World Hepatitis Day : बारिश, बाढ़ और ह्यूमिडिटी के साथ बढ़ जाता है हेपेटाइटिस का जोखिम, जानें बचाव के उपाय

बाढ़ के दिनों में जमा हुआ पानी वायरस की ग्रोथ में मदद करता है। इससे संक्रमण हो सकता है, जो लिवर की बीमारी हेपेटाइटिस का भी जोखिम बढ़ा देता है। वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे पर जानिए हेपेटाइटिस से बचाव के उपाय।
bachav ke upay karne se hepatitis se bacha ja sakta hai
वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे का उद्देश्य लिवर की बीमारी हेपेटाइटिस के बारे में वैश्विक जागरूकता बढ़ाना है। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Updated: 18 Oct 2023, 10:21 am IST
  • 125

खानपान की गड़बड़ी, खराब जीवनशैली कई रोगों का कारण बनती है। यह शरीर के प्रमुख अंग लिवर को भी नुकसान पहुंचाती है। इसके कारण लिवर में हेपेटाइटिस रोग हो जाता है। हेपेटाइटिस रोग से दुनियाभर के लाखों लोग शिकार होते हैं। ज्यादातर मामले इस रोग की जानकारी के अभाव में होते हैं। इस रोग के प्रति लोगों को आगाह करने के लिए 28 जुलाई को हर वर्ष वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे (World Hepatitis Day) मनाया जाता है। यह दिवस लोगों को इस रोग से बचाव करने और स्वस्थ रहने की अपील करती है। हेपेटाइटिस के बारे में विस्तार से जानने के लिए हमने प्राइमस सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल में सीनियर कन्सल्टेंट ( गैस्ट्रोएंट्रोलाजी) डॉ. पल्लवी गर्ग से बात की।

वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे (World Hepatitis Day—28 July)

हर साल 28 जुलाई को विश्व हेपेटाइटिस दिवस या वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे (World Hepatitis Day) मनाया जाता है।  वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे का उद्देश्य लिवर की बीमारी हेपेटाइटिस के बारे में वैश्विक जागरूकता बढ़ाना है। वायरल हेपेटाइटिस संक्रामक रोगों का एक समूह है, जिसे हेपेटाइटिस ए, हेपेटाइटिस बी, हेपेटाइटिस सी, हेपेटाइटिस डी और हेपेटाइटिस ई के रूप में जाना जाता है। प्रत्येक प्रकार के वायरल हेपेटाइटिस के लिए एक अलग वायरस जिम्मेदार होता है। यह दिवस इस रोग की रोकथाम, निदान और उपचार को प्रोत्साहित करता है।

वर्ष वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे की थीम (World Hepatitis Day 2023 Theme)

इस वर्ष वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे की थीम (World Hepatitis Day 2023 Theme) है – हमलोगों को इंतज़ार नहीं करना चाहिए। एक्शन लेना चाहिए, क्योंकि हेपेटाइटिस किसी का इंतज़ार नहीं करता है (we are not waiting, Take action because Hepatitis can’t wait)।

क्या है ऑटोइम्यून हेपेटाइटिस (Autoimmune Hepatitis)

प्राइमस सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल में सीनियर कन्सल्टेंट ( गैस्ट्रोएंट्रोलाजी) डॉ. पल्लवी गर्ग बताती हैं, ‘हेपेटाइटिस यकृत या लीवर की सूजन (Inflammation of Liver) है। वायरल संक्रमण के अलावा इसके अन्य कारण भी हो सकते हैं। ऑटोइम्यून हेपेटाइटिस (Autoimmune Hepatitis) में शरीर लीवर टिश्यू के खिलाफ एंटीबॉडी बनाता है।‘

क्या है विश्व स्वास्थ्य संगठन का आंकड़ा (World Health Organization statistic about Hepatitis)

विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) का अनुमान है कि वर्तमान में वैश्विक स्तर पर 35 करोड़ 40 लाख लोग क्रोनिक हेपेटाइटिस बी और हेपेटाइटिस सी से पीड़ित हैं। हर साल हेपेटाइटिस से दस लाख से अधिक जानें चली जाती हैं। वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे के अनुसार लोगों को बदलाव का इंतज़ार नहीं करना चाहिए, बल्कि इस रोग से लड़ना चाहिए।

हेपेटाइटिस से लिवर कैंसर हो सकता है (Liver Cancer from Hepatitis)

डॉ. नितिन के अनुसार, क्रोनिक हेपेटाइटिस बी या हेपेटाइटिस सी से गंभीर स्वास्थ्य समस्या हो सकती है। वायरस लीवर को प्रभावित करता है, इसलिए लिवर सिरोसिस, लीवर कैंसर और लीवर फेलियर हो सकता है। इससे ब्लीडिंग डिसऑर्डर और किडनी भी खराब हो सकती है। क्रोनिक हेपेटाइटिस बी और सी से पीड़ित लोगों को शराब से बचना चाहिए, क्योंकि यह लीवर की बीमारी और विफलता को बढ़ा सकता है।

हेपेटाइटिस से बचाव के यहां हैं 4 उपाय (4 tips to prevent hepatitis)

1 सबसे अधिक जरूरी है वैक्सीनेशन (Vaccination against Hepatitis)

टीका कई हेपेटाइटिस वायरस से बचाने में मदद कर सकते हैं। इन वायरस वाले पदार्थों के संपर्क में आने के जोखिम को कम करना भी बहुत जरूरी है।

हेपेटाइटिस ए के लिए एक टीका उपलब्ध है, जिसमें बच्चों के 12 से 23 महीने की उम्र में टीकाकरण शुरू होता है। यह वयस्कों के लिए भी उपलब्ध है। इसमें हेपेटाइटिस बी का टीका भी है। वर्तमान में हेपेटाइटिस सी या ई के लिए कोई टीका नहीं है।

cervix vaccine
टीका कई हेपेटाइटिस वायरस से बचाने में मदद कर सकते हैं। चित्र: शटरस्टॉक

2 संक्रमित तरल पदार्थ और खाद्य पदार्थ से बचें (Avoid infected liquids and foods to prevent from hepatitis)

हेपेटाइटिस वायरस तरल पदार्थ, पानी और संक्रामक एजेंटों वाले खाद्य पदार्थों के संपर्क के माध्यम से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है। इन पदार्थों से होने वाले संपर्क को कम कर देना चाहिए।

3 दूषित पानी से बचना चाहिए (avoid contaminated water)

डॉ. पल्लवी गर्ग कहती हैं, ‘इन दिनों बाढ़ के पानी के कारण टैप वाटर के भी दूषित होने की आशंका बढ़ जाती है। हेपेटाइटिस के वायरस पानी में मौजूद हो सकते (World Hepatitis Day) हैं। स्वच्छता अपनाना ही हेपेटाइटिस ए और ई से बचने का तरीका है। इसलिए पानी उबालकर या पूरी तरह सेफ करने के बाद ही पियें। संक्रमित बर्फ़, अधपके सी फ़ूड, कच्चे फल और सब्जियां हेपेटाइटिस के संक्रमण का खतरा पैदा कर सकते हैं।’

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
badh ke karan ho sakti hain kai beemariyan
बाढ़ के पानी के कारण टैप वाटर के भी दूषित होने की आशंका बढ़ जाती है। चित्र : अडोबी स्टॉक

4 सामान साझा करने से बचें (avoid sharing stuff to prevent hepatitis)

डॉ. पल्लवी गर्ग के अनुसार, सुइयां साझा करना, रेज़र साझा करना, किसी और के टूथब्रश का उपयोग करना आदि करने से बचें। फर्श पर यदि खून बिखरा हुआ है, तो उसे नहीं छूएं। हेपेटाइटिस बी और सी यौन संबंध से फैल सकता है। यौन गतिविधियों के दौरान कंडोम जैसे इन्हिबिटर का इस्तेमाल करें।

यह भी पढ़ें :- Conjunctivitis : तेजी से बढ़ रहे हैं कंजक्टिवाइटिस के मामले, जानिए इस रोग से खुद को और अपनों को कैसे बचाना है

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

अगला लेख