ऐप में पढ़ें

क्या होता है जब आप हर दिन 6 घंटे से कम सोती हैं? एक डॉक्टर से जानिए इस बारे में सब कुछ

Published on:13 November 2021, 17:04pm IST
यदि आप अपनी उम्र से दोगुनी उम्र की दिखने लगी हैं, तो आप इसका दोष अपनी नींद को दे सकती हैं। हां, रोजाना छह घंटे से कम सोना आपको एजिंग के साइन्स दे सकता है।
Nind ki kami ho sakta hai swashya jokhimo ka kaaran
नींद की कमी हो सकता है स्वास्थ्य जोखिमों का कारण। चित्र:शटरस्टॉक

यदि आप रात को अच्छी नींद नहीं लेती हैं, तो पूरा दिन आपको कुछ भी अच्छा नहीं लगता है। पर यह क्यों होता है? लोग अक्सर अपनी नींद को नज़रअंदाज़ कर देते हैं और रात को देर तक जागते हैं। तभी उनकी तबियत बिगड़ने लगती है।

अगर आपको लगता है कि कम नींद लेना कोई बड़ी बात नहीं है, तो आप बहुत बड़ी गलतफहमी की शिकार हैं। आपको बता दें कि रोजाना छह घंटे से कम सोना आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

जानिए क्या होता है जब आप 6 घंटे से कम सोती हैं 

वॉकहार्ट अस्पताल मीरा रोड, मुंबई  में सलाहकार चिकित्सक, डॉ प्रीतम मून के अनुसार, हम में से अधिकांश लोग अपनी नींद को हल्के में लेते हैं। जिसकी वजह से आज हम विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहे हैं।

1. हृदय संबंधी समस्याएं

नींद की कमी आपके दिल पर भारी पड़ सकती है, जिससे अनियमित दिल की धड़कन, उच्च रक्तचाप, दिल का दौरा और हार्ट फेलियर जैसी हृदय संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

2. अवसाद

डॉ मून बताती हैं, “जो लोग रात को अच्छी नींद नहीं लेते वे चिंतित और उदास हो सकते हैं।” कम नींद आपको तनाव और अवसाद दोनों का जोखिम दे सकती है। 

insomnia aapko depression ka shikaar bana sakti hai
नींद की कमी आपको अवसाद का शिकार बना सकती है। चित्र : शटरस्टॉक

3. कोग्निटिव हेल्थ 

जब आप लगातार कम नींद लेने लगती हैं, तो आप चीज़ें भूलने लगती हैं। क्योंकि आपका ध्यान कम होने लगता है। ऐसा भी हो सकता है कि आप समस्याओं को प्रभावी ढंग से हल न कर पाएं। यही कारण है कि हममें से ज्यादातर लोग थकान महसूस करते हैं।

4. त्वचा संबंधी समस्याएं

क्या आपकी स्किन हेल्थ खराब होती जा रही है? कोशिश करें और अपनी नींद के पैटर्न की जांच करें। पर्याप्त नींद न लेने से आपको काले घेरे और फाइन लाइंस जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

5. वजन बढ़ना

यदि आप नियमित रूप से आठ घंटे सोते हैं, तो आपका शरीर नियमित रूप से भूख को बनाए रख सकता है। ठीक से नहीं सोने से आपके हार्मोन घ्रेलिन का उत्पादन बढ़ जाएगा, जो भूख को उत्तेजित करने के लिए जाना जाता है। इसके अलावा, यह आपके लेप्टिन के उत्पादन को भी कम करता है, जो बदले में भूख को दबाता है।

6. सेक्स ड्राइव का नुकसान

नींद की कमी से शरीर में तनाव पैदा होता है, जो आपकी सेक्स ड्राइव में कमी का कारण बनता है। तनाव, चिड़चिड़ापन ये वे चीजें हैं जो मिलकर आपकी सेक्स ड्राइव को नुकसान पहुंचाती हैं। 

7. खराब निर्णय

नींद की कमी के कारण आप कुशलतापूर्वक निर्णय नहीं ले पाएंगे। जिससे धीरे-धीरे आपका आत्विश्वास और प्राेडक्टिविटी भी कम होने लगती है। 

क्या हैं कम नींद के सामान्य कारण?

अनिद्रा, स्लीप एपनिया, नार्कोलेप्सी और रेस्टलेस लेग्स सिंड्रोम जैसी नींद की समस्याएं वास्तव में किसी की नींद में खलल डाल सकती हैं। 

65 वर्ष से अधिक आयु के अधिकांश लोगों को विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं के कारण उम्र बढ़ने के कारण नींद से जूझना पड़ सकता है। यह अन्य बीमारियों का परिणाम भी हो सकता है। नींद की कमी आमतौर पर अवसाद, क्रोनिक पेन सिंड्रोम, कैंसर, स्ट्रोक या अल्जाइमर रोग के कारण लोगों में देखी जाती है। तनाव नींद की कमी का एक और कारण है।

Age insomnia ka kaaran hai
बढ़ती उम्र भी कम नींद का कारण हो सकता है। चित्र:शटरस्टॉक

डॉ मून कहती हैं “नई माताओं में भी यह आम है। ऐसा इसलिए है क्योंकि नए बच्चे के कारण बदला हुआ शेड्यूल मां की नींद में खलल डाल सकता है।”

यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं, जो आपको बेहतर नींद में मदद करेंगे

1. एक उचित स्लीपिंग पैटर्न बनाए रखें

आपको हर रात एक ही समय पर सोने जाना चाहिए और हर सुबह एक ही समय पर उठना चाहिए। वीकेंड के दौरान भी उसी समय का पालन करें।

2. दोपहर में झपकी न लें

दोपहर में सोने से बचें, ताकि रात को चैन से सो सकें।

3. कैफीन से दूर रहें

इसे नींद चुराने वाले के रूप में भी जाना जाता है, रात में हर हालत में कैफीन से बचना चाहिए।

4. शराब और धूम्रपान से बचें

ये दो चीज़ें आपकी नींद उड़ा सकते हैं।

5. शारीरिक रूप से सक्रिय रहें

फिट रहने और अच्छी नींद लेने के लिए आपको रोजाना व्यायाम करने की जरूरत है।

6. बेडरूम का माहौल आरामदायक रखें 

रात की अच्छी नींद का आनंद लेने के लिए अपने बेडरूम में अंधेरा, शांत वातावरण बनाएं रखें। एक मजबूत गद्दे और तकिए का प्रयोग करें जो आपकी पीठ को सहारा दे।

Exercise sleeping pattern ko acha banata hai
शारीरिक गतिविधि नींद की गुणवत्ता को बढ़ाता है। चित्र:शटरस्टॉक

7. नींद बुलाने के लिए कुछ करें 

आप अपने शरीर और दिमाग को शांत करने के लिए कुछ पढ़ सकते हैं, संगीत सुन सकते हैं या गर्म पानी से स्नान कर सकते हैं।

8. इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के इस्तेमाल को सीमित करें

सोने से ठीक पहले अपने फोन का इस्तेमाल न करें या टीवी न देखें।

9. पानी न पिएं

जब आप सोने वाले हों तो पानी या किसी अन्य तरल पदार्थ से बचें।

अंत में डॉ मून कहती हैं, “यदि आपको अपने काम पर ध्यान केंद्रित करना मुश्किल लगता है। साथ ही, निराशा, क्रोध, अवसाद, चिंता, या तनाव की लगातार भावनाओं का अनुभव होता है, या उच्च रक्तचाप की समस्या होती है, तो बिना देरी के किसी डॉक्टर से परामर्श लें।”

यह भी पढ़ें: जानिए डेंगू में आपको कब होती है अस्पताल दौड़ने की जरूरत?

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।