वैलनेस
स्टोर

एक्‍सपर्ट से जानिए मेनोपॉज के बाद कब बंद किया जा सकता है गर्भनिरोधक उपायों का इस्‍तेमाल करना

Published on:7 May 2021, 19:01pm IST
रजोनिवृत्ति यानी मेनोपॉज के साथ ही बहुत सारी महिलाओं के मन में गर्भनिरोधक के उपयोग संबंधी बहुत सारे प्रश्न उठने लगते हैं। इन प्रश्‍नों के जवाब दे रहीं हैं डॉ. सुहासिनी।
Dr Suhasini Inamdar
  • 71 Likes
मीनोपॉज के बाद होने वाली वेजाइनल ड्राईनेस को दूर करने में मदद कर सकता है नारियल तेल। चित्र : शटरस्टॉक

कई महिलाओं के लिए, रजोनिवृत्ति एक कठिन और कष्टदायक अवधि है। इसके बाद आमतौर पर अवांछनीय लक्षणों का सामना करना पड़ता है, जैसे हॉट फ्लश, मूड स्विंग और नींद की समस्या। पेरिमेनोपॉज के दौरान प्रजनन क्षमता में गिरावट आती है। ऐसे में महिलाओं को रजोनिवृत्ति में प्रवेश करने तक अनपेक्षित गर्भधारण से पूरी तरह से सुरक्षित नहीं माना जाता। इसे ‘पीरियड-फ्री-पीरियड’ बताया गया है, जो 12 महीने तक चलता है। इसलिए, आप कुछ महीनों में पीरियड नहीं होने पर भी गर्भवती हो सकती हैं।

गौर करने वाली बात यह है कि रजोनिवृत्ति होने से पहले, आपको एक सटीक, व्यावहारिक और जन्म नियंत्रण के उपयुक्त रूप का उपयोग करना चाहिए।

रजोनिवृत्ति क्या है?

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार, रजोनिवृत्ति “यानी एक महिला के आखिरी पीरियड के 12 महीने बाद का समय।” यह 45 और 55 की उम्र के बीच सबसे आम है। यह सात से चौदह साल के बीच कहीं भी रह सकता है। महिलाओं के जीवन में वह समय जब एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन का उत्पादन कम हो जाता है या लगभग बंद हो जाता है।

रजोनिवृत्ति, पेरिमेनोपॉज आयर पोस्ट मेनोपॉज में क्या अंतर है?

पेरिमेनोपॉज़ वह अवधि है जिसके दौरान प्रजनन हार्मोन गिरने लगते हैं। इस चरण के दौरान पीरियड्स जारी रह सकते हैं, लेकिन वे इंटरमिटेंट हो सकते हैं। यानी पीरियड्स हर महीने आएं ऐसा ज़रूरी नहीं है। जबकि कुछ महिलाएं पेरिमेनोपॉज़ के दौरान ठीक महसूस करने की रिपोर्ट करती हैं, दूसरों के लिए, कई लक्षण दिखाई दे सकते हैं।

शारीरिक गतिविधयों के जरिए रजोनीवृति के लक्षणों को कम किया जा सकता है। चित्र:शटरस्टॉक

ध्यान दें कि रजोनिवृत्ति लगभग 12 महीनों की एक ‘पीरियड फ्री पीरियड’ है। जबकि पोस्ट मीनोपॉज.. रजोनिवृत्ति के 12 महीने बाद की अवधि होती है। इसलिए, यदि आप अपने शरीर में असामान्य परिवर्तन पाती हैं, तो हमेशा चिकित्सीय सलाह लेना अच्छा विचार है।

क्या पेरिमेनोपॉजल महिलाओं के लिए गर्भधारण करना संभव है?

प्रजनन क्षमता में कमी के बावजूद पेरिमेनोपॉज के दौरान महिलाएं गर्भवती हो सकती हैं। भले ही मासिक धर्म कम नियमित हो, शरीर अंडे का उत्पादन कर सकता है। इसलिए, जो महिलाएं गर्भ निरोधक गोलियों का उपयोग जारी रखना चाहती हैं, उन्हें गर्भावस्था से बचने के लिए चिकित्सकीय देखरेख में ऐसा करना चाहिए।

इसके अलावा वे गर्भनिरोधक का विकल्प चुन सकती हैं, जैसे:

योनि गर्भनिरोधक स्पंज

आईयूसीडी

आईयूएस

प्रोजेस्टेरोन ओनली पिल्‍स

डिपो प्रोजेस्टेरोन इंजेक्शन

कंडोम

डिंबप्रणालीय बांधना (Tubal ligation)

पेरिमेनोपॉज़ल महिलाएं गर्भनिरोधक गोलियां कब लेना बंद कर सकती हैं?

पेरिमेनोपॉज़ के दौरान वैकल्पिक गर्भनिरोधक विधियों पर स्विच करना हमेशा बेहतर होता है। महिलाओं को हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। यदि वे गर्भनिरोधक गोलियों को जारी रखने की योजना बना रही हैं और यह उनके लिए सुविधाजनक भी हैं, तो वे इसका उपयोग जारी रख सकती हैं।

हालांकि कुछ महिलाओं में ये हार्मोनल पिल्‍स रक्त के थक्कों के जोखिम को बढ़ा सकती हैं। साथ ही, उन महिलाओं में जोखिम बढ़ जाता है जो अपने चालीसवें वर्ष में हैं और रक्तचाप, हृदय रोग, मधुमेह, कैंसर का इतिहास है और धूम्रपान करने वाली हैं।

लो डोज हार्मोन बर्थ कंट्रोल पिल्‍स पेरिमेनोपॉज़ल में मददगार हो सकती हैं

लो डोज़ बर्थ कंट्रोल का उपयोग गर्भावस्था से बचने के साथ ही पेरिमेनोपॉज़ल लक्षणों से राहत के लिए किया जा सकता है। बर्थ कंट्रोल के लिए प्रोजेस्टेरोन केवल गोली की सिफारिश की जाती है क्योंकि इसमें थक्के के विकास का कम जोखिम होता है। दूसरी ओर, यह ऑस्टियोपोरोसिस, अनियमित पीरियड्स और स्तन कैंसर के खतरे को बढ़ा सकता है।

लो डोज हार्मोन बर्थ कंट्रोल पिल्‍स पेरिमेनोपॉज़ल में मददगार हो सकती हैं . चित्र : शटरस्टॉक

मुझे कैसे पता चलेगा कि मैंने रजोनिवृत्ति में प्रवेश किया है?

रजोनिवृत्ति औसतन 51 साल की उम्र में शुरू होती है। यदि आप हार्मोनल जन्म नियंत्रण का उपयोग कर रही हैं, तो रजोनिवृत्ति का सही समय निर्धारित करना मुश्किल हो सकता है।

इस कारण से, कुछ महिलाएं पेरिमेनोपॉज़ल लक्षणों का अनुभव करने के लिए जन्म नियंत्रण की गोलियों का उपयोग बंद करने का विकल्प चुनती हैं। हार्मोन और टीवीएस के लिए कुछ रक्त परीक्षण (अंडाशय, गर्भाशय और गर्भाशय के आंतरिक अस्तर के आकार की जांच करने के लिए) रजोनिवृत्ति की पुष्टि करने के लिए किए जाते हैं।

यह सभी महिलाओं के लिए जीवन का एक सामान्य हिस्सा है। रजोनिवृत्ति को सहजता से स्‍वीकार करने के लिए सकारात्‍मक दृष्टिकोण अपनाना बहुत जरूरी हैं। यदि आप रजोनिवृत्ति का सामना कर रही हैं और ऐसे सवाल हैं जिनके जवाब आपको नहीं पता हैं, तो कृपया स्त्री रोग विशेषज्ञ से परामर्श लें।

Dr Suhasini Inamdar Dr Suhasini Inamdar

Dr Suhasini Inamdar, Consultant Obstetrician & Gynaecologist, Motherhood Hospitals, Indiranagar, Bangalore