लॉग इन

लंबी उम्र तक लेना है जीवन का आनंद, तो समझिए ब्लड प्रेशर मापने और कंट्रोल करने की अहमियत

लंबे समय तक जीने के लिए कई तरह की परेशानियों पर नियन्त्रण रखना जरूरी है। इनमें से एक है ब्लड प्रेशर। यहां एक्सपर्ट बता रहे हैं ब्लड प्रेशर को मापना और कंट्रोल रखना दोनों जरूरी है।
हाई ब्लड प्रेशर वाले किसी भी व्यक्ति को स्वस्थ रहने के लिए ब्लड प्रेशर को सही तरीके से मापना और उसे कंट्रोल रखना बहुत जरूरी है। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Updated: 16 May 2023, 20:14 pm IST
ऐप खोलें

हाई ब्लड प्रेशर शरीर की एक समस्या है, जो शरीर की धमनियों को प्रभावित करती है। इसे हाइपरटेंशन भी कहते हैं। यदि किसी व्यक्ति को हाई ब्लड प्रेशर है, तो ब्लड का फ़ोर्स आर्टरी वाल के खिलाफ बहुत अधिक हो जाता है। ब्लड पंप करने के लिए हार्ट को अधिक मेहनत करनी पड़ती है। ब्लड प्रेशर पारा के मिलीमीटर में मापा जाता है। सामान्य तौर पर हाई ब्लड प्रेशर 130/80 मिमी एचजी या उससे अधिक होना है। एक्सपर्ट बताते हैं कि हाई ब्लड प्रेशर वाले किसी भी व्यक्ति को स्वस्थ रहने के लिए ब्लड प्रेशर को सही तरीके से मापना और उसे कंट्रोल रखना बहुत जरूरी है। हाई ब्लड प्रेशर और वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे (World Hypertension Day) के बारे में जानने के लिए हमने गुरुग्राम के उजाला सिग्नस ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स के फाउंडर और डायरेक्टर डॉ. शुचिन बजाज (Dr. Shuchin Bajaj) से बात की।

विश्व उच्च रक्तचाप दिवस या वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे (World Hypertension Day)

वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे (WHD) का उद्देश्य आम लोगों को उच्च रक्तचाप और इससे होने वाली गंभीर बीमारियों के जोखिम के बारे में बताना है। इसकी रोकथाम, पहचान और उपचार के बारे में जानकारी प्रदान करना भी इस दिवस का उद्देश्य है। यह हर वर्ष 17 मई को मनाया जाता है। वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे 2023 की थीम ‘मेजर योर ब्लड प्रेशर एक्यूरेटली, कंट्रोल इट, लिव लॉन्गर (Measure your blood pressure accurately, and control it, for a longer life) ‘ है।इस थीम के माध्यम से दुनिया भर में इसके प्रति जागरूकता फैलाई जाएगी।

ब्लड प्रेशर को सटीक रूप से मापने के लिए यहां हैं डॉक्टर के बताये कुछ जरूरी उपाय

डॉ. शुचिन कहते हैं, ‘लंबे और स्वस्थ जीवन के लिए ब्लड प्रेशर को नियन्त्रण में रखना जरूरी है। कुछ जरूरी कदम उठाकर इसे नियंत्रित किया जा सकता है।’

 ब्लड प्रेशर मापने से पहले कुछ मिनट आराम करें (measure BP) 

ब्लड प्रेशर मॉनिटर का उपयोग करके ब्लड प्रेशर को घर पर ही मापा जा सकता है। इसे सटीक तरीके से मापने के लिए यह जरूरी है।
माप लेने से पहले कुछ मिनट आराम करें।
पैरों को ज़मीन पर सपाट और पीठ को सहारा देकर आरामदायक स्थिति में बैठना जरूरी है।
डिवाइस के निर्देशों का पालन करते हुए ब्लड प्रेशर मॉनिटर के कफ को बांह के ऊपरी हिस्से पर रखें।
औसत रीडिंग प्राप्त करने के लिए दिन के अलग-अलग समय पर और अलग-अलग दिनों में कई रीडिंग लें।

हेल्दी ब्लड प्रेशर रेंज को समझें (Healthy BP Range) 

ब्लड प्रेशर को पारा के मिलीमीटर (mmHg) में मापा जाता है। इसे दो नंबरों द्वारा दर्शाया जाता है। सिस्टोलिक प्रेशर और डायस्टोलिक प्रेशर। सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर में जब दिल धड़कता है, तो आर्टरी में दबाव को मापा जाता है। डायस्टोलिक प्रेशर में दिल धड़कनों के बीच आराम करता है, तो आर्टरी में दबाव को मापा जाता है। आमतौर पर रक्तचाप के लिए स्वस्थ सीमा लगभग 120/80 mmHg मानी जाती है।

सामान्य से अधिक होने पर हाई ब्लड प्रेशर होता है। गतिविधियों के आधार पर रक्तचाप पूरे दिन बदलता रहता है। लगातार सामान्य से ऊपर रहने से हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन हो सकता है।

हाई ब्लड प्रेशर होने पर यहां हैं डॉक्टर के बताये 4 टिप्स जो प्रेशर को नियंत्रित रखेंगे

1 हेल्दी लाइफस्टाइल का पालन करें (Healthy Lifestyle)

सकारात्मक लाइफस्टाइल विकल्प बनाने से रक्तचाप को नियंत्रित करने और समग्र हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद मिल सकती है।
फलों, सब्जियों, साबुत अनाज, लीन प्रोटीन और कम वसा वाले डेयरी प्रोडक्ट से भरपूर संतुलित आहार लें।

सोडियम (नमक) का सेवन कम करें। चित्र:शटरस्टॉक

सोडियम (नमक) का सेवन कम करें। प्रोसेस्ड और हाई सोडियम वाले खाद्य पदार्थों को सीमित करें।
प्रति सप्ताह कम से कम 150 मिनट के लिए नियमित शारीरिक गतिविधि करें। चलना, तैरना या साइकिल चलाना भी इसमें शामिल है।
वजन ज्यादा होने पर वजन कंट्रोल करने की दिशा में काम करें।
शराब का सेवन सीमित करें और धूम्रपान से बचें।

2 तनाव का प्रबंधन (manage stress)

क्रोनिक तनाव उच्च रक्तचाप में योगदान कर सकता है। तनाव को प्रबंधित करने के लिए स्वस्थ तरीके खोजें। गहरी सांस लेना, ध्यान, योग आदि का अभ्यास करें। परिवार और दोस्तों के साथ समय बिता कर तनावमुक्त हों

3 कैफीन सीमित करें (Control caffeine) 

कैफीन अस्थायी रूप से रक्तचाप बढ़ा सकता है। इसलिए कॉफी, चाय और एनर्जी ड्रिंक (energy drink) जैसे कैफीनयुक्त पेय पदार्थों के सेवन को सीमित करें। कैफीन के प्रति संवेदनशील हैं, तो डिकैफ़िनेटेड विकल्पों पर स्विच करें।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
रक्तचाप को नियंत्रित करने  के लिए कैफीनयुक्त पेय पदार्थों के सेवन को सीमित करें। चित्र : एडोबी स्टॉक

4 रेगुलर हेल्थ चेक अप (Regular health check ups) 

ब्लड प्रेशर की रीडिंग पर नज़र रखें। उन्हें अपने हेल्थकेयर एक्सपर्ट के साथ साझा करें। इसकी मदद से वे अनुकूल दवाइयों, जीवनशैली में बदलाव की बातें कहेंगे

अंत में

यह याद जरूरी है कि एक बार ब्लड प्रेशर की समस्या होने पर उसपर आजीवननजर बनाये रखना पड़ता है। नियमित निगरानी, स्वस्थ जीवनशैली विकल्प और हेल्थकेयर एक्सपर्ट की सलाह की मदद से हाई ब्लड प्रेशर पर कंट्रोल किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें :- Hypertension : रिश्तों के तनाव से लेकर मोबाइल पर ज्यादा बात करने तक, ये 4 चीजें भी बढ़ा सकती हैं आपका ब्लड प्रेशर

स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है। ...और पढ़ें

अगला लेख