लगातार स्क्रीन पर देखते रहने के कारण आंखें हो रहीं हैं परेशान, तो इन 4 तरीकों से करें आंखों की देखभाल 

आंखे हमारे शरीर का सबसे संवेदनशील हिस्‍सा हैं। लॉकडाउन में ऑनलाइन होने का सबसे ज्‍यादा नुकसान आंखों को ही उठाना पड़ा है। ऐसे में जानिए कि कैसे रखना है अपनी आंखों का ख्‍याल। 
thakaan mitane ke tareeke
हर समय की थकान से परेशान हैं? चित्र : शटरस्टॉक
प्रेरणा मिश्रा Updated: 10 Dec 2020, 12:16 pm IST
  • 67

आप अपनी त्वचा और स्वास्थ संबंधी समस्याओं से निपटने के लिए ना जाने क्या क्या करते है,पर क्या कभी अपने आँखों के बारे में सोचा है,जिससे आप यह खूबसूरत दुनिया देखते हों। अगर नहीं तो अब समय है अपनी आंखों के बारे में सोचने का।

कोरोना काल और आंखों की देखभाल 

आज विश्व एक तरफ कोरोना से लड़ रहा है, वहीं दूसरी तरफ घर पर रह कर अपने सभी काम ऑनलाइन करने पड़ रहे हैं। जिसकी वजह से स्‍क्रीन का असर आंखों पर पड़ रहा है। लगातार स्‍क्रीन पर रहने, देर रात तक जागने और अन्‍य कारणों से आंखों को बहुत ज्‍यादा नुकसान उठाना पड़ रहा है। जिससे आंखों में थकावट, सूखापन और कमजोर दृष्टि जैसी समस्‍याएं आ रहीं हैं। 

दिनभर फोन चलाना आपकी आंखों के लिए खतरनाक है, काम ना हो तो फ़ोन का इस्तेमाल अवॉयड ही करें।चित्र- शटर स्टॉक।

ऐसे में जरूरी है कि आप अपनी आंखों की विशेष देखभाल करें। आइए जानते हैं आंखों की सेहत के लिए जरूरी कुछ खास उपाय- 

हेल्दी आइ के लिए कुछ हेल्दी टिप्स

1.सही आहार का सेवन करें

ओमेगा -3 फैटी एसिड और विटामिन सी और ई में उच्च खाद्य पदार्थों से अपनी प्लेट को भरें। ये पोषक तत्व मैक्यूलर डिजनरेशन या मोतियाबिंद के विकास की आपकी संभावना को कम करने में मदद कर सकते हैं। हरी सब्जियां, साल्‍मन मछ्ली, अंडे और खट्टे फल शुरू करने के लिए एक बढ़िया विकल्प हैं!

ओमेगा 3 आँखों के लिए है बेहद फायदेमंद। सीएचटीआर: शटरस्टॉक

एक स्वस्थ आहार भी मधुमेह की संभावना को कम करता है, जो आपकी आंखों की रोशनी को कम करने के प्रमुख कारणों में से एक है।

2.सुरक्षात्मक आईवियर का उपयोग करें

हर साल अनुमानित 2.5 मिलियन से भी अधिक लोग आई इंजरी से ग्रस्त होते हैं, इसलिए खुद को आंखों की चोटों से बचाने के लिए उचित आईवियर पहनना बहुत महत्वपूर्ण है।

स्‍क्रीन पर काम करते समय भी जरूरी है कि आप चश्‍मा पहनें। अगर विजन कुछ हल्‍का हो रहा है, तो चश्‍मे की जांच करवाएं। 

3.बाहर निकलते वक़्त सनग्लास का उपयोग करना न भूलें

ठंड हो या गर्मी धूप की किरणें आपकी आँखों को नुकसान पहुंचा सकती हैं। इन अल्ट्रा वायलेट किरणों से बचने के लिए जब भी आप घर से बाहर निकलें, तो अपने सनग्लासेस लेना ना भूले।

आंखों पर चश्मा पहनना भी आपके संक्रमण के रिस्क को कम कर सकता है।चित्र-शटरस्टॉक।

यह आपकी आँखों को सूर्य की यूवी रेज से बचाएंगी जो अक्सर आपकी आँखों पर असर डालती हैं।

4.समय-समय पर स्क्रीन से ब्रेक लें 

आज छोटे बच्चे हो या घर के बड़े सभी फोन लैपटाप चला रहे होते हैं। ऐसे में आँखों पर असर तो पड़ेगा ही। ध्यान रखें कि लगातार स्क्रीन के सामने आधे घंटे से अधिक न बैठें यह आपकी आंखों को नुकसान पहुंचाती है। इसीलिए हर 20 से 25 मिनट के बाद 5 मिनट का ब्रेक अपने फोन या लैपटॉप से जरूर लें। साथ ही एक बात का और ध्यान रखें कि लैपटॉप या फोन चलाते वक़्त अपनी पलकों को नियमित रूप से झपकाते रहें जिससे आपके आंखों में ड्राईनेस न आए। 

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी देखे:थकान मिटाने के साथ आपकी याद्दाश्‍त भी बढ़ाती है पॉवर नैप, यहां हैं झपकी लेने के 4 फायदे

  

  • 67
लेखक के बारे में

हेल्‍दी फूड, एक्‍सरसाइज और कविता - मेरे ये तीन दोस्‍त मुझे तनाव से बचाए रखते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख