World Hearing Day 2022 : जीवन में तनाव का बढ़ता स्तर कर सकता है आपके सुनने की क्षमता को प्रभावित

Published on: 3 March 2022, 11:00 am IST

आजकल के दौर में तनावग्रस्त रहना आम बात है! लेकिन क्या आप जानती हैं कि यह आपकी सुनने कि क्षमता को प्रभावित कर सकता है? यदि नहीं! ... तो अधिक जानने के लिए पढ़ें।

world hearing day
तनाव भी आपकी सुनने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

जीवनशैली में बढ़ता तनाव कई समस्याओं का कारण बन सकता है। मगर क्या है आपके सुनने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है? जी हां… ज़्यादा स्ट्रेस लेने से आपको हियरिंग लॉस हो सकता है। द फ्री मेडिकल डिक्शनरी के अनुसार, क्रोनिक स्ट्रेस “आंतरिक या बाहरी तनावों से लंबे समय तक तनाव की स्थिति है, जो विभिन्न शारीरिक समस्याओं का कारण बन सकता है।”

आज यानी मार्च 3 को वर्ल्ड हियरिंग डे (Word Hearing Day) मनाया जाता है, ताकि श्रवण हानि को रोकने के बारे में जागरूकता फैलाई जा सके और स्वस्थ जीवनशैली को अपनाया जा सके। ऐसा इसलिए क्योंकि बिगड़ती जीवनशैली के कारण भी आप हियरिंग लॉस (Hearing Loss) का शिकार हो सकती हैं।

तो वर्ल्ड हियरिंग डे (World Hearing Day 2022) के उपलक्ष पर जानिए कैसे स्ट्रेस आपकी सुनने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है?

जब आपका शरीर तनाव के प्रति प्रतिक्रिया करता है, तो एड्रेनालाईन का अधिक उत्पादन कानों में रक्त के प्रवाह को कम कर देता है, जिससे सुनने की क्षमता प्रभावित होती है। कान के अंदर नाजुक बाल, कोशिकाएं सही मात्रा में ऑक्सीजन और अन्य पोषक तत्व प्राप्त करने के लिए रक्त के निरंतर प्रवाह पर निर्भर करती हैं।

जब दैनिक तनाव दिन-ब-दिन बढ़ता है तो यह पूरे शरीर में रक्त परिसंचरण को परेशान कर सकता है और निरंतर रक्त प्रवाह के बिना, बालों की कोशिकाएं कभी-कभी स्थायी रूप से क्षतिग्रस्त हो सकती हैं। यदि आप इतने तनावग्रस्त हो जाते हैं कि कानों में रक्त का प्रवाह पूरी तरह से बंद हो जाए, तो इससे सुनने की क्षमता तुरंत प्रभावित हो सकती है।

जानिए क्या है ENTOD फार्मास्यूटिकल्स, पंजाब की चिकित्सा सलाहकार, एमएस (ईएनटी) – डॉ सुरेश सिंगला का कहना – ”हां, तनाव से सुनने की क्षमता कम हो सकती है। जब शरीर तनाव के प्रति प्रतिक्रिया करता है, तो एड्रेनालाईन का अधिक उत्पादन कानों में रक्त के प्रवाह को कम कर देता है, जिससे सुनने की क्षमता प्रभावित होती है। उच्च रक्तचाप के रूप में पुराना तनाव अक्सर श्रवण हानि और टिनिटस का कारण बनता है। तनाव के कारण बहरापन के लक्षणों में कान में रुकावट महसूस होना, कान में दबाव या दर्द या एक या दोनों कानों में पूरी तरह से सुनने की क्षमता का नुकसान शामिल है।”

world hearing day 2022
जानिए क्या तनाव आपकी सुनने की क्षमता को बाधित कर सकता है। चित्र:शटरस्टॉक

कैसे होते हैं स्ट्रेस में हियरिंग लॉस के लक्षण?

कान भरा हुआ, अवरुद्ध, या रुका हुआ महसूस होता है
सुनने की क्षमता का नुकसान होना
कान में दबाव या दर्द महसूस होना
एक या दोनों कानों में सुनने की हानि
आवाज़ दूर से सुनाई देना

ये लक्षण स्पष्ट लग सकते हैं, लेकिन सुनने की क्षमता में किसी प्रकार की कमी का अक्सर पता नहीं चलता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि आप हमेशा इस बात से अवगत नहीं होते हैं कि आप क्या नहीं सुन पा रहे हैं। इससे यह हो सकता है कि आप अपने हियरिंग लॉस पर ध्यान नहीं दे रहे हों। हालांकि इसके बारे में जोर न दें। बस सीधा अपने श्रवण स्वास्थ्य प्रदाता के साथ अपॉइंटमेंट शेड्यूल करें।

मगर आप हेयरींग लॉस से बचने के लिए क्या कर सकती हैं?

गहरी सांस लें

जब आप तनावग्रस्त महसूस कर रही हों तो सबसे पहले एक गहरी सांस लें। जब आप गहरी सांस लेते हैं तो आप विश्राम की प्रतिक्रिया को प्रेरित करते हैं। द अमेरिकन इंस्टीट्यूट ऑफ स्ट्रेस के अनुसार, गहरी सांस लेने से मांसपेशियों को आराम मिलता है, रक्तचाप को कम होता है और नाइट्रिक ऑक्साइड के स्तर को बढ़ जाता है।

stress ko khud par havi hone n dein
गहरी और लंबी सांसें लें। चित्र: शटरस्टॉक

संगीत सुनें

इस बात के बहुत से प्रमाण हैं कि संगीत चिकित्सा हमारे लिए शारीरिक रूप से फायदेमंद हो सकती है और तनाव को कम करने में मदद कर सकती है। मगर क्या आप जानती हैं कि संगीत मन और आत्मा को शांत करता है।

ध्यान लगाएं

ध्यान न केवल एक पल में, बल्कि जीवन भर तनाव को कम करने का एक शानदार तरीका है। वे जुनूनी विचारों को कम करने और एक शांत और शांतिपूर्ण प्राकृतिक स्थिति को बढ़ाने में मदद करते हैं।

कुछ अन्य टिप्स भी हैं जिन्हें आप तनाव को कम करने के लिए अपना सकती हैं

व्यायाम करना
श्वास व्यायाम करना
एक नई हॉबी अपनाना
उन गतिविधियों को करें, जिन्हें करने में अपप्को मज़ा आता है

तनाव का ध्यान रखने के अलावा, कान, नाक और गले की नियमित जांच करवाएं।

यह भी पढ़ें ; उम्र से पहले ही कम होने लगी है आंखों की रोशनी? जानिए इसके कारण और बचाव के उपाय

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें