहराया गया – हाई बॉडी मास इंडेक्स, फलों और सब्जियों का सेवन कम करना, शारीरिक गतिविधि की कमी, तंबाकू का उपयोग और शराब का सेवन।

इतना ही नहीं, आपका खानपान भी आपके समग्र स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है, इतना ही नहीं यह कई बीमारियों का कारण भी बन सकता है। मगर क्या आपने कभी सोचा है कि आपकी खाने की आदतें कैंसर का कारण बन सकती हैं? यकीनन कभी नहीं सोचा होगा, तो चलिये पता करते हैं इसके बारे में सब कुछ।

इस बारे में क्या कहते हैं अध्ययन

डबल्यूएचओ के अनुसार कैंसर के सभी मामलों में से 30% मामलों का संबंध खराब खान-पान की आदतों से होता है। इसलिए इसे रोका जा सकता है। 70% जठरांत्र संबंधी कैंसर का कारण खराब आदतें हैं। जीवन भर स्वस्थ वजन बनाए रखना कैंसर से बचाव के सबसे महत्वपूर्ण तरीकों में से एक हो सकता है।

टफ्ट्स यूनिवर्सिटी के अध्ययन में पाया गया कि खराब आहार के कारण कैंसर के मामलों की संख्या उतनी ही होती है, जितनी कि संयुक्त राज्य अमेरिका में शराब के सेवन से होती है। अध्ययन में यह भी पाया गया कि खराब आहार 38% कोलोरेक्टल कैंसर के मामलों से जुड़ा था,

चलिये पता करते हैं क्या हैं वे आदतें जो आगे चलकर कैंसर का कारण बनती हैं

अनहेल्दी खाने की आदतें

जब आप अपने कैंसर के जोखिम को कम करना चाहते हैं, तो यह ध्यान देने वाली सबसे महत्वपूर्ण आदतों में से एक हो सकती है। पोषक तत्वों से भरपूर फलों और सब्जियों से भरपूर आहार लें और रेड मीट और प्रोसेस्ड फूड से परहेज करें। सोडा और आर्टीफिशियल स्वीटनर से बचें, और जब संभव हो तो पानी पिएं।

Junk food se bnaye doori
जंक फूड से बनाए दूरी। चित्र : शटरस्टॉक

शराब पीना

अत्यधिक मात्रा में शराब का सेवन करने से कैंसर का खतरा काफी बढ़ जाता है। इसके अलावा, शराब को लिवर की बीमारी, उच्च रक्तचाप और चिंता और अवसाद का कारण माना जाता है। यदि संभव हो तो शराब का सेवन बंद कर दें या कम मात्रा में पिएं।

ओरल हेल्थ का ख्याल न रखना

ब्रश करना और फ्लॉसिंग करना दांतों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है। नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के जर्नल के एक अध्ययन ने सुझाव दिया कि मसूड़ों की बीमारी से फेफड़े और कोलोरेक्टल कैंसर का खतरा 24% बढ़ जाता है।

मगर आप चिंता न करें, क्योंकि इन सब आदतों को ठीक करने से कैंसर के जोखिम को कम किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें : फदर्स डे पर पापा को दें एप्रीकॉट और पीच टार्ट का तोहफा, जानिए इसकी लो कैलोरी रेसिपी

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें