Do’s and Don’ts of hypertension : हाइपरटेंशन से बचना है तो ये जरूरी बातें याद रखें

नींद न आना, मोटापा, तनाव व अन्य लक्षण हाइपरटेंशन के हो सकते हैं। इससे बचने के लिए लाइफस्टाइल में बदलाव करने के साथ-साथ अपने आहार में भी कुछ चीजों को शामिल करना चाहिए।

BP ke liye Fal
हाई ब्लड प्रेशर से निजात पाने में ये आहार आपकी मदद करेगा। चित्र : शटरस्टॉक
मिथिलेश कुमार पटेल Published on: 11 May 2022, 08:00 am IST
  • 100

भागदौड़ भरी इस दुनिया से कदमताल करने की जद्दोजहद में अपने फिटनेस को नजरअंदाज कर अब आप भी मोटी होने लगी हैं। अब आपको भी पहले की तरह नींद नहीं आती है। नौकरी मिलने के बाद टेंशन घटने की बजाय और बढ़ने लगी है। बिगड़ते लाइफस्टाइल खासकर खानपान की वजह से कहीं आप भी हाइपरटेंशन की गिरफ्त में तो नहीं आ गई। अगर ऐसी बात है तो जान लीजिए हाइपरटेंशन क्या है और किन आहारों को लेने से इससे राहत मिलेगी।

क्या है हाइपरटेंशन?

हाइपरटेंशन को हाई बीपी या हाई ब्लड प्रेशर भी कहा जाता हैं। हृदय से शुद्ध ब्लड को शरीर के बाकी हिस्सों तक ले जाने वाली धमनियों की दीवारों पर इसके बहाव के दौरान ब्लड का दबाव बढ़ जाता है। इस स्थिति को हाइपरटेंशन कहते हैं।

बिना किसी लक्षण के सालों तक हमें हाइपरटेंशन की शिकायत हो सकती है। धमनियों में बढ़ता ब्लड का दबाव अगर लंबे समय तक रहे और इसे कंट्रोल न किया जाए, तो हमें दिल के दौरे, स्ट्रोक व हृदय संबंधी अन्य समस्याएं घेर सकती हैं। हाई ब्लड प्रेशर का आसानी से पता लगाया जा सकता है। एक बार पता चल जाए कि आपको हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत है, तो आप इसे कंट्रोल करने के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श ले सकती हैं।

high blood pressure me artery ki wall par blood ka dabaw badh jata hai
हाइपरटेंशन में धमनियों की दीवारों पर ब्लड का दबाव बढ़ जाता है। चित्र : शटरस्टॉक

एक स्वस्थ व्यक्ति का ब्लड प्रेशर 120/80 होता है। इन दिनों बढ़ रहे प्रदूषण या तापमान या लोकेशन के कारण कुछ लोगों में यह आकड़ा कमोबेश घट या बढ़ भी सकता है। लेकिन इसमें अप्रत्याशित बढ़ोत्तरी हो जाने पर हाइपरटेंशन की शिकायत होने लगती है।

पहचानिए हाइपरटेंशन के लक्षण

कुछ लोगों में हाइपरटेंशन के लक्षण महसूस नहीं होते। भले ही उनका बीपी सामान्य से ज्यादा हो जाए। वहीं दूसरी तरफ ज्यादातर लोग बीपी बढ़ जाने पर सिरदर्द, सांस लेने में तकलीफ, नाक से खून का आना, नींद न आना, बार-बार गुस्सा बढ़ जाना और तनाव की शिकायत करते हैं। इन लक्षणों को नजरंदाज करना आपके लिए समस्याएं और भी ज्यादा बढ़ा सकती है। इसलिए यह जरूरी है कि आप इन्हें चेतावनी संकेत मानते हुए अपने स्वास्थ्य और लाइफस्टाइल पर तुरंत ध्यान दें।

यह भी पढ़ें :- डिअर लेडीज, इस गर्मी इन 8 सुपरफूड्स के साथ वेट लॉस को बनाएं आसान

हाइपरटेंशन की समस्या से जूझ रही हैं, तो ध्यान दें

आमतौर पर हाइपरटेंशन को साइलेंट किलर कहा जाता है। आज दुनिया भर में इसके मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। करीब 30 फीसदी भारतीय इस समस्या से जूझ रहे हैं। यूपी के गाजियाबाद वैशाली स्थित मैक्स हॉस्पिटल में इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी के डॉयरेक्टर डॉ. अमित मलिक बताते हैं कि हाइपरटेंशन के लिए उम्र, लिंग, मोटापा, सुस्त लाइफस्टाइल, फूड व कई अन्य कारक जिम्मेदार हैं। हाइपरटेंशन यानी शरीर के ब्लड प्रेशर को कंट्रोल व रुटीन चेकअप के बाद मॉनीटर करके हम हृदय और गुर्दे की गंभीर बीमारियों से खुद का बचाव कर सकते है।

इसके साथ ही हाइपरटेंशन से बचने के लिए अपने दैनिक डाइट में बदलाव करने की जरुरत भी है। कहने का मतलब यह है कि हम अपने ब्रेकफॉस्ट, लंच और डिनर में उन आहारों को शामिल कर सकते हैं जिससे ब्लड प्रेशर को नियत्रण में रखने में मदद मिलती है। हाइपरटेंशन की समस्या दूर रहे उसके लिए आइए जानें क्या नहीं खाना चाहिए और क्या खाना चाहिए।

यह भी पढ़ें :- बर्नआउट से बचाकर, आपकी प्रोडक्टिविटी बढ़ा सकती है एक छोटी सी झपकी , जानिए इसके फायदे

हाई बीपी या हाइपरटेंशन की समस्या है, तो आहार में करें ये जरूरी बदलाव

हाइपरटेंशन आप से दूर रहे उसके लिहाज से यूपी के गाजियाबाद वैशाली स्थित मैक्स हॉस्पिटल में इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी के डॉयरेक्टर डॉ. अमित मलिक बताते हैं कि-

1 अत्यधिक नमक खाने से परहेज करें

उन आहारों को लें जिनमें सोडियम यानी नमक की मात्रा सीमित हो। और अत्यधिक सामान्य नमक, प्रोसेस्ड फ़ूड, बेकिंग पाउडर और सोडियम बाइकार्बोनेट वाले आहारों को खाने से बचें।

2 प्रोसेस्ड व नमकीन फूड्स खाने से बचें

अत्यधिक प्रोसेस्ड व नमकीन फूड्स जैसे आलू के चिप्स, नमकीन नट्स, नमकीन पॉपकॉर्न, नमकीन स्नैक्स खाने से बचें ।

3 अचार, सॉस खाने से बचें

ऐसे फूड्स जैसे केचप, चिली सॉस, गार्लिक सॉस, सोया सॉस, चटनी और अचार जो स्वाद में अच्छे और आपकी जीभ को भी खूब सुहाते हैं लेकिन आपके ब्लड वेसेल पर बुरा प्रभाव डालते हैं, तो ऐसे व्यंजनों को खाने से परहेज करना चाहिए।

4 चिकन स्किन और हाइली फैट वाले आहार न लें

हाइपरटेंशन से बचना चाहती हैं तो सैचुरेटेड फैट्स जैसे चिकन स्किन ,फुल फैट डेयरी प्रोडक्ट्स, लाल मांस और ट्रांस फैट्स खाने से परहेज करना चाहिए।

5 अत्यधिक कैफीन लेने से बचें

कैफीन हमारे चाय और काफी में मौजूद होती है। ज्यादातर लोग इसका इस्तेमाल भी करते हैं। और कुछ लोगों के लिए यह काफी जरुरी भी होता है। लेकिन यह भी हाइपरटेंशन के लिए जिम्मेदार हो सकती है। इसलिए इसका अत्यधिक इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।

जिल लोगों को कैफीन लेने की लत हो जाती है उनमें हाइपरटेंशन की समस्या पाए जाने की संभावना बढ़ जाती है यानी उनका ब्लड प्रेशर आमतौर पर हाई होती है।

यह भी पढ़ें :- उमस भरी गर्मी में दिल की सेहत को न करें इग्नोर, जानिए गर्मियों में हृदय स्वास्थ्य के लिए 5 उपाय

अगर आप हाइपरटेंशन से जूझ़ रही हैं, तो इन फूड्स को करें अपने आहार में शामिल

कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. अमित मलिक सलाह देते हैं कि

1 केला

केले में पोटेशियम की भरपूर मात्रा मौजूद है और यह पोटेशियम हमारे शरीर के ब्लड प्रेशर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करती है। शोध का हवाला देते हुए डॉ. मलिक ने कहा कि दिन में दो केला खाने से ब्लड प्रेशर को 10 फीसदी तक कम करने में मदद मिल सकती है।

2 हरी पत्तेदार सब्जियां

हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, लेट्यूस या सरसों का साग नाइट्रेट का एक समृद्ध स्रोत हैं। डॉ. मलिक बताते हैं कि नाइट्रेट युक्त सब्जियों की सिर्फ एक से दो डाइट 24 घंटे तक शरीर के ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें :- इस शोध के अनुसार दाल-चावल, साग-सब्जी भी दे सकते हैं आपके बच्चे को पूरा पोषण

3 चुकंदर

डॉ. मलिक कहते हैं कि चुकंदर में एंटीऑक्सिडेंट मौजूद होती है और यह एंटीऑक्सिडेंट ब्लड प्रेशर के स्तर को प्रबंधित करने में मदद करती है। आगे बताते हैं कि एंथोसायनिन की मौजूदगी के कारण चुकंदर का रंग लाल होता है, और यह केमिकल हमारे शरीर के ब्लड प्रेश को नियंत्रित करने वाली क्रिया को बेहतर करने का कम करती है।
डॉ. मलिक हाइपरटेंशन से जूझ रहे मरीजों को नियमित एक गिलास चुकंदर का रस पीने सलाह देते हैं और कहते हैं कि ऐसा करने हाई ब्लड प्रेशर से छुटकारा पाने में उन्हें मदद मिल सकती है।

4 शकरकंदी

यह सबसे बेहतर सुपरफूड्स में से एक है जो हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में कारगर है। शकरकंदी में फाइबर और दो मिनेरल्स- मैग्नीशियम और पोटेशियम की पर्याप्त मात्रा मौजूद होते हैं। डॉ. मलिक बताते हैं कि मैग्नीशियम और पोटेशियम शरीर के ब्लड प्रेशर के स्तर को काफी हद तक नियंत्रित करने में मदद करते हैं।

5 लहसुन

लहसुन में सल्फर की भरपूर मात्रा मौजूद है और यह सल्फर एलिसिन (Allicin) के रूप में उसमें पाया जाता है, शरीर के ब्लड प्रेशर को कम करने ये सल्फर एलिसिन काफी कारगर साबित होता हैं। डॉ. मलिक बताते हैं कि लगभग 600 से 900 मिलीग्राम लहसुन पाउडर ब्लड प्रेशर के स्तर में करीब 9 से 12 फीसदी तक कमी ला सकती है।

यह भी पढ़ें :- बालों की ये 4 समस्याएं बताती हैं आपके आंतरिक स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ, यहां जानिए कैसे

इसे भी याद रखें

हाइपरटेंशन से बचने के लिए-

ज्यादा चीनी न खाएं।
सफेद चावल ज्यादा खाने से बचें।
सफेद आटा यानी मैदा ज्यादा न खाएं।
एक बार में ज्यादा खाना खाने से बचें।
शराब की मात्रा सीमित करें या छोड़ दें।
महीने में 500 ग्राम से ज्यादा घी, तेल, मक्खन न खाएं
ट्रांस फैट यानी वनस्पतियों से प्राप्त होने वाले फैट को खाने से बचें

अगर आप अपने हृदय को लंबे समय तक स्वस्थ रखना चाहती हैं, तो यह जरूरी है कि हाइपरटेंशन को समय रहते कंट्रोल किया जाए। इसके लिए आप –

हाइपरटेंशन की समस्या से निजात पाने के लिए अपने दिन भर के खानपान में हरे-भरे आहार पालक, मेथी व अन्य को शामिल करें। अगर हम ज्यादातर आलू मटर या आलू टमाटमर की सब्जी खाते हैं, तो उसे हेल्दी ट्विस्ट देकर उसमें मेथी, पालक आदि को शामिल करें। हरी सब्जियां हाइपरटेंशन को कंट्रोल करने में मदद करती हैं।
मोटापा कम करें
फैट बढ़ाने वाले आहारों को लेने से परहेज करें
सुबह पैदल सैर के साथ नियमित एक्सरसाइज को दिनचर्या में शामिल करें
तनाव में न रहें
भरपूर नींद लें
संतुलित आहार लें

यह भी पढ़ें :- इन सेलेब्स के लिए फायदेमंद साबित हुई इंटरमिटेंट फास्टिंग, देखिए फैट टू फिट जर्नी

  • 100
लेखक के बारे में
मिथिलेश कुमार पटेल मिथिलेश कुमार पटेल

भारतीय जनसंचार संस्थान, नई दिल्ली से पत्रकारिता में डिप्लोमा कर चुके मिथिलेश कुमार सेहत, विज्ञान और तकनीक पर लिखने का अभ्यास कर रहे हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory